Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

प्रेग्नेंसी ही नहीं इन कारणों से भी बंद हो जाते हैं पीरियड्स, रखें इन बातों का ध्यान

पीरियड्स बंद होने या मिस होने पर महिलाओं का दिमाग सीधा प्रेग्नेंसी की तरफ ही जाता है। प्रेग्नेंसी का पता पीरियड्स मिस होने से बाद ही चलता है। पीरियड्स मिस होने के कुछ हफ्तों बाद ही प्रेग्नेंसी टेस्ट किया जाता है।

प्रेग्नेंसी ही नहीं इन कारणों से भी बंद हो जाते हैं पीरियड्स, रखें इन बातों का ध्यान

पीरियड्स बंद होने या मिस होने पर महिलाओं का दिमाग सीधा प्रेग्नेंसी की तरफ ही जाता है। प्रेग्नेंसी का पता पीरियड्स मिस होने से बाद ही चलता है। पीरियड्स मिस होने के कुछ हफ्तों बाद ही प्रेग्नेंसी टेस्ट किया जाता है। लेकिन इसके बाद भी आपका प्रेग्नेंसी टेस्ट पॉजिटिव नहीं आ रहा है तो पीरियड्स मिस होने की ये वजहें हो सकती हैं।

सिर्फ प्रेग्नेंसी होने पर ही नहीं बल्कि कई और कारणों की वजह से भी पीरियड्स मिस हो सकते हैं। ऐसे में पीरियड्स मिस होने की समस्या के बाद अगर प्रेग्नेंसी नहीं होती है तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें। जानें किन और कारणों से मिस होते हैं पीरियड्स-

यह भी पढ़ें: इन बीमारियों के लिए रामबाण का काम करता है काला नमक

टेंशन

कई बार ऐसा होता है कि लोगों की थोड़ी-थोड़ी टेंशन उनके दिलो-दिमाग पर हावी हो जाती है। दिमाग में होने वाले तनाव का असर शरीर के हार्मोन्स पर पड़ता है, जिसके कारण पीरियड्स की साइकिल पर भी पड़ता है। इसी वजह से पीरियड्स मिस होने लगते हैं।

वजन का घटना या बढ़ना

जब महिलाओं का वजन घटता या बढ़ता है तो उसका असर भी पीरियड्स पर पड़ता है। शरीर में होने वाले इन बदलावों का सबसे पहला असर शरीर के हार्मोन्स पर पड़ता है और हार्मोन्स से पीरियड साइकिल प्रभावित होती है।

थायराइड

शरीर का मेटाबॉलिज्म थायराइड के कारण कंट्रोल होता है। ऐसे में थायराइड बढ़ने के कारण मेटाबॉलिज्म पर असर पड़ता है और पीरियड्स प्रभावित होते हैं।

यह भी पढ़ें: दिल्ली, मुंबई समेत इस शहर में कम सैलरी के कारण सो नहीं पाते हैं लोग

ज्यादा दवाई खाना

कुछ महिलाएं, जिन्हें कई तरह की बीमारी होती है उन्हें कई सारी दवाइयों का सेवन करना पड़ता है। ज्यादा दवाइयों के सेवन का असर भी पीरियड्स पर पड़ता है।

Next Story
Top