Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

सावधान! इन 7 दवाइयों का आपकी Sex Drive पर पड़ता है गहरा प्रभाव, बेवजह ना करें इस्तेमाल

ब्लड प्रेशर (Blood Pressure) से इंफेक्शन (Infection) तक डेली बेसिस पर इस्तेमाल होने वाली कुछ दवाओं में इस प्रकार के तत्व पाए जाते हैं, जो सेक्स (Sex) के हार्मोंस (Hormones) को प्रभावित करते हैं ।

सावधान! इन 7 दवाइयों का आपकी Sex Drive पर पड़ता है गहरा प्रभाव, बेवजह ना करें इस्तेमाल
X

किसी के साथ शारीरिक संबंध (Physical Relation) बनाना बहुत ही पर्सनल बात होती है, मॉर्डर्न हो रहे जमाने के बाद भी सेक्स (Sex) एक ऐसा टॉपिक है जिस पर कोई भी इंसान खुलकर बात नहीं करना चाहता है। यहां तक की सेक्स से जुड़ी समस्याओं को किसी के साथ शेयर करने में भी लोग हिचकते हैं, कई लोग ऐसे भी होते हैं जिनमें सेक्स के प्रति कम या पूरी तरह से अरुचि होने की भी संभावना होती है। यौन इच्छा में कमी के लिए कई आंतरिक और बाहरी दोनों ही तरह के कारक जिम्मेदार हैं, इन कारकों में सबसे प्रमुख दवाइयां होती हैं।

आइए जानते हैं कौन सी है ये 7 दवाइयां

कई तरह की दवाइयां होती हैं जो आपकी सेक्स ड्राइव (Sex Drive) को कम कर सकती हैं, बताते चलें कि ब्लड प्रेशर से इंफेक्शन तक डेली बेसिस पर इस्तेमाल होने वाली कुछ दवाओं में इस प्रकार के तत्व पाए जाते हैं। जो सेक्स के हार्मोंस को प्रभावित करते हैं और इससे महिला और पुरुष दोनों को सेक्स संबंधी समस्या हो सकती हैं। तो आइए जानते हैं ऐसी 7 दवाओं के बारे में जो आपकी सेक्स ड्राइव कम करने के लिए जिम्मेदार होती हैं।

पेनकिलर (Painkiller)

पेनकिलर आपके शरीर में हो रहे दर्द में तो आराम पहुंचाती ही हैं, साथ ही आपकी यौन इच्छाओं को भी धीरे-धीरे कम करने लगती हैं। पेनकिलर्स पुरुषों और महिलाओं दोनों में यौन वरीयता के लिए बहुत ही अहम टेस्टोस्टेरोन और कई हार्मोन के निर्माण को कम कर देती है। जिसका सीधा असर आपकी सेक्स ड्राइव पर पड़ता है।

एंटीडिप्रेसेंट (Anti-Depressant)

इन दवाओं का उपयोग डिप्रेशन के इलाज के लिए किया जाता है और इन्हें यौन इच्छाओं के हत्यारे के रूप में भी देखा जाता है। एंटीडिप्रेसेंट के कारण कामेच्छा के नुकसान से जुड़े सबसे आम लक्षण होते हैं- सेक्स में रुचि की कमी, विलंबित संभोग, विलंबित स्खलन या कोई संभोग नहीं, बिल्कुल भी स्खलन और पुरुषों में स्तंभन दोष शामिल हैं।

गर्भ निरोधक गोलियां (Contraceptive Pills)

जब महिलाएं गर्भनिरोधक गोलियों का उपयोग करती हैं, तो वे कामेच्छा और यौन इच्छा को प्रभावित करने वाले सेक्स हार्मोन के स्तर को कम कर सकती हैं। इसलिए गर्भनिरोधक गोलियां सेक्स लाइफ के लिए कम मददगार होती हैं।

स्टैटिन और फाइब्रेट्स (Statins and Fibrates)

इन दवाइयों को मुख्य रूप से उच्च कोलेस्ट्रॉल का इलाज करने के लिए उपयोग किया जाता है, हालांकि ये दवाएं टेस्टोस्टेरोन, एस्ट्रोजन और अन्य सेक्स हार्मोन के उत्पादन में प्रमुख रूप से हस्तक्षेप कर सकती हैं।

बेंजोडायजेपाइन-ट्रैंक्विलाइज़र (Benzodiazepine-Tranquilizers)

बेंजोडायजेपाइन का उपयोग चिंता, अनिद्रा और मांसपेशियों में ऐंठन के इलाज के लिए किया जाता है। बेंजोडायजेपाइन के शामक गुण यौन रुचि, उत्तेजना और संवेदना को प्रभावित करते हैं। वे कमजोर ओर्गास्म, दर्दनाक संभोग, स्खलन की समस्या और स्तंभन दोष जैसे दुष्प्रभावों के साथ टेस्टोस्टेरोन (testosterone) उत्पादन को भी बाधित कर सकते हैं।

रक्तचाप की दवाएं (Blood Pressure)

डेली बेसिस पर उच्च रक्तचाप की दवाई खाने वाले व्यक्तियों को यौन रोग का सामना करना पड़ सकता है। यहां समझने वाली बात यह है कि रक्तचाप के इलाज के लिए इस्तेमाल की जाने वाली दवाएं यौन कठिनाइयों को भी बढ़ा सकती हैं। दवाओं का उपयोग करते हुए- पुरुष यौन इच्छा में कमी, इरेक्शन और स्खलन को प्रभावित करते हैं। महिलाओं में यह योनि का सूखापन, इच्छा में कमी और संभोग सुख प्राप्त करने में कठिनाई पैदा कर सकती हैं।

एंटीहिस्टामाइन (Antihistamine)

मुख्य रूप से इस दवाई का इस्तेमाल एलर्जी से संबंधित लक्षणों को नियंत्रित करने के लिए किया जाता है, जैसे कि लगातार छींकना और नाक बहना। पुरुषों में इरेक्टाइल डिसफंक्शन (erectile dysfunction) या स्खलन (ejaculation) की समस्या जैसे गंभीर परिणाम हो सकते हैं, जबकि महिलाओं को योनि के सूखेपन का सामना करना पड़ता है।

और पढ़ें
Next Story