Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

कैसे बचाएं खुद को स्वाइन फ्लू के खतरे से, कहीं ऐसा महसूस तो नहीं करते हैं आप!

2009 में जो स्वाइन फ्लू हुआ था, उसके साल के मुकाबले इस बार का स्वाइन फ्लू कम पावरफुल है।

कैसे बचाएं खुद को स्वाइन फ्लू के खतरे से, कहीं ऐसा महसूस तो नहीं करते हैं आप!
नई दिल्ली. स्वाइन फ्लू श्‍वसन तंत्र से जुड़ी बीमारी है, जो ए टाइप के इनफ्लुएंजा वायरस से होती है। यह वायरस एच1 एन1 के नाम से जाना जाता है और मौसमी फ्लू में भी यह वायरस सक्रिय होता है। 2009 में जो स्वाइन फ्लू हुआ था, उसके साल के मुकाबले इस बार का स्वाइन फ्लू कम पावरफुल है।
कैसे फैलता है : जब आप खांसते या छींकते हैं तो हवा में या जमीन पर या जिस भी सतह पर मुंह और नाक से निकले द्रव कण गिरते हैं, वह वायरस की चपेट में आ जाता है। यह कण हवा के द्वारा या किसी के छूने से दूसरे व्यक्ति के शरीर में मुंह या नाक के जरिए प्रवेश कर जाते हैं।
शुरुआती लक्षण:
नाक का लगातार बहना, छींक आना, नाक जाम होना।
मांसपेशियां में दर्द या अकड़न महसूस करना।
सिर में भयानक दर्द।
कफ और कोल्ड, लगातार खांसी आना।
बहुत ज्यादा थकान महसूस होना।
बुखार होना, दवा खाने के बाद भी बुखार का लगातार बढ़ना।
गले में खराश होना और इसका लगातार बढ़ते जाना।
किसे है ज्यादा खतरा:
5 साल से कम उम्र के बच्चे, 65 साल से ज्यादा उम्र के बुजुर्ग और गर्भवती महिलाएं, फेफड़ों, किडनी या दिल की बीमारी वाले लोग, मस्तिष्क संबंधी (न्यूरोलॉजिकल) बीमारी मसलन पर्किंसन, कमजोर प्रतिरोधक क्षमता वाले लोग, डायबीटीज जैसी बीमारियों के शिकार।
बचाव और इलाज:
साफ-सफाई का ध्यान रखा जाए और फ्लू के शुरुआती लक्षण दिखते ही सावधानी बरती जाए, तो इस बीमारी के फैलने की आशंका न के बराबर हो जाती है।
जब भी खांसी या छींक आए तो रुमाल या टिश्यू पेपर का इस्तेमाल करें।
इस्तेमाल किए मास्क या टिश्यू पेपर को ढक्कन वाले डस्टबिन में फेंकें।
थोड़ी-थोड़ी देर में हाथ को साबुन और पानी से धोते रहें।
लोगों से मिलने पर हाथ मिलाने, गले लगने या चूमने से बचें।
फ्लू के शुरुआती लक्षण दिखते ही अपने डॉक्टर से संपर्क करें।
अगर फ्लू के लक्षण नजर आते हैं तो दूसरों से 1 मीटर की दूरी पर रहें।
फ्लू के लक्षण दिखने पर घर पर रहें। ऑफिस, बाजार, स्कूल न जाएं।
बिना धुले हाथों से आंख, नाक या मुंह छूने से परहेज करें।
नीचे की स्लाइड्स में पढ़िए, आयुर्वेद से कैसे करें इसका ईलाज -
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top