Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

अगर आप भी रहते है पैरों की सूजन से परेशान, तो ये घरेलू नुस्खा

आपने अक्सर सर्दियों में लोगों के पैरों और पैर की अंगुलियों में सूजन देखी होगी इसके साथ ही उसमें होने वाले दर्द और खुजली से परेशान होते हुए भी देखा होगा, लेकिन कभी आपने ये सोचा कि सूजन हमारे हाथ और पैरों में आखिर क्यों आती है, पैरों की सूजन आने की वजह के बारे में भी हम कभी नहीं सोचते।

अगर आप भी रहते है पैरों की सूजन से परेशान, तो ये घरेलू नुस्खा

आपने अक्सर सर्दियों में लोगों के पैरों और पैर की अंगुलियों में सूजन देखी होगी इसके साथ ही उसमें होने वाले दर्द और खुजली से परेशान होते हुए भी देखा होगा, लेकिन कभी आपने ये सोचा कि सूजन हमारे हाथ और पैरों में आखिर क्यों आती है, पैरों की सूजन आने की वजह के बारे में भी हम कभी नहीं सोचते।

इसलिए आज हम आपको पैरों की सूजन के लक्षण, कारण और उपचार बता रहे हैं, जिससे आप कुछ ही दिनों में आसानी से पैरों की सूजन से छुटकारा पा सकें।

यह भी पढ़ें : हमेशा रहना है हेल्दी और फिट, तो ऐसे लाएं अपनी आदतों में बदलाव

क्या होती है पैरों में सूजन

अक्सर चोट या किसी चीज से जोरदार टक्कर होने पर पैरो में सूजन आना एक आम बात है। दरअसल शरीर के किसी खास जगह पर ऊतकों में आसामन्य रूप से द्रव्य के इकट्ठा होने की वजह से शरीर में आने वाले उभार को सूजन कहा जाता है। ये द्रव्य शरीर के निचले हिस्से में इकट्ठा होने पर पैरों में सूजन की समस्या उत्पन्न हो जाती है। पैरों की सूजन को चिकित्सा भाषा में पीडल इडिमा कहा जाता है।

पैरों में सूजन के लक्षण :

1. पैरों में सूजन आने पर त्वचा का चमकदार हो जाना

2. पैरों में सूजन आने पर त्वचा को कुछ देर के लिए दबाने पर गढ्ढा बन जाना

3. पैरों में सूजन आने पर त्वचा में उभार और फूलापन आना

4. हाथ और गर्दन की नसों का उभरना

5. शरीर के अंगों और जोड़ों में दर्द होना

यह भी पढ़ें : बदलते मौसम में अस्थमा से हैं परेशान, तो इन खास तरीकों से रखें अपना ख्याल

पैरों में सूजन के कारण :

1. लंबे वक्त तक कुर्सी पर बैठना

अगर आप कुर्सी पर लगातार 6-7 घंटे बैठकर काम करते हैं, तो पैरों में सूजन आना एक आम बात है। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि लंबे समय तक एक जगह बैठने से शरीर में मौजूद द्रव्य गुरूत्वाकर्षण की वजह से नीचे पैरों में इकठ्ठ हो जाता है। जिससे वो पैरों की सूजन के रूप में हमें दिखाई देती है।

2. खून में प्रोटीन की मात्रा कम होना

जब भी खून में प्रोटीन की मात्रा कम होती है, तो पैरों में सूजन साफ तौर पर देखी जा सकती है, क्योंकि खून में एल्बुमिन नाम का एक रसायन होता है जो रक्त वाहिकाओं को द्रव्य को अपने अंदर रखने में मदद करती है, और इसी द्रव्य के बाहर निकलने से पैरों में सूजन आ जाती है।

3. प्रेग्नेंसी

प्रेग्नेंसी के दौरान महिलाओं के पैरों में सूजन आना एक सामान्य बात है, दरअसल गर्भ के आकार बढ़ने से रक्त वाहिकाओं का संकुचन होता है और उसमें मौजूद द्रव्य के बाहर निकलने से पैरों में सूजन आमे लगती है।

4. लिवर के रोग

जो लोग लिवर की बीमारी से परेशान है, उनके खून में एल्बुमिन नाम का प्रोटीन रसायन बेहद कम हो जाता है। ऐसा इसलिए होता है कि लिवर पर्याप्त मात्रा में एल्बुमिन को नहीं बना पाता और किडनी मूत्र के साथ बाकी बचे एल्बुमिन को शरीर से बाहर निकाल देती है। जिससे पैरों में सूजन आ जाती है।

5. मोटापा

पैरों में सूजन आने के लिए मोटापा भी एक आम कारण हैं, क्योंकि दिल पर रक्त को पंप करने के लिए अतिरिक्त मेहनत करनी पड़ती है। जिससे पैरों पर सूजन आ जाती है।

पैरों में सूजन के उपचार

1. मसाज और मालिश करना

अगर आपके पैरों में सूजन है तो उसे दूर करने के लिए किसी भी गर्म तेल के साथ हल्के हाथों से मसाज या मालिश करें।

2. पैरों को बीच-बीच में हिलाना

जब भी आप लगातार लंबे समय तक किसी काम को एक जगह पर बैठकर करते हैं, तो कोशिश करे कि आप अपने पैरों को बीच-बीच में हिलाते रहें या कुछ देर के लिए टहल कर आएं। इससे पैरों में सूजन नहीं आएगी।

3. नमक वाले गर्म पानी से सिकाई

अगर आपके पैरों में सूजन है तो उसे दूर करने के लिए आप गर्म पानी में नमक डालें और पैरों को भिगोकर 10-15 मिनट के लिए सिकाई करें।

4. रोजाना एक्सरसाइज करना

रोजाना एक्सरसाइज करने से हमारे शरीर की मांसपेशियों पर दबाव कम पड़ता है साथ ही वो सुचारू रूप से कार्य कर पाती हैं। जिससे पैरों में सूजन की समस्या में कमी आती है।

5. वजन कम करना

अगर आपको मोटापे और वजन के बढ़ने की वजह से पैरों में सूजन आती है, तो आपको अपने वजन को तेजी से कम करने की जरूरत है।

Next Story
Top