logo
Breaking

50 फीसदी से ज्यादा भारतीय नहीं करते टूथब्रश: रिपोर्ट

रिपोर्ट में कहा गया है कि भारत में 15 साल से कम उम्र के 70 प्रतिशत बच्चों के दांत खराब हो चुके हैं।

50 फीसदी से ज्यादा भारतीय नहीं करते टूथब्रश: रिपोर्ट

भारत में दांतों की समस्याओं को गंभीरता से नहीं लिया जाता है। अभी हाल ही में एक चौंकाने वाला सर्वे सामने आया है। सर्वे रिपोर्ट में कहा गया है कि भारत में लगभग 95 फीसदी लोग मसूड़ों की बीमारी से परेशान हैं।

आर्इडीए के सर्वे में दूसरी तरफ यह भी कहा गया है कि भारत में 50 प्रतिशत से ज्यादा लोग टूथब्रश इस्तेमाल नहीं करते हैं।

इसे भी पढ़ें- बुढ़ापे में योग करने से कमजोर नहीं होती है यादाश्त: रिसर्च

रिपोर्ट में कहा गया है कि भारत में 15 साल से कम उम्र के 70 प्रतिशत बच्चों के दांत खराब हो चुके हैं।

इंडियन मेडिकल एसोसिएशन ने कहा कि लोग नियमित रूप से डेंटिस्ट के पास जाने की बजाय, कुछ खाद्य और पेय पदार्थो का परहेज करके खुद ही इलाज शुरू कर देते हैं।

दांतों की सेंस्टिविटी एक और बड़ी समस्या है, क्योंकि इस समस्या वाले मुश्किल से 4 प्रतिशत लोग ही डेंटिस्ट के पास सलाह के लिए जाते हैं।

इसे भी पढ़ें- घर पर बनाएं इस रेसिपी के साथ चटपटे सिंधी पुलाव

गौरतलब है कि भारत में आबादी के अनुपात में डेंटल हेल्थकेयर सेवाओं की खासी कमी है। सामान्य तौर पर लोग दांतो से जुडी समस्याओं को गंभीरता से नही लेते हैं। जिससे ये बीमारी एक चिंता का विशेष बनती जा रही है।

Share it
Top