Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Sunday Special: इस आसान तरीके से बनाए बिहार के फेमस सत्तू का परांठा और आलू-बैंगन का चोखा

Sunday Special: आपने कई बार अपने बिहार के रहने वाले दोस्तों के साथ सत्तू का परांठा खाया होगा, इसका टेस्ट एक दम जोरदार होता है। आज की अपनी इस रेसिपी में हम आपको आलू और बैंगन के चोखे के साथ सत्तू का परांठा बनाना सिखाएंगे।

Sunday Special: इस आसान तरीके से बनाए बिहार के फेमस सत्तू का परांठा और आलू-बैंगन का चोखा
X

Sunday Special: सत्तू (Sattu) की कहानी बहुत पुरानी है कहते हैं कि ये तिब्बत (Tibbat) से आया था। तिब्बत में इसे 'त्सम्पा' (Tsampa) कहते थे। ऐसा सुना जाता है कि युद्ध के दौरान ये सैनिकों का मेन आहार होता था, इसके अलावा ये मोंक यानी भिक्षुओं का भी मुख्य आहार था क्योंकि उन्हें बिना आहार के कई-कई दिनों तक रहना पड़ता था। इसके अलावा सत्तू बिहार का एक सर्व आहार है, जिसे हम मीठे और नमकीन हर तरह से खा सकते हैं। बिहार से निकलकर ये सत्तू और इससे बनी डिशेज पूरे उत्तर भारत में काफी पसंद की जा रही हैं।

सत्तू और इसके फायदे (Sattu And Its Benefits)

सत्तू चना, जौं, चावल और मक्का जैसे भुने अनाज को पीसकर बनाया जाता है। इसे पानी में घोलकर या फिर कोई डिश बना कर खाते हैं। जहां गर्मियों के मौसम में ये आपको राहत दिलाता है, वहीं चने के सत्तू को सर्दियों में भी खाया जा सकता है। इसके अलावा इसका सेवन पाचन क्रिया को भी दुरुस्त रखता है।

आपने कई बार अपने बिहार के रहने वाले दोस्तों के साथ सत्तू का परांठा खाया होगा, इसका टेस्ट एक दम जोरदार होता है। आज की अपनी इस रेसिपी में हम आपको आलू और बैंगन के चोखे के साथ सत्तू का परांठा बनाना सिखाएंगे।


सामग्री

चोखे के लिए

बैंगन (बड़ा, गोल) - 1, लहसुन की कलियां- 6,तेल - ग्रीसिंग के लिए, टमाटर (बड़े) - 3-4, आलू (छोटे, उबले और छिले हुए) - 2, अदरक कटी हुई - 2 छोटा चम्मच, हरी मिर्च कटी हुई - 2 चम्मच, प्याज कटा हुआ - कप, हरा धनिया कटा हुआ - एक मुट्ठी, नमक स्वादअनुसार, काला नमक - एक बड़ी चुटकी, नींबू का रस - 5 बड़े चम्मच, सरसों का तेल - 2 बड़े चम्मच

सत्तू के लिए

चना सत्तू (भुना हुआ बेसन) - 1½ कप, नमक स्वादअनुसार, कलौंजी (कलौंजी के बीज) - 2 चम्मच, अजवाईन (अजवाईन) - 1 छोटा चम्मच, हरी मिर्च कटी हुई - 2, बारीक कटा अदरक - 2 चम्मच, बारीक कटा प्याज - कप, बारीक कटा हरा धनिया - एक मुट्ठी, नींबू का रस - 3 बड़े चम्मच, आम का अचार बारीक कटा हुआ - 4 बड़े चम्मच, सरसों का तेल - 1 बड़ा चम्मच, पानी थोड़ा सा

आटे के लिए

आटा (गेहूं का आटा) - 3 कप, तेल- थोड़ा सा, नमक - एक बड़ी चुटकी, पानी - आवश्यकता अनुसार, घी/तेल - तलने के लिए, सूखा आटा बेलने के लिए

विधि-

आलू-बैंगन चोखा


बैंगन (बैंगन) पर छोटे-छोटे कट लगाएं और उन्हें साबुत छिलके वाली लहसुन की कलियों से भर दें। हल्के से बाहर की तरफ तेल लगाएं और बैंगन को ग्रिल करने के लिए आग पर रखें। टमाटर और उबले हुए आलू के ऊपर भी तेल हल्का करके आग पर रख दीजिये। मध्यम से तेज आंच पर सभी सब्जियों को तब तक पकाएं जब तक कि वे एक अच्छा भुना हुआ रंग न दिखें। आलू के ब्राउन होने पर निकाल लीजिये, लेकिन बैंगन और टमाटर को तब तक पकाते रहिये जब तक उनका बाहरी छिलका जल न जाए। चिमटे की सहायता से सावधानी से निकालें और टमाटर और बैंगन को एक प्याले में ढक कर 5 मिनट के लिए अलग रख दें। अब बैंगन और टमाटर का छिलका उतार लें। टमाटर और बैंगन का डंठल भी हटा दें। बैंगन को खोल के देख लें कि इसमें कीड़े तो नहीं। टमाटर, बैंगन और आलू को एक साथ रखें और मैश कर लें। सुनिश्चित करें कि यह चंकी ही रहे और प्यूरी न बनाएं। अब इसमें अदरक, मिर्च, प्याज, धनिया, नमक, काला नमक, नींबू का रस और सरसों का तेल डालें। इसे मिक्स करके प्लेट में रख लीजिये, आलू बैंगन का चोखा बनकर तैयार है।

सत्तू की स्टफिंग

हल्के हाथ से अजवायन को मसल कर मसल कर रख लीजिए। आम के अचार में से बीज निकाल कर, मसाले के साथ बारीक काट कर अलग रख लीजिये। एक कटोरी में चना सत्तू, नमक, कलौंजी, अजवाइन, हरी मिर्च, अदरक, प्याज, धनिया, नींबू का रस, आम का अचार, सरसों का तेल और एक चुटकी पानी मिलाएं। पर्याप्त पानी डालकर उन्हें एक साथ लाएं ताकि भरावन नम हो जाए और एक साथ आ जाए। अब इसे एक तरफ रख दें।

परांठे


आटा, तेल, नमक और पर्याप्त पानी मिलाकर सख्त आटा गूंथ लें। आटे को गीले कपड़े से ढ़ककर 5 मिनट के लिए रख दें। अब आटे को बराबर बड़े गोलों में बांट लें और एक नम कपड़े के नीचे रख दें। पेड़े को सूखे आटा लगाकर हाथों से थोड़ा सा चपटा करें और इसमें फिलिंग भर दें। इसे बंद करके हल्के हाथों से बेल लीजिए। पराठों को मोटा रखें क्योंकि सत्तू पराठा आमतौर पर अन्य भरवां पराठे जैसे कि आलू पराठा या पनीर पराठा की तुलना में मोटा बनाया जाता है। तवा गरम करें और पराठे को दोनों तरफ से हल्का सा पका लें। घी या तेल डालकर अच्छी तरह से पकाएं। साइड्स को हल्के हाथों से दबाते हुए अच्छे से पका लें। गरमा गरम सत्तू के पराठे को आलू बैंगन चोखा के साथ सर्व करें।

और पढ़ें
Next Story