Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

अब स्टूल ट्रांसप्लांट से दूर होंगे पेट के रोग

प्लास्टिक सर्जरी के इस्तेमाल से कैंसर और दुघर्टना में घायल मरीजों की जान बचाने में भी कामयाबी मिल रही है।

अब स्टूल ट्रांसप्लांट से दूर होंगे पेट के रोग

प्लास्टिक सर्जरी के जरिए अब पेट के रोग भी दूर हो सकते हैं। केजीएमयू के प्लास्टिक सर्जरी विभाग के 41वें स्थापना दिवस पर शनिवार को मुंबई से आए सियोन हॉस्पिटल के प्लास्टिक सर्जरी विभाग के हेड डॉ. आरएल थाटे ने इस बारे में बताया।

उन्होंने बताया कि इस सर्जरी के जरिए पेट रोगों से जूझ रहे लोगों के कोलन में स्वस्थ व्यक्ति का स्टूल (मल) डाला जाता है। इसमें मौजूद बैक्टीरिया मरीज के पेट में हॉर्मोंस और बैक्टीरिया को संतुलित करने में मदद करते हैं।

समारोह में केजीएमयू के प्लास्टिक सर्जरी विभाग के अध्यक्ष डॉ. एके सिंह ने बताया कि पहले प्लास्टिक सर्जरी का इस्तेमाल सिर्फ सुंदरता बढ़ाने के लिए होता था।

लेकिन अब इसके जरिए कैंसर और दुघर्टना में घायल मरीजों की जान बचाने में भी कामयाबी मिल रही है। कार्यक्रम में सीएमएस यूबी मिश्रा, डॉ. जेडी रावत, डॉ. शादाब मोहम्मद समेत कई डॉक्टर शामिल रहे।

10 साल से अधर में है बर्न यूनिट

प्लास्टिक सर्जरी विभाग में प्रस्तावित बर्न यूनिट 10 साल से अधर में है। विभाग के हेड डॉ. एके सिंह ने बताया कि कार्यदायी संस्था राजकीय निर्माण निगम की लेटलतीफी के कारण अभी आधा काम भी पूरा नहीं हो सका है।

उन्होंने बताया कि महिला कल्याण विभाग से 25 बेड की बर्न यूनिट के लिए 9 करोड़ का बजट पास हो चुका है। 4 माड्यूलर कमरे और ऑपरेशन थिएटर बनकर लगभग तैयार है। इसके अलावा कई सुविधाएं बढ़ाने के लिए दो करोड़ का और प्रस्ताव भेजा गया है।

Next Story
Top