Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

श्रीदेवी की मौत का कारण बना ''Cardiac Arrest'', जानें इसके लक्षण और बचाव

कार्डिएक अरेस्ट, दिल संबंधी गंभीर बीमारी है। हार्ट अटैक और कार्डिएक अरेस्ट दिल से जुड़ी दो ऐसी बीमारी हैं, जिसमें जान का खतरा सबसे ज्यादा होता है।

श्रीदेवी की मौत का कारण बना

कार्डिएक अरेस्ट, दिल संबंधी गंभीर बीमारी है। हार्ट अटैक और कार्डिएक अरेस्ट दिल से जुड़ी दो ऐसी बीमारी हैं, जिसमें जान का खतरा सबसे ज्यादा होता है।

कार्डिएक अरेस्ट एक ऐसी समस्या है, जिसके बारे में व्यक्ति को पता नहीं चल पाता और उसकी मौत हो जाती है। कार्डिएक अरेस्ट के कारण अचानक ही लोगों की जान चली जा चुकी है। गौरतलब है कि कार्डिएक अरेस्ट के कारण ही बॉलीवुड एक्ट्रेस श्रीदेवी की मौत हुई थी।

शुरू के 10 मिनट तक इलाज संभव

कार्डिएक अरेस्ट की स्थिति में व्यक्ति का इलाज सिर्फ शुरू के 10 मिनट तक ही इलाज संभव है। अगर 10 मिनट के अंदर व्यक्ति को मेडिकल ट्रीटमेंट मिल जाए तो व्यक्ति को बचाया जा सकता है। बता दें कि कार्डिएक अरेस्ट की स्थिति में दिल और सांस रुक जाने के बाद भी दिमाग जिंदा रहता है।

यह भी पढ़ें: भारत के इन रत्नों ने विदेश में तोड़ा दम, जानिए इनकी कहानी

कार्डिएक अरेस्ट के लक्षण

कार्डिएक अरेस्ट का कोई विशेष लक्षण नहीं होता है। सामान्य तौर पर कार्डिएक अरेस्ट अचानक ही होता है। इससे पहले शरीर कोई चेतावनी नहीं देता है। लेकिन हां कुछ ऐसे बदलाव हैं, जो कार्डिएक अरेस्ट के पहले शरीर में होते हैं। साथ ही 30 साल की उम्र के बाद ऐसिडिटी या अस्थमा के दौरे पड़ना कार्डिएट अरेस्ट का कारण बन सकता है।

एक साल में 10 लाख मरीज

कार्डिएक अरेस्ट के केसेस लगातार बढ़ते जा रहे हैं। भारत में एक साल में कार्डिएक अरेस्ट के मरीजों की संख्या 10 लाख से ज्यादा है। कार्डिएक अरेस्ट सबसे ज्यादा खतरा 41-60 साल या 60 साल से अधिक के उम्र के लोगों में होता है।

Next Story
Top