Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

सीधे खाया जा सकने वाला सोयाबीन विकसित, अब नहीं पड़ेगी उबालने की जरूरत

सोयाबीन की इन किस्मों के बीजोें को सीधे खाया जा सकता है, जबकि इस तिलहन फसल की परंपरागत प्रजातियां सीधे आहार में इस्तेमाल नहीं की जा सकतीं।

सीधे खाया जा सकने वाला सोयाबीन विकसित, अब नहीं पड़ेगी उबालने की जरूरत
X

इंदौर. कुपोषण से लड़ रहे देश में उच्च गुणवत्ता के प्रोटीन युक्त सोया उत्पादों को बढ़ावा देने के लिए सोयाबीन अनुसंधान निदेशालय ने इस तिलहन फसल की दो खास किस्में विकसित की हैं। इन किस्मों के बीजों को उबालने की जहमत उठाए बगैर सीधे खाया जा सकता है। अपनी इस खासियत के चलते यह किस्में खाद्य प्रसंस्करण उद्योग को खूब लुभा रही हैं। डीएसआर के निदेशक डॉ. वीएस भाटिया ने बताया, हमारे वैज्ञानिकों ने करीब छह साल के अनुसंधान के बाद सोयाबीन की दो नई किस्में एनआरसी-101 और एनआरसी-102 विकसित की हैं।

जानिए... चाय के 4 प्रकार जो आपको रखेंगे चुस्त और दुरुस्त

सोयाबीन की इन किस्मों के बीजोें को सीधे खाया जा सकता है, जबकि इस तिलहन फसल की परंपरागत प्रजातियां सीधे आहार में इस्तेमाल नहीं की जा सकतीं। उन्होंने बताया, सोयाबीन में क्यूनिट्ज ट्रिप्सिन इनहिबिटर नाम का तत्व होता है। अगर कोई व्यक्ति सोयाबीन को कच्चा खाता है, तो यह तत्व उस व्यक्ति के शरीर में प्रोटीन के पाचन में मुश्किलें पैदा करता है। यही वजह है कि वैज्ञानिक सलाह देते हैं कि सोयाबीन को 20 मिनट तक करीब 100 डिग्री सेल्सियस के तापक्रम पर उबालने के बाद ही आहार के रूप में इस्तेमाल करना चाहिए। ऐसा करने से केटीआई का असर खत्म हो जाता है।’ हमने अपने अनुसंधान के जरिए आनुवांशिकी में बदलाव कर सोयाबीन की दोनों किस्मों को केटीआई से मुक्त कर दिया है। यानी इन किस्मों के बीजों को आहार में इस्तेमाल करने के लिए उन्हें उबालने की कोई जरूरत नहीं है।

अगर गर्मियों में इस बीमारी ने आपको अपनी चपेट में ले लिया तो फिर....

सोयाबीन में 40 फीसदी प्रोटीनसोयाबीन में 40 प्रतिशत उच्च गुणवत्ता वाला प्रोटीन होता है। हम चाहते हैं कि देश में इसकी पैदावार को बढ़ावा दिया जाए, ताकि लोगों में प्रोटीन की कमी दूर करने में मदद मिल सके। इसी मकसद से सोयाबीन की दो नई किस्में एनआरसी-101 और एनआरसी-102 विकसित की गई हैं।

गर्मियों में कैसे रखें खुद को गोरा, जानिए सबसे सरल उपाए

नीचे की स्लाइड्स में पढ़िए, पूरी खबर-

खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story