Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
toggle-bar

Snoring Side Effects: लेते हैं खर्राटे... तो हो सकता है कैंसर, रिसर्च में हुआ खुलासा

Snoring Side Effects: नींद में सभी लोग खर्राटे लेते है, जो आम बात है। कई लोग ऐसा कहते हैं कि ज्यादा थकान होने की वजह से खर्राटे आते हैं। क्या आप जानते हैं खर्राटे लेने से कौन सी बीमारी होने का खतरा बढ़ जाता है। चलिए जानते हैं...

Snoring can cause this dangerous throat cancer how to get away from this
X

अधिक खर्राटे से हो सकती है ये बीमारी। 

Snoring Side Effects: इंसान अपनी रोजमर्रा की जिंदगी में सुबह से लेकर शाम तक काम करके थक जाता है। सोते समय खर्राटे आना स्वाभाविक है। अगर हमारे साथ ऐसा होता है, तो इससे हमारे जीवनसाथी और घर के कई अन्य लोगों को परेशानी होती है, लेकिन क्या आपको पता है ज्यादा खर्राटे आने से कई बीमारी होती है। जो सेहत पर बुरा प्रभाव डालती है। कुछ लोगों को खर्राटे आने की वजह से ऑब्सट्रक्टिव स्लीप एपनिया (ओएसए) यानी सोते समय कुछ देर तक सांस आना बंद होने की बीमारी हो जाती हैं। हेल्थ एक्सपर्ट्स द्वारा किए शोध मे पता चला कि 'ओएसए' की बीमारी से लोगों के गले में कैंसर होने का खतरा बढ़ जाता है।

हेल्थ एक्सपर्ट्स ने किया शोध

हेल्थ एक्सपर्ट्स की मानें, तो 'ओएसए' नींद में खर्राटे आने से संबंधित एक बीमारी है। यह नींद के दौरान सांस को रोकने का काम करती है। अगर खर्राटे लेने वाले लोगों में इस तरह के लक्षण हैं। तो वह कैंसर की बीमारी का शिकार हो सकते हैं। बार्सिलोना में यूरोपियन रेस्पिरेटरी सोसाइटी द्वारा किए गए शोध से पता चला है कि अधिक वजन बढ़ना, शुगर के मरीज और शराब या धूम्रपान का सेवन करने वालों में 'ओएसए' की बीमारी होने का खतरा बढ़ जाता है।

खून में ऑक्सीजन लेवल को कम करने में मददगार

एक्सपर्ट्स द्वारा किए गए दूसरे शोध से पता चला है कि 'ओएसए' की बीमारी बुजुर्गों की कई शक्तियों में गिरावट लाने से जुड़ी हुई है। मुख्यतौर पर यह 74 साल से अधिक लोगों में देखी गई है। एक्सपर्ट्स का कहना है कि हमें तीसरे शोध में पता चला कि ऑब्सट्रक्टिव स्लीप एपनिया यानी 'ओएसए' से प्रभावित लोगों के खून में ऑक्सीजन को कम कर देता है। अगर लंबे समय तक सांस रूकी रहे, तो बीपी, दिल से जुड़ी समस्या, कार्डियक अरेस्ट जैसी कई अन्य बीमारी होने का खतरा अधिक होता है।

इलाज से पहले कैंसर की जांच करें

डॉक्टर को ओएसए की बीमारी वाले लोगों का इलाज शुरू करने से पहले कैंसर होने के कारणों का पता करना चाहिए। एक्सपर्ट्स द्वारा किए गए शोध में कई ऐसे निष्कर्ष निकले हैं, जो कैंसर होने की वजह बन सकते हैं। इससे कई बार मरीज की जान भी चली जाती हैं।

ऑक्सीजन की कमी से हो सकता है कैंसर

डॉक्टरों द्वारा किए गए शोध से पता चला कि ओएसए के मरीजों में कैंसर होने का खतरा अधिक होता है, लेकिन पहले इस बात का पता न होने के कारण ओएसए के कई कारणों का अंदाजा नहीं लगाया जाता था। इस दौरान उन्होंने कहा कि शोध के निष्कर्षों से पता चला कि ओएसए के कारणों से खून में ऑक्सीजन की कमी से कैंसर की समस्या बढ़ सकती है।

ये भी पढ़ें:- E-सिगरेट नॉर्मल सिगरेट से कम हार्मफुल, फिर भी आपको पहुंचा सकता है अस्पताल

Disclaimer: यह खबर सामान्य जानकारी पर आधारित है। इन तरीकों और सुझावों को अमल में लाने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से सलाह जरूर लें।

और पढ़ें
Next Story