Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

पार्नर के साथ की ये छोटी सी गलती तो परेशान रहेंगे जिंगदी भर

आधुनिक समाज में बिना शादी किए भी लड़का और लड़की आपसी सहमति से एक-दूसरे के साथ एक छत के नीचे पति-पत्नी की तरह रहते हैं। जिसे लिव-इन रिलेशनशिप कहा जाता हैं। लिव-इन रिलेशनशिप के कुछ साइड इफेक्ट्स भी होते हैं। इसलिए आज हम आपको लिव-इन में जाने से पहले कुछ सावधानियां जरूर बरतें...

पार्नर के साथ की ये छोटी सी गलती तो परेशान रहेंगे जिंगदी भर
X
पहले जहां लड़का और लड़की सिर्फ शादी के बाद ही एक-दूसरे के साथ रह पाते थे। वहीं अब आधुनिक समाज में बिना शादी किए भी लड़का और लड़की आपसी सहमति से एक-दूसरे के साथ एक छत के नीचे पति-पत्नी की तरह रहते हैं। जिसे लिव-इन रिलेशनशिप कहा जाता हैं।
दरअसल इस जीवनशैली का प्रयोग कपल्स शादी से पहले एक-दूसरे को अच्छे से समझने के लिए करते हैं। आजकल रिश्तों को समझने, परखने और निभाने का ये तरीका युवाओं में काफी पॉपुलर हो गया है।
लेकिन आज हम आपको लिव-इन रिलेशनशिप के कुछ साइड इफेक्ट्स के बारे में बताने जा रहें हैं। इसलिए लिव-इन में जाने से पहले कुछ सावधानियां जरूर बरतें...
1. सबसे पहले आप जिसके साथ लिव-इन में रहने वाले हैं उसके बारे में ठीक से जांच-पड़ताल कर लें। कोशिश करें कि जिसके साथ आप लिव-इन में रहने जा रहे हैं वो आपका पुराना कोई दोस्त या करीबी हो। लिव-इन में जाने से पहले लड़कियों को खास तौर पर पार्टनर की जांच करनी चाहिए और नेगेटिव रिजल्ट मिलने पर लिव-इन में जाने से रूक जाएं।
2. किसी भी रिश्ते को मजबूत करने में छोटी-छोटी लड़ाईयां काफी अहम मानी जाती हैं। क्योंकि इससे एक-दूसरे को समझने में मदद मिलती है। लेकिन लिव इन में लड़ाई करते वक्त ध्यान रखें कि कभी भी गुस्से में पार्टनर को ऐसा कुछ न बोलें जिससे उसके सेल्फ रिस्पेक्ट को ठेस पहुंचें।
3. आज के दौर में किसी भी शख्स के अकेले दो लोगों का आर्थिक भार उठा पाना बेहद ही मुश्किल है। ऐसे में लिव-इन में जाने से पहले ही दोनों पार्टनर एक-दूसरे से आर्थिक खर्चों के बारे में बात कर लें। जिससे बाद में रिश्तों में किसी भी तरह की दरार आए।
4. लिव-इन में जाने से पहले आपको मानसिक रूप से मजबूत होना बहुत जरूरी है। क्योंकि कई बार आपको आपके पार्टनर की कुछ आदतें पसंद नहीं आती हैं। ऐसे में उन आदतों को अनदेखा या नजरअंदाज करना आपके लिए सबसे उपयुक्त होगा । ये आप मानसिक और इमोशनली स्ट्रॉंग होने पर ही सबसे बेहतर तरीके से कर पायेंगे।
5. कई बार लिव-इन में रहते हुए उसे काफी कोशिशों के बाद भी पार्टनर के बिहेवियर या आदतों की वजह से निभा नहीं पाते हैं। तो ऐसे में हमेशा दूसरा विकल्प सोच कर रखना चाहिए और जरूरत पड़ने पर रिश्ते को खत्म करने की भी हिम्मत रखनी चाहिए।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story