Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

चश्‍मा उतारने का तरीका सिर्फ लेसिक लेजर ट्रीटमेंट नहीं, कई नेचुरल तरीके हैं कारगर

- एक शोध के अनुसार फलों और हरे पत्तों वाली सब्जियों में कैरोटीन नामक पिगमेंट की ऐसी मात्रा मौजूद होती है जिसमें आंख की रोशनी तेज करने की क्षमता होती है। विशेषज्ञों के अनुसार यह प्राकृतिक कैरोटीनाइड आंख की पुतली पर सकारात्मक असर डालता है और आंखों की रोशनी सुरक्षित रखने के साथ ही अनेक रोगों से भी बचाता है।

बेलपत्र का 20 से 50 मि.ली. रस पीने और 3 से 5 बूंद आंखों में काजल की तरह लगाने से रतौंधी रोग में आराम होता है।

Next Story