Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

प्यार को क्यों कहा जाता है अंधा, जानें इसके पीछे का सच

प्यार आपके दिमाग के उन हिस्सों पूरी तरह कंट्रोल कर लेता है।

प्यार को क्यों कहा जाता है अंधा, जानें इसके पीछे का सच
X

नई दिल्ली. हाल ही में हुई एक रिसर्च ने साबित किया है कि प्यार आपके दिमाग के उन हिस्सों पूरी तरह कंट्रोल कर लेता है जिनसे आप महत्वपूर्ण निर्णय लेते हैं। जिसके परिणाम स्वरूप जब आपकी नजदीकियां बढ़ती है तो आपका ब्रेन उस व्यक्ति के चरित्र, व्यक्तिव और व्यवहार के बारे में कोई राय कायम करने या जानने का प्रयास नहीं करता जैसा कि आप सामान्य रूप से किसी व्यक्ति से मिलने पर करते हैं। आइए जानें रिसर्च में सामने आई वो बातें जो साबित करती हैं कि प्यार सचमुच अंधा होता है।

इसे भी पढ़ें : जब सात फेरों में बंधी अनोखी कसम, 11 लड़कियों को शिक्षित करने की ली जिम्मेदारी

प्यार किसी सें भी हो असर एक सा ही होता है
शोधकर्ताओं ने करीब 20 युवा मांओं को अपनी रिसर्च में शामिल किया और पाया कि प्यार कोई किसी से भी और कैसे भी करे उसका असर आपके दिमाग पर एक सा ही होता है। यानि प्‍यार में तर्कशीलता काफी हद तक प्रभावित होती है।
प्यार में नजर नहीं आती कमियां
नेक्सट लाइव का खबर के अनुसार, जब रिसचर्स ने रोमाटिंक रिलेशनशिप में डूबे लोगों पर अध्‍ययन किया तो पाया कि ब्रेन का वो भाग जो सामने वाले को क्रिटिकली परखता है प्यार में पड़े लोगों में कमजोर हो जाता है और व्यक्ति को अपने पार्टनर में कमियां या तो नजर ही नहीं आतीं या बेहद कम नजर आती हैं। दिमाग का ये हिस्‍सा ही आपकी भूख प्यास और मॉनिटरी गेंस को इंस्टिगेट करता है लिहाजा प्यार में इन सब चीजों पर भी असर पड़ता है।
सेक्स का नहीं प्यार से रिश्ता
जरूरी नहीं है कि प्यार का कनेक्‍शन सेक्‍स की डिजायर से हो। सेक्स रोमांटिक इमोशंस से कुछ हद तक तो ड्राइव होता है पर आप किसी से प्यार करते हैं तो हमेशा सेक्‍सुअली इन्वाल्व होना चाहेंगे या चाहते हैं ऐसा जरूरी नहीं है।
आगे की स्लाइड्स में पढ़िए, पूरी खबर-
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story