Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

OMG! बचपन की दोस्ती बनती है बुढ़ापे का सहारा, जानें कैसे

कहा जाता है कि बच्चे की संगत जैसी होगी, बच्चा वैसा ही सीखेगा। अगर संगत अच्छी होगी तो वह अच्छा सीखेगा और बुरी होगी तो बुरा सीखेगा। लेकिन क्या आपको पता है कि दोस्ती करने से सेहत को भी फायदा होता है। जी हां, हाल ही में हुई रिसर्च में इस बात का खुलासा हुआ है कि बचपन की दोस्ती सेहत के लिए बहुत फायदेमंद होती है।

OMG! बचपन की दोस्ती बनती है बुढ़ापे का सहारा, जानें कैसे
X

कहा जाता है कि बच्चे की संगत जैसी होगी, बच्चा वैसा ही सीखेगा। अगर संगत अच्छी होगी तो वह अच्छा सीखेगा और बुरी होगी तो बुरा सीखेगा। लेकिन क्या आपको पता है कि दोस्ती करने से सेहत को भी फायदा होता है। जी हां, हाल ही में हुई रिसर्च में इस बात का खुलासा हुआ है कि बचपन की दोस्ती सेहत के लिए बहुत फायदेमंद होती है।

अगर आपका बच्चा अपने स्कूल के बेस्ट फ्रेंड के साथ टाइम बिताना चाहता है, तो उसे मना ना करें बल्कि उसे जानें दें। ऐसा इसलिए क्योंकि उसकी बचपन की दोस्ती का फायदा उसे बड़े होने पर उसकी सेहत को मिलेगा।

सेहत पर पड़ता है ऐसे असर

एनबीटी की खबर के मुताबिक जर्नल साइकोलॉजिकल साइंस में प्रकाशित रिसर्च के मुताबिक जो बच्चे बचपन के दिनों में अपने दोस्तों के साथ ज्यादा वक्त बिताते हैं, तो वह 30 की उम्र तक आते-आते उनका उनका BMI (बॉडी मास इंडेक्स) और ब्लड प्रेशर कम रहता है।

यह भी पढ़ें: पार्टनर के इन इशारों से समझें उसे आपमें दिलचस्पी है या नहीं

अमेरिका की टेक्सास टेक यूनिवर्सिटी के जेनी कंडिफ के मुताबिक जीवन का शुरुआती दौर का काफी असर हमारी लाइफ में बाद में सेहत पर असर डालता है। बचपन की दोस्ती बड़े होने पर सेहत को फायदा पहुंचाती है।

ऐसे की गई रिसर्च

इस रिसर्च में 267 लोगों को शामिल किया गया। उनसे जुड़ी जानकारियों को इकट्ठा करके परखने के बाद यह निष्कर्ष निकाला गया है। रिसर्च में शामिल हुए लोगों ने बताया कि उनके बच्चे एक हफ्ते में अपने दोस्तों के साथ कितना समय बिताते हैं।

बच्चे की 6-16 वर्ष की आयु के बीच पाया गया कि जिन बच्चों ने दोस्तों के साथ ज्यादा वक्त बिताया वह 32 की उम्र तक BMI (बॉडी मास इंडेक्स) और ब्लड प्रेशर के मामले में सेहतमंद रहे।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story