Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

World Teachers Day 2019 : विश्व शिक्षक दिवस का इतिहास, 2019 थीम और जानिए विश्व शिक्षक दिवस क्यों मानते हैं

World Teacher Day 2019 साल 2019 में 5 अक्टूबर को विश्व शिक्षक दिवस पूरी दुनिया में बड़ी ही धूमधाम से मनाया जाएगा। विश्व शिक्षक दिवस 2019 की थीम (World Teachers Day Theme) "युवा शिक्षक: पेशे का भविष्य (“Young Teachers: The Future of the Profession)” रखी गई है। आमतौर पर दुनिया में अलग-अलग दिनों पर टीचर्स डे मनाया जाता है, लेकिन यूनेस्को की सिफारिशों के बाद संयुक्त राष्ट्र ने 1994 में एक बिल पारित करके 5 अक्टूबर विश्व शिक्षक दिवस के रुप में मनाने की घोषणा की। लेकिन क्या आप जानते हैं कि विश्व शिक्षक दिवस मनाने की वजह, इसका इतिहास और इससे जुड़े तथ्य लेकर आए हैं।

World Teachers Day 2019 : विश्व शिक्षक दिवस पर जानें इसका इतिहास और शुरु होने की वजह...World Teachers Day 2019 History Theme And Celebration Reason in Hindi

World Teachers Day 2019 : दुनिया के लगभग हर देश में अपने टीचर्स के प्रति सम्मान और आदर को दर्शाने के लिए टीचर्स डे मनाने की परंपरा प्राचीन काल से चली आ रही है। भारत में भी 5 सितंबर को शिक्षक दिवस मनाया जाता है। इस दिन बच्चे अपने टीचर्स से उनके प्यार, सीख और और केयर के लिए अलग-अलग तरीकों से आभार व्यक्त करते हैं। अधिकांश लोग विश्व शिक्षक दिवस के बारे में नहीं जानते हैं, इसलिए आज हम वर्ल्ड टीचर्स डे का इतिहास, इसे मनाए जाने की वजह के अलावा अन्य रोचक बातें बताने वाले हैं।

विश्व शिक्षक दिवस का इतिहास (World Teachers Day History)

साल 1994 के बाद से हर साल 5 अक्टूबर को विश्व शिक्षक दिवस पूरी दुनिया में मनाया जाता है। प्रत्येक वर्ष यूनिसेफ, यूएनडीपी, अंतर्राष्ट्रीय श्रम संगठन और शिक्षा अंतर्राष्ट्रीय एक साथ मिलकर विश्व शिक्षक दिवस के कार्यक्रम को आयोजित करती हैं। वर्ल्ड टीचर्स डे को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर मनाने के लिए साल 1994 में UNESCO की सिफारिशों पर लगभग 100 देशों के समर्थन देने के बाद UN ने इस बिल को पारित किया और 5 अक्टूबर को मनाने वर्ल्ड टीचर्स डे मनाने की शुरुआत हुई।

साल 2019 में, वर्ल्ड टीचर्स डे की थीम के युवा शिक्षक: भविष्य का भविष्य। इस दिन पूरी दुनिया में टीचिंग के प्रोफेशन की उपलब्धियों का जश्न मनाने, उससे जुड़े मुद्दे और समस्याओं को सुलझाने के अवसर तलाशने में मदद करता है। इसके साथ ही प्रतिभाशाली युवाओं को टीचिंग सेक्टर के लिए आकर्षित करने के तरीके तलाशे जाते हैं।

इस बार 7 अक्टूबर को पेरिस के यूनेस्को मुख्यालय में फांउडर मैंबर्स के सहयोग और यूनिसेफ, यूएनडीपी, अंतर्राष्ट्रीय श्रम संगठन और शिक्षा इंटरनेशनल के साथ वैश्विक स्तर पर टीचर्स डे कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा।




विश्व शिक्षक दिवस मनाने की वजह (Reason To Celebrate World Teachers Day)

वर्ल्ड टीचर्स डे को 5 अक्टूबर को मनाने की शुरुआत, दुनिया में टीचर्स की स्थिति को बेहतर करने के उद्देश्य से की गई थी। साल 1966 में ILO/UNESCO नें अपनी सिफारिशों में शिक्षकों के अधिकारों, जिम्मेदारियों,उनकी प्रारंभिक तैयारी, आगे की शिक्षा, भर्ती, रोजगार और शिक्षण के साथ सीखने की स्थिति के बारे में गाइडलाइन बनाने की बात कही गई थी। इसके अलावा 1997 में हाईयर एजुकेशन, टीचिंग, रिसर्च मैंबर्स को शामिल करके 1966 की सिफारिशों को पूरी तरह से लागू किया गया था।

UN ने वैश्विक स्तर पर शिक्षा के क्षेत्र की उपलब्धियों को जानने और उससे जुड़ी समस्याओं को पहचानने के लिए शिक्षा पर सतत विकास लक्ष्य 2030 का लक्ष्य रखा है। इसके अंर्तगत शिक्षा क्षेत्र में युवा प्रतिभाओं को आकर्षित करने और उन्हें कुशल बनाने के लिए जरुरी उपायों को अपनाने की पहल की गई।

1966 संयुक्त राष्ट्र शैक्षिक, वैज्ञानिक और सांस्कृतिक संगठन (यूनेस्को) / ILO सिफारिश पर शिक्षकों की स्थिति में सुधार लाने के उद्देश्य से एक हस्ताक्षर अभियान के रुप में शुरु हुआ था। इस सिफारिश के तहत शिक्षा इंटरनेशनल पूरी दुनिया को शिक्षकों की स्थिति और उनसे संबंधित मानकों पर नजर रखती है,जिनमें ये प्रमुख हैं शिक्षा कर्मियों की नीति, शिक्षा कर्मियों भर्ती, शिक्षा कर्मियों का प्रारंभिक प्रशिक्षण, शिक्षकों की सतत शिक्षा, उनका रोजगार और काम करने की स्थिति प्रमुख है।

कब और किस दिन मनाया जाता टीचर्स डे (When Teachers Day Celebrated in Other Countries)

देश के नाम / Countries Name तिथि / Date

America

5 May

Bangladesh

5 October

China

10 September

Egypt

28 February

Greece

30 January

Hong Kong

10 September

India 5 September

Jamaica

6 May

Mauritius and Maldives

5 October

New Zealand

29 October


और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story
Top