Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

सेल्फ मैनेजमेंट : हार्ड नहीं ऐसे करें स्मार्ट वर्क, प्रमोशन पक्का

Self Management ऑफिस में हार्ड वर्क के बाजजूद भी अगर आप मनचाहा मुकाम हासिल नहीं कर पा रही हैं तो अपनी वर्क प्रोडक्टिविटी को चेक करें। अगर वर्क प्रोडक्टिविटी का लेवल कम है तो इसमें इजाफा करें। जानिए, किस तरह बढ़ाएं अपनी वर्क प्रोडक्टिविटी।

Self Management : सेल्फ मैनेजमेंट से प्रमोशन पक्काSelf Management in Hindi

Self Management अमृता पिछले कुछ समय से निराशा से घिर गई थी। उसके मन में यह बात घर कर गई थी कि पूरी मेहनत करने के बाद भी सफलता नहीं मिल रही है और न ही भविष्य में मिलेगी। वह अपनी असफलता के लिए तमाम बातों को, लोगों को जिम्मेदार मानने लगी थी। लेकिन उसका ध्यान कभी इस बात पर नहीं गया कि वह जो काम पूरी मेहनत से करती है, उसका रिजल्ट कितना पॉजिटिव आता है? क्या उसकी वर्क प्रोडक्टिविटी उतनी है, जितनी सफलता हासिल करने के लिए, दूसरों से आगे निकलने के लिए जरूरी है?

जबकि उसकी असफलता की असल वजह वर्क प्रोडक्टिविटी का कम होना ही था। ऐसा कई लोगों के साथ होता है, उन्हें लगता है कि वह ऑफिस में पूरा समय देते हैं, दिन भर अपने काम में लगे रहते हैं, फिर भी बॉस, कुलीग्स इंपॉर्टेंस नहीं देते हैं। असल में वह इस बात पर गौर नहीं करते हैं कि आठ घंटे अगर वह ऑफिस में थे तो उनका वर्क आउटपुट क्या रहा? उन्होंने कितना प्रोडक्टिव वर्क किया? अब सवाल है कि कैसे वर्क प्रोडक्टिविटी को बढ़ाया जाए, अपने काम करने के तरीके को बेहतर बनाया जाए? इसके लिए कुछ जरूरी बातों को अमल में लाया जा सकता है।

करें खुद का आकलन

वर्क प्रोडक्टिविटी बढ़ाने के लिए जरूरी है कि आप अपने काम का आकलन करें, यह देखें कि आखिर आपसे गलती कहां हो रही है? क्यों आपके काम की गति धीमी है। दूसरों की तरह आपका वर्क आउटपुट, प्रोडक्टिविटी अच्छी क्यों नहीं है? जब इन बातों पर गौर करेंगी तो आपको अपनी कमियों, गल्तियों के बारे में पता चलेगा।

लेकिन गलती पता चलने से परेशान न हों, खुद को इंप्रूव करने पर फोकस करें। याद रखिए, गल्तियों से डरने वाला इंसान कभी आगे नहीं बढ़ सकता है। अगर आपको अपना वर्क आउटपुट, प्रोडक्टिविटी बढ़ानी है तो खुद के काम को परखती रहिए। पहले कुछ घंटों की, फिर एक दिन की वर्क प्रोडक्टिविटी पर फोकस कीजिए। इस तरह आगे बढ़ती जाएंगी।

अपना आइडल बनाएं

अपनी वर्क प्रोडक्टिविटी बढ़ाने के लिए आप किसी को अपना वर्किंग आइडल बना सकती हैं। ऐसा करने से आपको अच्छा काम करने की इंस्प्रेशन मिलेगी, आप मोटिवेट होंगी। इसके लिए किसी फेमस पर्सनालिटी को या अपने आस-पास के लोगों की सफलता से, उनकी वर्किंग स्टाइल से सीख ले सकती हैं।

गौर कीजिए कि सफल लोगों का काम करने का तरीका किन मायनों में अलग रहा। फिर उन बातों को अपने वर्किंग स्टाइल में शामिल कीजिए, इस तरह आप भी सफलता की राह पर आगे बढ़ेंगी।

काम को एंज्वॉय करें

आप किसी काम को तभी अच्छे से कर पाती हैं, जिसे करते हुए एंज्वॉय करती हैं। लेकिन जिस काम को पसंद नहीं करती हैं, वह करने को कहा जाए तो मन उसमें नहीं लगता है। इसका असर वर्क प्रोडक्टिविटी पर पड़ता है और आप अपने काम में पिछड़ने लगती हैं। ऐसा न हो इसके लिए अपने काम को एंज्वॉय करें। अगर लगातार काम करते हुए बोरियत महसूस होती है तो ब्रेक लें। खुद को रिफ्रेश करें और फिर काम शुरू करें।

टेंशन से बचें

आपसे कोई काम नहीं हो पाया है या आपको मनचाहा आउटपुट नहीं मिल पाया है तो इस वजह से परेशान न हों या टेंशन में न आएं। इससे भी आपकी वर्क प्रोडक्टिविटी पर असर पड़ता है। इसके बजाय टेंशन फ्री होकर अपना काम करें। कॉन्फिडेंस के साथ अपने काम को करती रहें।

ऑफिस में बहुत इमोशनल भी न हों, इससे भी आपके वर्क आउटपुट पर असर पड़ सकता है, प्रैक्टिकल होकर अपना काम करें। इन बातों को ध्यान रखते हुए फॉलो करेंगी तो आप अपनी क्षमता से ज्यादा काम कर पाएंगी, अच्छा आउटपुट दे पाएंगी और लगातार सफलता की सीढ़ियां चढ़ती जाएंगी।

Share it
Top