Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

सोशल मीडिया पर भी जरूरी हैं एटिकेट्स

आपकी बातें, व्यवहार आपके व्यक्तित्व का आईना होती हैं। ऐसे में आम जीवन हो या सोशल मीडिया, आपको सोच-समझकर किसी बात पर अपने विचार, सहमति देनी चाहिए। साथ ही रियल लाइफ की तरह सोशल मीडिया पर भी एटिकेट्स को इंपॉर्टेंस देनी चाहिए।

उपद्रवियों से निपटने के लिए शाहदरा जिला पुलिस को मिली स्टील की लाठी
X
सोशल मीडिया (फाइल फोटो)

जब कभी सोशल मीडिया या किसी ऑनलाइन प्लेटफॉर्म का यूज करें तो बहुत सजग रहना चाहिए। यह दुनिया आभासी जरूर है, लेकिन यहां जो लोग हैं, वे आभासी नहीं हैं। वे कहीं न कहीं हमसे असल जिंदगी में भी जुड़े होते हैं। ऐसे में सोशल मीडिया पर हमारा व्यवहार, बातें हमारे असल जीवन पर भी असर डालती हैं। हमारे व्यक्तित्व के बारे में लोगों के बीच एक इमेज बना देती हैं। इसलिए सोशल मीडिया पर अपने बिहेवियर, एटिकेट्स को नजरअंदाज न करें।

क्या कहते हैं एक्सपर्ट

साइबर एक्सपर्ट पवन दुग्गल कहते हैं, 'डिजिटल वर्ल्ड की वजह से कनेक्टिविटी तो बढ़ी है, साथ ही इस दुनिया ने कई चुनौतियों को भी पैदा कर दिया है। सोशल मीडिया ने एक तरफ लोगों को एक-दूसरे से जोड़ा है, वहीं खबरों को ज्यादा लोग तक पहुंचाने में भी बड़ा रोल निभाया है। लेकिन आजकल सोशल मीडिया पर झूठ फैलाने का काम काफी तेजी से बढ़ रहा है। इसमें ट्रोलिंग, फेक न्यूज फैलाना तो शामिल है, साथ ही और बहुत कुछ है, जो लोगों को झेलना पड़ता है। ऐसे में बतौर यूजर हम सबकी जिम्मेदारी बनती है, इन बातों को रोकें, इनसे दूर रहें। इसके लिए सोशल मीडिया एटिकेट्स को फॉलो करें।'

इन पर करें अमल

अकसर लोग सोचते हैं कि सोशल साइट्स, प्लेटफॉर्म पर एटिकेट्स की क्या जरूरत? लेकिन सोशल मीडिया एक्सपर्ट्स का मानना है कि इस मीडिया पर अपनी एक्टिविटीज में एटिकेट्स को लेकर सजग रहना इसलिए भी जरूरी है, क्योंकि इससे आपकी रियल इमेज पर असर पड़ता है।

सही लैंग्वेज का इस्तेमाल : देखा जाता है कि सोशल मीडिया पर लोग कई बार बुरी और गलत लैंग्वेज का इस्तेमाल करते हैं। यहां तक कि अपशब्द भी कहने से परहेज नहीं करते हैं, जबकि अपनी बात अच्छे शब्दों में, ढंग से भी कही जा सकती है। ऐसा करने से पता चलता है कि आप एक सभ्य इंसान हैं।

न फैलाएं अफवाह : सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म के जरिए अफवाह जल्द फैल जाती है। पोस्ट की गई सूचना कहां तक सही है, इस बारे में शुरुआत में अकसर किसी को पता नहीं होता है। कई बार कुछ पोस्ट अफवाह फैलाने के मकसद से सोशल मीडिया पर डाली जाती हैं। ऐसे में आप अपनी नैतिक जिम्मेदारी निभाएं और ऐसी पोस्ट से तौबा करें। आप अफवाह फैलाने वालों के झांसे में न आएं।

सोच-समझकर करें शेयर-लाइक : सोशल मीडिया में आई कुछ खबरों, पोस्ट को लोग बिना सोचे-समझे शेयर कर देते हैं। लेकिन किसी खबर, पोस्ट को शेयर करने से पहले उस पर गौर करें। अपना विवेक इस्तेमाल करें। अगर वह पोस्ट किसी नेगेटिव बात को सपोर्ट कर रही है तो उसे फैलाने में साथ न दें। याद रखिए, सोशल मीडिया के मीडियम से हजारों लोगों तक किसी भी बात को पहुंचाना या दिखाना काफी आसान हो गया है। ऐसे में इसका इस्तेमाल कुछ लोग नेगेटिविटी फैलाने के लिए करते हैं। इसलिए आपको यह देखना होगा कि कौन-सी पोस्ट नेगेटिव है और इसे फैलाने के पीछे क्या मकसद है। अगर आप इसे देखते या पढ़ते भी हैं तो इसके बाद इसे इग्नोर कर आगे बढ़ जाएं। शेयर या लाइक बिल्कुल न करें।

Also Read: सही समय में करें गृह प्रवेश रहेगा जीवन खुशहाल

इन बातों का रखें ध्यान

- आजकल सोशल मीडिया पर हैश टैग्स का चलन जोरों पर है। लेकिन फिजूल के हैश टैग की जगह अच्छे हैश टैग बनाएं।

- दूसरे लोगों की इजाजत के बिना कभी उन्हें कोई पोस्ट टैग न करें। अगर उन्होंने शिकायत कर दी तो आपका अकाउंट ब्लॉक हो सकता है।

Next Story