Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

बनना चाहती हैं अच्छी सास तो गांठ बांध ले यें बातें

समय के साथ सास बहु के रिश्ते में भी बदलाव आया है। अब सास कम अपनी बहु की मां बनना ज्यादा पसंद कर रही हैं। अगर आप भी अपनी बहु के लिए एक अच्छी सास साबित होना चाहती हैं, तो हम आपको ऐसे टिप्स बता रहे हैं, जो आपको सास से मां बनने में मदद करेगें। चलिए जानते हैं उन खास टिप्स के बारे में।

बनना चाहती हैं अच्छी सास तो गांठ बांध ले यें बातें
X

बनना चाहती हैं अच्छी सास तो गांठ बांध ले यें बातें (फाइल फोटो)

समय के साथ सास बहु के रिश्ते में भी बदलाव आया है। अब सास कम अपनी बहु की मां बनना ज्यादा पसंद कर रही हैं। अगर आप भी अपनी बहु के लिए एक अच्छी सास साबित होना चाहती हैं, तो हम आपको ऐसे टिप्स बता रहे हैं, जो आपको सास से मां बनने में मदद करेगें। चलिए जानते हैं उन खास टिप्स के बारे में।

बेटे का प्यार और समय बांटने के लिए हो तैयार

आमतौर पर सभी मांओं की बेटे की शादी के बाद एक ही शिकायत होती है, कि बेटा बहु का ही होकर रह गया है। मां से मिलने का उसके पास समय ही नहीं है। ऐसे में अगर आप एक अच्छी सास बनना चाहती हैं, तो आप इस समस्या को सास नहीं बल्कि बहु के नजरिये से देखें और फिर उनके व्यवहार पर टिप्पणी करें। इसके अलावा आप बेटे से दिन में किसी एक समय मिलने की टाइमिंग फिक्स करने के लिए कहें। जिसमें आप दोनों कुछ क्वॉलिटी टाइम बिता सकें। अगर आप बेटे और बहु को पर्सनल स्पेस और क्वॉलिटी टाइम साथ में बिताने देगीं, तो वो भी आपको समझेगें, इसके अलावा आप अकेले रहने की जगह अपनी हॉबीज को इंज्वॉय करें।

समझें अपनी रिश्ते में अहमियत अधिकांश महिलाएं

अपने बेटे की शादी करवा देती हैं, लेकिन कुछ समय बाद बहु के साथ तालमेल न होने की वजह से उसे कोसती भी हैं। ऐसे में अगर आप एक अच्छी सास बनना चाहती हैं, तो आप दोनों ही रिश्तों की भूमिका और अहमियत पर गौर करें। क्योंकि आप लड़के की मां हैं और बहु आपके बेटे की पत्नी है। इसलिए दोनों में से कोई भी एक दूसरे की जगह को नहीं ले सकता है। इस बात को आप गहराई पर जाकर समझें।

Also Read: लॉकडाउन में हुआ था ब्रेकअप, फिर इस शख्स ने किया ऐसा काम, आज लोग कर रहे हैं जमकर तारीफ

पैरेंट्स की है लाड़ली

अधिकांश सास को अपनी बहुओं का बार-बार मायके जाना पसंद नहीं होता है, ऐसे में अगर आप एक अच्छी सास बनना चाहती हैं, तो आपको ये बात समझने की जरुरत है कि जिस तरह आप अपने बेटे और परिवार से लंबे समय तक दूर नहीं रह सकती हैं, उसी तरह बहु को भी अपने पेरेंट्स और फैमिली से लगाव है, जो कुछ दिनों या महीनों से जुड़े नए रिश्तों के आने से कम हो जाएगा। इसके अलावा अगर आपकी बहु अपने पेरेंट्स की इकलौती संतान है, तो ऐसे में पेरेंट्स की केयर करनी की जिम्मेदारी भी उसी पर आती है। जिसे पूरा करने में आप मददगार बनकर अपनी सास बहु के रिश्ते को मजबूत बना सकती हैं।

Next Story