Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

जीवन-साथी के संग करें बागवानी रिश्तों में खिलेंगे प्यार के रंग

अपने दांपत्य जीवन को खुशहाल बनाने की कोशिश आप लगातार करती हैं। इस कोशिश में बागवानी को भी शामिल करके देखिए। इससे आपके बीच प्यार और बढ़ेगा, रिश्ता ज्यादा मजबूत होगा।

Jyotish shastra: सच्चे प्यार को खो देते हैं ये लोग, आप भी जानें
X

स्पेनिश में एक कहावत है-'प्यार और बागवानी साथ-साथ बढ़ते हैं।' दरअसल, बागवानी कुदरत से गहरे लगाव यानी प्यार की भावना ही होती है। जिन लोगों को बागवानी का शौक होता है, वो लोग बहुत कोमल हृदय के संवेदनशील होते हैं। अगर किसी शादी-शुदा जोड़े को बागवानी से प्यार हो तो उनके रिश्ते पर भी इसका सकारात्मक असर पड़ता है। उनके बीच झगड़े कम होते हैं, प्यार ज्यादा होता है। आप भी अपने रिश्ते को बेहतर, खुशहाल बनाने के लिए जीवनसाथी के साथ मिलकर बागवानी कर सकती हैं।

कूल रहता है बिहेवियर

हरी-हरी पत्तियां, लहराते-झूमते पौधे, खिले-खिले फूल, किसी का भी मूड बदल देते हैं। कहते हैं कि अगर कोई गुस्से में हो और रंग-बिरंगे, खिले-खिले फूल देख ले तो उसका गुस्सा आधा हो जाएगा। कहने का मतलब है, जो व्यक्ति बागवानी करता है, उसका बिहेवियर, मूड ज्यादातर कूल ही रहता है। यह बात कपल्स पर भी लागू होती है। साथ मिलकर बागवानी करने से उनका मूड पॉजिटिव रहता है। इससे उनका रिश्ता भी खुशहाल बना रहता है।

साथ रहने का मिलता है मौका

अगर किसी कपल को बागवानी का शौक हो तो उन्हें बाकी जोड़ों के मुकाबले साथ रहने का ज्यादा मौका मिलता है। वे साथ-साथ बहुत खुश रहते हैं। इससे उनकी क्रिएटिविटी भी बढ़ती है। खिले-खिले फूल, बगिया की हरियाली उनके मन को रोमांच से भर देती है। मनोविद भी कहते हैं, 'अगर पति-पत्नी को बागवानी का शौक है तो उनके पास साथ बिताने के लिए सबसे अच्छा क्वालिटी टाइम होता है।'

तनाव से रहते हैं दूर

बागवानी का शौक सिर्फ वक्त गुजारने का या खुश रहने का जरिया नहीं होता है। इससे एक बड़ी और जीवन को स्थिरता प्रदान करने वाली सीख मिलती है। दूसरे शब्दों में बागवानी करते हुए गुजारे गए कुछ घंटे या कुछ ही मिनट आपको तनाव से मुक्त रखते हैं। जो कपल्स बागवानी साथ करते हैं, वे तनावमुक्त रहते हैं। तनाव से दूर रहने पर वे खुश रहते हैं। यही खुशी उनके बीच प्यार को भी बढ़ाती है।

बढ़ती है संवेदनशीलता

जब हम बागवानी की बात करते हैं तो हरी-भरी धरती की तस्वीर हमारी आंखों के सामने घूमने लगती है। रंग-बिरंगे फूल हमारी कल्पनाओं में आने लगते हैं, प्रकृति से हमारा लगाव बढ़ता है। हम पर्यावरण के प्रति सजग हो जाते हैं और यही संवेदना हम आपसी रिश्तों में भी बरतते हैं। ऐसे जोड़े एक-दूसरे का दिल कभी नहीं दुखाते हैं। ऐसे लोग ज्यादा संतोषी होते हैं। अपने लिए भी और दूसरों के लिए भी बहुत सहनशील होते हैं।

प्यार भरी देख-रेख की अहमियत

गार्डेन को स्वस्थ और हरा-भरा रहने के लिए रोजाना पानी, पोषण, रोशनी की जरूरत होती है। इन्हें रोज प्यार भरी देख-रेख चाहिए होती है। ऐसी ही देख-रेख मजबूत और प्यार भरे रिश्ते के लिए भी चाहिए होती हैं। इस बात को बागवानी करते हुए ही कपल्स आसानी से समझ सकते हैं। इस तरह बागवानी करते हुए अपने रिश्ते को बेहतर बनाने का सीक्रेट बिना किसी खास ट्रेनिंग के भी आप समझ सकती हैं।

जीवन को लेकर बढ़ती समझ

जब साथ-साथ कपल्स, बागवानी के लिए वक्त देते हैं तो साथ-साथ जीवन को समझने से गुजर रहे होते हैं। ऐसे कई उदाहरण हैं कि जो लोग फूल उगाते हैं, वे लोग तमाम आर्थिक फायदों के बावजूद भी कुछ और उगाना नहीं चाहते हैं, क्योंकि फूल सिर्फ फसल नहीं है, फूल जीवन के प्रतीक हैं। अगर जीवन के इर्द-गिर्द रहने की आदत पड़ जाए तो दूसरी चीजों का कोई महत्व नहीं रह जाता है। यही भावना जीवन के सही मायने समझाती है। कपल्स जब इस बात को जान जाते हैं तो सिर्फ अपने रिश्ते पर ही ध्यान देते हैं, बाकी गैरजरूरी चीजों पर गौर करना कम कर देते हैं।

Next Story