Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Relationship Tips: ससुराल जाने से पहले दुल्हन को जरूर पता होनी चाहिए ये बातें

शादी के बाद (After Marriage) एक लड़की का जीवन पूरी तरह से बदल जाता है। लाइफ पार्टनर (Life Partner) के साथ प्यार भरे रिश्ते की शुरुआत होती है। साथ ही ससुराल में उससे कुछ नए रिश्ते भी जुड़ते हैं। इन संबंधों में हमेशा प्यार और अपनापन बना रहे, इसके लिए जरूरी है शुरुआत से ही रिश्तों की नींव मजबूत बने।

Relationship Tips: ससुराल जाने से पहले दुल्हन को जरूर पता होनी चाहिए ये बातें
X

शादी के बाद (After Marriage) एक लड़की का जीवन पूरी तरह से बदल जाता है। लाइफ पार्टनर (Life Partner) के साथ प्यार भरे रिश्ते की शुरुआत होती है। साथ ही ससुराल में उससे कुछ नए रिश्ते भी जुड़ते हैं। इन संबंधों में हमेशा प्यार और अपनापन बना रहे, इसके लिए जरूरी है शुरुआत से ही रिश्तों की नींव मजबूत बने। इसके लिए कुछ बातों को महत्व देना जरूरी है। ससुराल में नए रिश्तों की शुरुआत के लिए किसी बड़ी कोशिश की जरूरत नहीं होती है, बस कुछ छोटी-छोटी बातों को महत्व देना होता है।

1- रीति-रिवाजों को जानिए

रिश्तों की डोर को मजबूत बनाने में रीति-रिवाज सेतु की भूमिका निभाते हैं। यह नई पीढ़ी और पुरानी पीढ़ी को जोड़ने का काम करते हैं। ससुराल में सास, श्वसुर और बड़े-बुजुर्गों से जुड़ाव को गहरा करने के लिए परिवार की परंपरा और रीति-रिवाजों को नई दुल्हन को जानना-समझना चाहिए। घर से जुड़ी जिम्मेदारियों को संभालने के लिए आगे आना चाहिए। इनका निर्वाह मन से करना चाहिए। जब नई दुल्हन ऐसा करती हैं तो आसानी से बड़े-बुजुर्गों का स्नेह, आशीष पाती है। इस तरह आपका अपने सास-श्वसुर और घर के बड़ों से एक आत्मीय संबंध जुड़ता है।

2- कॉमन इंट्रेस्ट खोजिए

शादी के बाद नई दुल्हन को ससुराल में बड़े-बुजुर्गों के स्नेह के साथ ननद, देवर, जेठानी जैसे प्यारे रिश्तों का साथ भी मिलता है। छोटी ननद या देवर का साथ, दोस्त और भाई-बहन की कमी महसूस नहीं होने देता है। वहीं जेठानी, बड़ी बहन-सा स्नेह देकर नई दुल्हन को परिवार के साथ जोड़ने का माध्यम बनती है। इस तरह ये रिश्ते उसके जीवन में हंसी-खुशी के रंग भरते हैं। नई दुल्हन को भी चाहिए कि वह इन रिश्तों को मजबूत बनाए। इसके लिए ननद, देवर, जेठानी और अपने कॉमन इंट्रेस्ट खोजने का प्रयास कीजिए। इससे आपको उनको अच्छी तरह से जानने का मौका मिलेगा, उनसे जुड़ने का मौका मिलेगा।

3- नन्हे नन्हे सदस्यों से ऐसे जुड़े

परिवार में बड़े और हमउम्र सदस्यों के साथ छोटे बच्चे भी होते हैं। घर के ये नन्हे सदस्य, आपके चेहरे पर मुस्कान लाते हैं, अपनी बातों से आपको खुश करते हैं। इनकी वजह से घर में रौनक बनी रहती है। नई दुल्हन को परिवार के इन सबसे छोटे सदस्यों के साथ भी एक प्यार भरा रिश्ता कायम करना होता है। इसके लिए उनके साथ क्वालिटी टाइम बिताना जरूरी है। इससे आप उनकी पसंद-नापसंद को जान पाएंगी, उनकी प्रॉब्लम को सॉल्व कर पाएंगी। इन सभी बातों से वे आपके करीब आएंगे, उनके दिल में आपके लिए एक खास जगह बनेगी। इस तरह इन सभी बातों को अमल में लाकर शादी के बाद नई दुल्हन अपने नए रिश्तों में प्रेम-स्नेह के रंग भर सकती है।

4- कीजिए फैमिली गेट-टूगेदर

शादी के बाद ससुराल के सदस्यों के साथ ही, नाते-रिश्तेदारों से भी नई दुल्हन का परिचय होता है। इन रिश्तों को आगे उसे ही निभाना होता है। इसलिए शुरुआत से ही नाते-रिश्तेदारों के संपर्क में रहना जरूरी होता है। इसके लिए खास मौकों पर फैमिली गेट-टूगेदर कीजिए। इस तरह मिलने-जुलने से नाते-रिश्तेदारों से संबंध अच्छे बने रहेंगे।

Next Story