Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

देर रात तक जागने की है आदत तो ये पढ़िए

रिसर्चरों ने पाया कि यह जेनेटिक बदलाव हर 75 में से एक इंसान में मौजूद रहता है।

देर रात तक जागने की है आदत तो ये पढ़िए

क्या आपको भी देर रात तक जागने की आदत है? आजकल ज्यादातर लोग रात में घंटों इंटरनेट पर या फिर अपने फोन पर व्यस्त रहते हैं। इन्हें उल्लू की तरह रात्रिचर कहा जाए तो कुछ गलत नहीं होगा। देखते ही देखते आधी रात तक जागना इनकी आदत बन जाती है और सुबह उठना एक परेशानी।

अगर आप भी नींद न आने की परेशानी से जूझ रहे हैं तो बता दें कि जनेटिक्स में बदलाव इसकी एक वजह हो सकती हैं। ऐसा हम नहीं कह रहे हैं, बल्कि एक रिसर्च में यह बात सामने आई है। अमेरिका के रॉकफेलर लैबरेटरी के रिसर्चरों ने पाया कि यह जनेटिक्स बदलाव हर 75 में से एक इंसान में मौजूद रहता है।

रिसर्च के मुताबिक, जीन सीआरवाई1 की अलग-अलग किस्में आंतरिक जैविक समय (बायोलॉजिकल क्लॉक) को कम कर देती हैं जो रात के वक्त नींद आने की अवस्था और सुबह में जागने के बाद आपको नियंत्रित करने का काम करती है। ऐसे लोग जो रात में नींद नहीं आने के ऐसे वेरियंट्स से ग्रसित हैं उन्हें यह लंबे समय तक जगाए रखती है।
इस स्टडी के दौरान पार्टिसिपेट्स को दो हफ्ते तक रिसर्च अपार्टमेंट में रखा गया। जहां एक तरफ ज्यादातर लोगों की खाना खाने और सोने की आदत नियमित रूप से एक जैसी थी। इन्हें रात में 9 या 10 बजे नींद आ जाती थी। वहीं, कुछ इनसे अलग थे जिन्हें 2 से 3 बजे तक नींद आती थी। कुछ लोग तो ऐसे भी थे जिनके पूरे परिवार को यह डिसऑर्डर था।
Next Story
Top