Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

रमज़ान 2018: पाक महीने में बेहतर सेहत के लिए रखें इन बातों का ध्यान, रोज़ा होगा सफल

इस्लाम धर्म में रमजान को पाक महीना माना जाता है। रमजान में इस्लाम धर्म के लोग एक महीने तक रोजा रखते हैं। रोजा के दौरान वह दिनभर कुछ भी खाते-पीते नहीं है। सुबह के समय सहरी और रात में इफ्तार खाते हुए उनका ये पाक महीना बीतता है। रमजान में बच्चे से लेकर बड़े-बुजुर्ग तक रोजा रखते हैं।

रमज़ान 2018: पाक महीने में बेहतर सेहत के लिए रखें इन बातों का ध्यान, रोज़ा होगा सफल

इस्लाम धर्म में रमजान को पाक महीना माना जाता है। रमजान में इस्लाम धर्म के लोग एक महीने तक रोजा रखते हैं। रोजा के दौरान वह दिनभर कुछ भी खाते-पीते नहीं है। सुबह के समय सहरी और शाम में दिन ढलने समय इफ्तार खाते हुए उनका ये पाक महीना बीतता है। रमजान में बच्चे से लेकर बड़े-बुजुर्ग तक रोजा रखते हैं।

दिनभर बिना कुछ खाए-पिए रहना और फिर अचानक इफ्तार या सहरी खाने से सेहत पर बुरा असर पड़ सकता है। ज्यादा गर्मी और इकट्ठा खाना आपकी सेहत को नुकसान पहुंचा सकते हैं।

ऐसे में आज की इस रिपोर्ट में हम आपको बताने जा रहे हैं कि रोजे के दौरान किस तरह अपनी सेहत का ख्याल रखें। जानें किन बातों का ध्यान रखना चाहिए-

यह भी पढ़ें: 'पालक पनीर' नहीं घर पर बनाएं 'पनीर पालक रोटी', जानें रेसिपी

खाने में संतुलन

रोजा शाम को इफ्तार के साथ खोला जाता है। ऐसे में इफ्तार के समय उन्हीं चीजों को खाएं, जो चीजें आसानी से पच सकें। साथ ही फलों का भी सेवन करते रहें।

पर्याप्त नींद

रोजा रखने के दौरान बहुत जरूरी है कि आप पर्याप्त नींद लें। सुबह सहरी के कारण नींद पूरी नहीं होती है तो दिन में आराम जरूर करें। कोशिश करें कि ज्यादा थकान और भागदौड़ वाला काम न करें।

न हो डिहाइड्रेशन

ज्यादा गर्मी और दिनभर पानी भी न पीने की वजह से डिहाइड्रेशन हो सकता है। ऐसे में जब भी आप कुछ खाएं-पिएं तो ऐसी चीजों को खाएं जिससे आपकी बॉडी को पर्याप्त मात्रा में पानी मिल सके।

एक्सरसाइज करें

कुछ लोग व्रत या रोजा रहने के दौरान टहलना-घूमना या एक्सरसाइज करना बंद कर देते हैं। लेकिन इस दौरान 15-20 मिनट की गई एक्सरसाइज से टेंशन नहीं होती है।

Next Story
Top