Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

नहीं बन पा रहे माता-पिता तो IVF कराने से पहले डॉक्टर से पूछ लें ये सवाल

बीते कुछ सालों में आईवीएफ (IVF) और आईयूीआई (IUI) को लेकर लोगों में जागरूकता तो बढ़ी है, लेकिन इसके बाद भी कपल्स को यह समझ नहीं आता है कि उन्हें सेंटर में जाकर किस तरह के सवाल करने चाहिए।

नहीं बन पा रहे माता-पिता तो IVF कराने से पहले डॉक्टर से पूछ लें ये सवाल
X

प्रतीकात्मक तस्वीर

बदलती लाइफ स्टाइल और अन्य कई कारणों की असर महिलाओं और पुरुषों की फर्टिलिटी (Fertility) पर भी पड़ रहा है। कई महिलाएं नेचुरल तरीके से कंसीव कर लेती है। वहीं कई महिलाओं को प्रेग्नेंट (Pregnant) होने के लिए फर्टिलिटी सेंटर (Fertility Centre) का सहारा लेना पड़ता है। बीते कुछ सालों में आईवीएफ (IVF) और आईयूीआई (IUI) को लेकर लोगों में जागरूकता तो बढ़ी है, लेकिन इसके बाद भी कपल्स को यह समझ नहीं आता है कि उन्हें सेंटर में जाकर किस तरह के सवाल करने चाहिए। क्योंकि कहीं न कहीं मन में डर और थोड़ी हिचकिचाहट जरूर रहती है। यहां आपको कुछ टिप्स के बारे में बताया जा रहा है, जो आपके लिए मददगार साबित हो सकते हैं।

1- ऐसे करें बातचीत की शुरुआत

भारत में आईवीएफ क्लीनिक्स पर नजर रखने के लिए कोई संस्था नहीं है, ऐसे में इसका अंदाजा लगाना मुश्किल है कि उनकी सक्सेस रेट क्या है। ऐसे में एक्सपर्ट्स बताते हैं कि वर्तमान में प्रत्येक क्लिनिक की सटीक सफलता दर का पता लगाने का कोई संभावित तरीका नहीं है। लेकिन आपको जो याद रखने की जरूरत है वह यह है कि सफलता दर का मतलब वास्तव में जीवित जन्म दर है। इसलिए आप सवाल कर सकते हैं कि क्लीनिक और डॉक्टर की सक्सेस रेट क्या है।

2- आईवीएफ के लिए खुद को कैसे करें तैयार

आईवीएफ से आप पैरेंट्स बन सकते हैं, लेकिन इस दौरान आपके मन में सवाल चलते रहते हैं कि क्या करना चाहिए क्या नहीं, क्या पहली बार में ही कंसीव कर पाएंगी या नहीं। ऐसे में कपल्स को डॉक्टर से इस बारे में भी बात करनी चाहिए कि आप खुद को आईवीएफ के लिए कैसे तैयार कर सकते हैं और इसके लिए आपको क्या-क्या करना होगा।

3- आईवीएफ के दौरान किस तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है

आईवीएफ ट्रीटमेंट के दौरान डॉक्टर्स महिलाओं को हाई डोज और हार्मोनल दवाएं देते हैं। जिनके कुछ साइड इफेक्ट्स भी होते हैं। इसलिए आपको इस बारे में भी बात करनी चाहिए।

4- आईवीएफ फेलियर को लेकर भी कर सकते हैं बात

वैसे तो आईवीएफ का पॉजिटिव रेस्पॉस ही आता है, लेकिन कई महिलाएं पहली बार में कंसीव नहीं कर पाती है, जो कपल्स के लिए बेहद निराशाजनक और तनावपूर्ण हो जाता। इसलिए आपको हर पहलु पर बात करनी चाहिए। ताकि आप मानसिक रूप से इसके लिए तैयार रहें। इसके साथ ही आप कोस्ट के बारे में भी बात कर सकते हैं।

Next Story