Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

बीमारियों से बचना है तो ''हैंडबैग'' से रहें दूरः रिसर्च

इस रिसर्च में 145 हैंडबैग्स की जांच की गई।

बीमारियों से बचना है तो हैंडबैग से रहें दूरः रिसर्च
X
नई दिल्ली. आमतौर पर जब भी हम बाहर जाते हैं तो गंदगी हमारे मुंह तक न पहुंच पाए इसके लिए हम अपने चेहरे को कवर कर लेते हैं, लेकिन फिर भी हम अनेक बीमारियों से घिरे रहते हैं। क्योंकि आप इस बात से अनजान होते हैं कि आपके खुद के पास ऐसी कई चीजें हैं जो आपको नुकसान पहुंचा सकती है। जी हां- आप जिस पर्स का इस्तेमाल करते हैं आप उसी पर्स से बीमार भी पड़ते हैं। चलिए आपको बताते हैं पर्स किस हद तक आपको बीमार कर सकता है....
यह पढ़कर आपको बेशक अजीब लगे लेकिन यह सच है आपका पर्स आपको बीमार बना सकता है क्योंकि पर्स में बाकी जगहों से ज्यादा पाए जर्म्स पाए जाते हैं। एक नई रिसर्च के मुताबिक,90 फीसदी से अधिक पर्सों में बैक्टीरिया पाए जाते हैं, खासतौर पर महिलाओं के पर्स में ऐसा अधिक होती है। इस वजह से आपको कई तरह की भयानक बीमारी घेर लेती है।

रिसर्च में पाया गया है कि रसोई घर, टेबल और बाथरूम जैसी जगहों से पर्स में सबसे ज्यादा बैक्टीरिया पनपते हैं क्योंकि यह जगहें हमेशा बहुत साफ-सुथरी नहीं रहतीं। महिला और पुरुष दोनों में ही ट्रांसमिटिड डिसीज फैलाने का बड़ा जिम्मेदार उनका पर्स है। रिसर्च यह भी कहती है कि पुरुषों के मुकाबले महिलाओं के पर्स में अधिक बैक्टीरिया होते हैं।

मॉरिशस यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं द्वारा की गई इस रिसर्च में 145 पर्स की जांच की गई जिसमें से 80 पर्स महिलाओं के और 65 पुरुषों के थे। रिसर्च के नतीजों में पाया गया कि 95.2 पर्स में बैक्टीरिया थे। रिसर्च के दैरान यह बात भी सामने आई कि केवल 2.1 फीसदी महिलाएं महीने में एक बार भी अपना पर्स खाली नहीं करती। रिसर्च में यह बात भी सामने आई कि सिंथैटिक पर्स के मुकाबले लैदर पर्स में कम बैक्टीरिया होते हैं।

खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story