logo
Breaking

प्रोस्‍टेट कैंसर के कारण और लक्षण : सिर्फ पुरूषों को होती है ये जानलेवा बीमारी

प्रोस्‍टेट कैंसर (Prostate Cancer) पुरूषों में होने वाली एक गंभीर बीमारी (Disease) है। जिस तरह से स्तन कैंसर केवल महिलाओं को होता है। उसी तरह प्रोस्‍टेट कैंसर (Prostate Cancer) सिर्फ पुरूषों में ही पाई जाती है। क्योंकि प्रोस्‍टेट ग्रंथि पुरुषों में होती है, उम्र बढ़ने के साथ प्रोस्‍टेट कैंसर के होने की संभावना बढ़ जाती है। WHO यानि विश्व स्वास्थ्य संगठन की एक रिपोर्ट (Report) के मुताबिक, भारत में पिछले दो दशकों में प्रोस्‍टेट कैंसर के केसों में इजाफा देखा गया है। प्रोस्‍टेट कैंसर (Prostate Cancer) 60 से अधिक उम्र वाले पुरुषों के प्रोस्टेट ग्रंथि में होने की संभावना ज्यादा पाई जाती है। प्रोस्‍टेट कैंसर (Prostate Cancer) पुरूषों में आनुवांशिक रूप से भी हो सकती है।

प्रोस्‍टेट कैंसर के कारण और लक्षण : सिर्फ पुरूषों को होती है ये जानलेवा बीमारी
Prostate Cancer of Causes And Symptoms
प्रोस्‍टेट कैंसर (Prostate Cancer) पुरूषों में होने वाली एक गंभीर बीमारी (Disease) है। जिस तरह से स्तन कैंसर केवल महिलाओं को होता है। उसी तरह प्रोस्‍टेट कैंसर (Prostate Cancer) सिर्फ पुरूषों में ही पाई जाती है। क्योंकि प्रोस्‍टेट ग्रंथि पुरुषों में होती है, उम्र बढ़ने के साथ प्रोस्‍टेट कैंसर के होने की संभावना बढ़ जाती है। WHO यानि विश्व स्वास्थ्य संगठन की एक रिपोर्ट (Report) के मुताबिक, भारत में पिछले दो दशकों में प्रोस्‍टेट कैंसर के केसों में इजाफा देखा गया है। प्रोस्‍टेट कैंसर (Prostate Cancer) 60 से अधिक उम्र वाले पुरुषों के प्रोस्टेट ग्रंथि में होने की संभावना ज्यादा पाई जाती है। प्रोस्‍टेट कैंसर (Prostate Cancer) पुरूषों में आनुवांशिक रूप से भी हो सकती है।
आपको बता दें, प्रोस्टेट ग्रंथि अखरोट के आकार की एक ऐसी ग्रंथि होती है जो युरेथरा (पेशाब की नली) के चारों ओर होती है। इसका काम वीर्य में मौजूद एक द्रव्य पदार्थ का निर्माण करना होता है। अगर इसके लक्षणों को शुरूआती दौर में जान लिया जाए इसे गंभीर होने से बचाया जा सकता है। इसलिए आज हम आपको प्रोस्‍टेट कैंसर (Prostate Cancer) के कारण और लक्षण के बारे में बता रहे हैं। जिससे आप लक्षणों को पहचान कर इस बीमारी को गंभीर होने से रोक सकें।

प्रोस्‍टेट कैंसर के कारण (Prostate Cancer Causes)

1. आनुवांशिक होना (Genetic)

प्रोस्‍टेट कैंसर (Prostate Cancer) एक आनुवांशिक बीमारी की तरह भी हो सकती है। क्योंकि कई अध्ययनों में पाया गया है कि जिन परिवारो में ये बीमारी पहले से घर में थी, उनके घर के अन्य पुरूषों को प्रोस्‍टेट कैंसर (Prostate Cancer) का खतरा दूसरे पुरुषों की तुलना में अधिक पाया गया।

2. हार्मोनल लिंक (Harmonal LinK)

जिस तरह स्तन कैंसर (breast cancer) में हार्मोन्स में होने वाले बदलावों को मुख्य वजह माना जाता है। उसी तरह प्रोस्‍टेट कैंसर (Prostate Cancer) के बढ़ने में भी वसा हार्मोन का उत्पादन (Fat hormone production) और हमारी लाइफस्टाइल के मिलने से शरीर में उच्च आहार टेस्टोस्टेरोन (High diet testosterone) के उत्पादन (production) को बढ़ावा (Encouraged) मिलता है। जिससे प्रोस्‍टेट कैंसर (Prostate Cancer) का खतरा बढ़ जाता है।

3.आहार कारक (Diet factor)

कई शोध में पाया गया है कि जहां लोग मुख्य रूप से डेयरी उत्पादों (Dairy),चावल (Rice),सब्जियों (vegetables) मांस (meat) और सोयाबीन उत्पादों (Soya Products) का सेवन करते हैं। उन्हें भी प्रोस्‍टेट कैंसर (Prostate Cancer) होने का खतरा बना रहता है।

4. रसायनों (Chemicals) के संपर्क में आना

जो पुरूष अक्सर रसायनों (Chemicals) या धातु (Metal) कैडमियम संबंधित काम (बैटरी, वेल्डिंग) और रबड़ का काम करने वाले कारीगर (Rubber worker) लंबे समय तक करते हैं। उन्हें भी प्रोस्‍टेट कैंसर (Prostate Cancer) जैसी गंभीर बीमारी के शिकार होने की संभावना हमेशा बनी रहती है।

5. जीवनशैली (Lifestyle)

धूम्रपान (स्मोंकिग) और गलत खान-पान की आदतों, मोटापा और कैल्शियम का अधिक मात्रा में सेवन करना भी पुरूषों में प्रोस्‍टेट कैंसर (Prostate Cancer) की एक अहम वजह होती है। इसके साथ ही प्रोस्‍टेट कैंसर (Prostate Cancer) होने में में 40 साल से ज्यादा उम्र भी एक अहम भूमिका निभाती है। क्योंकि यह बहुत धीमी गति से बढ़ने वाला कैंसर है, लेकिन लोग अक्सर इससे अनजान रहते हैं।

प्रोस्‍टेट कैंसर के लक्षण (Prostate Cancer Symptoms)

1. पेशाब करने में समस्‍या (Problems in urinating)

अगर आपको दिन में कई बार पेशाब करने में परेशानी यानि तकलीफ होती है या दर्द महसूस होता है, तो प्रोस्‍टेट कैंसर (Prostate Cancer) को एक मुख्य लक्षण है। प्रोस्‍टेट कैंसर (Prostate Cancer) होने पर रात में बार-बार पेशाब जाना, अचानक से पेशाब निकल आना, पेशाब रोकने में समस्‍या, आदि लक्षण दिखाई देते हैं। ऐसे लंबे समय तक होने पर इसे नजरअंदाज न करें और डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

2.त्‍वचा में बदलाव (Skin changes)

अगर कुछ दिनों से आपको अपने चेहरे की त्वचा के साथ-साथ शरीर के अन्य हिस्सों की त्वचा में असामान्य रूप से परिवर्तन दिखाई दे रहा है या त्वचा सांवली या काली पड़ने लगी है तो सतर्क हो जाइए और डॉक्टर से संपर्क जरूर करें। क्योंकि ये प्रोस्‍टेट कैंसर (Prostate Cancer) का एक लक्षण है।

3.खून निकलना (Getting Out of Blood)

अगर अक्सर आपको पेशाब के साथ खून आता है। इसके अलावा मल के साथ भी खून आ रहा है। प्रोस्‍टेट कैंसर के अलावा कोलेन, किडनी, ब्‍लैडर कैंसर में भी खून निकलता है। लगातार पेशाब और मलाशय से खून का निकलना भी प्रोस्‍टेट कैंसर (Prostate Cancer) का लक्षण हो सकता है। वैसे यह समस्‍या 50 की उम्र के बाद होती है, लेकिन वर्तमान लाइफस्‍टाइल के कारण यह किसी भी उम्र में हो सकती है।

4.टेस्टिकल्‍स में बदलाव (Changes in Testicle)

हालांकि टेस्टिकल्‍स में बदलाव टेस्टिकुलर कैंसर का संकेत हो सकता है। लेकिन प्रोस्‍टेट ग्रंथि में ही टेस्टिक्‍स होते हैं जो प्रोस्‍टेट कैंसर के कारण बदल सकते हैं। अगर आपके टेस्टिकल्‍स का आकार बढ़ रहा है तो इसे नजरअंदाज न करें। इसके आलवा टेस्टिकल्‍स में किसी भी तरह का बदलाव प्रोस्‍टेट कैंसर (Prostate Cancer) से जुड़ा हो सकता है। अपने टेस्टिकल्‍स की नियमित रूप से जांच कीजिए, टेस्टिकल्‍स की जांच आप स्‍वयं कर सकते हैं। अगर आपको किसी भी प्रकार का बदलाव दिखे तो इसकी जांच करायें।

5.वजन कम होना और पीठ दर्द होना (Weight loss and Back pain)

अगर बिना किसी कारण अचानक से आपका वजन कम होने लगा है। तो ये आपके शरीर में प्रोस्‍टेट कैंसर (Prostate Cancer) होने का एक मुख्य लक्षण हो सकता है। क्योंकि प्रोस्‍टेट कैंसर (Prostate Cancer) होने पर खाना अच्‍छे से नहीं पचता और पाचन क्रिया भी सही तरीके से काम नहीं करती है, जिसके कारण शरीर का वजन कम होने लगता है। इसके अलावा लगातार लंबे समय तक पीठ में दर्द रहना भी प्रोस्‍टेट कैंसर (Prostate Cancer) का एक लक्षण है।
Share it
Top