Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

विश्व तंबाकू दिवस: भारत में हर घंटे में 114 लोगों की हो रही मौत

विश्व स्वास्थ्य संगठन की रिपेार्ट के मुताबिक महिलाओं में तंबाकू के सेवन का आंकड़ा निरंतर बढ़ता जा रहा है।

विश्व तंबाकू दिवस: भारत में हर घंटे में 114 लोगों की हो रही मौत
X

नई दिल्ली. दुनिया भर में 31 मई को विश्व तंबाकू निषेध दिवस के रुप में मनाया जाता है। दैनिक जागरण की जानकारी के अनुसार भारत में प्रतिघंटा आैसतन 114 लोग और 24घंटे में 2800 लोग तंबाकू व अन्य धूम्रपान उत्पादों के प्रयेाग से हुए कैंसर सहित अन्य बीमारियों से दम तोड़ देते है। तम्बाकू उत्पादो के प्रयोग के इस भयावह आंकडे के मददेनजर विश्व स्वास्थ्य संगठन ने 2016 की थीम तंबाकू उत्पादों पर प्लेन पैकेजिंग रखी है। आंकड़ों के अनुसार एक सिगरेट जिंदगी के ११ मिनट आैर पूरा पैकेट तीन घंटे चालीस मिनट तक छीन लेता है। वंही प्रति ६ सैंकड में दुनिया में एक इंसान काे तम्बाकू लील जाती है।

राजस्थान में साल 2010 में वैश्विक व्यस्क तंबाकू सर्वेक्षण के अनुसार राजस्थान में 32 प्रतिशत यानि करीब डेढ करोड़ लोग किसी ना किसी रुप में तंबाकू का सेवन करतें है और इनमें से लाखों तंबाकू से संबधित रोगों के कारण प्रतिवर्ष मृत्यु को प्राप्त होते है। जबकि भारत में 48 फीसदी पुरुष और 20 फीसदी महिलाएं किसी न किसी रुप में तंबाकू का प्रयोग करते है।

विश्व स्वास्थ्य संगठन की रिपेार्ट ग्लोबल टोबेको एपिडेमिक पर अगर नजर डाले तो पता चलता है कि महिलाओं में तंबाकू के सेवन का आंकड़ा निरंतर बढ़ता जा रहा है। इनमें किशोर किशोरियां भी शामिल है। जब 2010 में यह सर्वे हुआ तब 37 प्रतिशत लोग किसी न किसी रुप में तंबाकू का सेवन कर रहे थे और आज2016 में यह आंकड़ा बड़े पैमाने पर बढ़ा होगा। हालांकि गैटस का सर्वे भारत में 2016 में होना प्रस्तावित है।

औसतन धम्रपान करने वाले व्यक्ति की आयु धूम्रपान करने वाले व्यक्ति की तुलना में 22 से 26 प्रतिशत तक घट जाती है। राजस्थान राज्य में प्रतिदिन लगभग 250 नए तंबाकू उपभोक्ता तैयार होते हैं। राज्य में किशोरों में तंबाकू का सेवन शुरु करने की औसत आयु 17साल है जबकि किशोरियों में यह आयु मात्र 14 साल है। यह बेहद गंभीर समस्या है कि प्रतिवर्ष लगभग 72 हजार राजस्थानी आबादी तंबाकू के कारण समय से पहले मौत की शिकार हो जाती है। वैश्विक वयस्क तंबाकू सर्वेक्षण-भारत 2010 (जीएटीएस) के अनुसार रोकी जा सकने योग्य मौतों आैर बीमारियों में सर्वाधिक मौतें एवं बीमारियां तंबाकू के सेवन से होती हैं। विश्व में प्रत्येक १० में से एक वयस्क की मृत्यु के पीछे तंबाकू सेवन ही है।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story