Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

पैनिक अटैक के लक्षण और उपचार

पैनिक अटैक एक ऐसा दौरा होता है, जो व्यक्ति को कभी भी कहीं भी आ सकता है। यह अटैक इतना अचानक होता है कि कई बार लोगों को समझ ही नहीं आता है कि वह ऐन वक्त में मरीज के साथ क्या करें। जबकि आजकल की दिनचर्या को देखते हुए यह कहना गलत नहीं होगा कि यह अटैक कभी भी और कहीं भी आ सकता है, इसलिए हमें इस बारे में सभी जरूरी जानकारी पता होनी चाहिए। पैनिक अटैक 15 सेकंड से लेकर 1 घंटे की अवधि तक भी रहता है। कहा जाता है कि पैनिक अटैक का अनुभव, किसी व्यक्ति की जिंदगी के सबसे भयावह, कष्टप्रद और असहज अनुभवों में से एक होता है।

पैनिक अटैक के लक्षण और उपचार

Panic Attack : पैनिक अटैक (Panic Attack) एक ऐसा दौरा होता है, जो व्यक्ति को कभी भी कहीं भी आ सकता है। यह अटैक इतना अचानक होता है कि कई बार लोगों को समझ ही नहीं आता है कि वह ऐन वक्त में मरीज के साथ क्या करें। जबकि आजकल की दिनचर्या को देखते हुए यह कहना गलत नहीं होगा कि यह अटैक कभी भी और कहीं भी आ सकता है, इसलिए हमें इस बारे में सभी जरूरी जानकारी पता होनी चाहिए। पैनिक अटैक 15 सेकंड से लेकर 1 घंटे की अवधि तक भी रहता है। कहा जाता है कि पैनिक अटैक का अनुभव, किसी व्यक्ति की जिंदगी के सबसे भयावह, कष्टप्रद और असहज अनुभवों में से एक होता है। आज हम आपको पैनिक अटैक के लक्षण और उसके उपचार बता रहे हैं।

क्या हैं अटैक के लक्षण

पैनिक अटैक एक संवेदनशील तंत्रिका तंत्र (एसएनएस) की प्रतिक्रिया है। सबसे सामान्य लक्षणों में कंपन, सांस लेने में कठिनाई, दिल का तेजी से धड़कना, सीने में जकड़न, हॉट फ्लैश, कोल्ड फ्लैश, जलन का अनुभव, पसीना, मिचली, चक्कर आना, सिर में हल्कापन महसूस होना, सांसें तेज चलना, सांसों में रुकावट या दम घुटने की अनुभूति और मस्तिष्‍क में कमजोरी शामिल हैं। पैनिक अटैक के दौरान आपके शरीर अधिक ऑक्‍सीजन और जल्‍दी-जल्‍दी सांस लेने की कोशिश करता है। यह यकीनन बहुत ही अप्रिय स्थिति है। लेकिन घबराइए नहीं, क्‍योंकि कई घरेलू उपचार की मदद से प्रभावी ढंग से पैनिक अर्टक के लक्षणों से राहत पाई जा सकती हैं।

बहुत फायदेमंद है बादाम

बादाम में पोटेशियम, कैल्शियम और मैग्नीशियम जैसे महत्वपूर्ण पोषक तत्वों और मिनरल प्रचुर मात्रा में पाये जाते हैं, जो नर्वस सिस्‍टम के कामकाज में सुधार करने के साथ आपके मस्तिष्‍क को स्‍वस्‍थ रखने में मदद करते हैं। इसके अलावा यह पैनिक अटैक को रोकने में भी मदद करता है। इसे इस्‍तेमाल करने के लिए 15 बादाम को रातभर पानी में भिगोकर छोड़ दें। अगले दिन सुबह बादामों को छीलकर इसका पेस्‍ट बना लें। इसे पेस्‍ट को गर्म दूध में मिलाकर स्‍वानुसार चीनी मिला लें। पैनिक अटैक से राहत पाने के लिए हर सुबह इस औषधि का सेवन करें।

ग्रीन टी के फायदे

ग्रीन टी में एंटीऑक्‍सीडेंट और पॉलीफिनॉल मस्तिष्‍क को तनाव कम करने और मोनोमाइन ऑक्सीडेज की गतिविधि को कम कर मस्तिष्क की कोशिकाओं और ऊतकों के स्वास्थ्य में मदद करता है। साथ ही पॉलीफिनॉल पैनिक अटैक से जुड़े तनाव को कम करने में भी मदद करता है। सामाजिक कारकों के कारण होने वाले पैनिक अटैक को कम करने के लिए आपको ग्रीन टी का सेवन करना चाहिए। अधिक लाभ पाने के लिए ग्रीन टी के कम से कम तीन कप पीने चाहिए।

संतरा करता है तुरंत फायदा

विटामिन से भरपूर होने के कारण रक्‍तचाप को बनाये रखने के साथ पैनिक अटैक को कम करने में मदद करता है। संतरा पैनिक अटैक के दौरान न्‍यूरॉन्‍स को शांत करने में मदद करता है। इसके अलावा यह सुखदायक प्रभाव प्रदान कर पैनिक अटैक को रोकने में मदद करता है।

किसी वरदान से कम नहीं है सालमन

समुद्री आहार ओमेगा-3 फैटी एसिड का सबसे अच्‍छा स्रोत है और सालमन मछली में सबसे ज्‍यादा ओमेगा-3 फैटी एसिड होता है। मस्तिष्क के विभिन्न हिस्‍सों में बहने वाले असममित रक्त प्रवाह को पैनिक अटैक के लिए दोषी माना जाता है। लेकिन सालमन जैसे खाद्य पदार्थ मस्तिष्क के कामकाज को बनाए रखने के लिए ऑक्सीजन, ग्लूकोज और अन्य महत्वपूर्ण पोषक तत्वों की आवश्यक राशि मस्तिष्क की कोशिकाओं को प्रदान करते हैं।
Next Story
Share it
Top