Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Monsoon Tips: पानी पूरी खाने के हैं शौकीन तो हो जाइए सावधान! स्ट्रीट फूड खाने से हो सकती है ये खतरनाक बीमारी

मानसून (Monsoon) गर्मी से राहत के साथ ही कई मौसमी बीमारियों (Seasonal Diseases) को भी लेकर आता है, इन बीमारियों में सर्दी-जुखाम (Cold), डायरिया(Diarrhoea) , डेंगू-मलेरिया और टाइफाइड (Typhoid) जैसी गंभीर बीमारियां शामिल है।

Monsoon Tips: पानी पूरी खाने के हैं शौकीन तो हो जाइए सावधान! स्ट्रीट फूड खाने से हो सकती है ये खतरनाक बीमारी
X

मानसून (Monsoon) गर्मी से राहत के साथ ही कई मौसमी बीमारियों (Seasonal Diseases) को भी लेकर आता है, इन बीमारियों में सर्दी-जुखाम, डायरिया (Diarrhoea), डेंगू (Dengue), मलेरिया (Malaria) और टाइफाइड (Typhoid) जैसी गंभीर बीमारियां शामिल है। जिस तरह धीरे-धीरे डेंगू और मलेरिया के मामलों में इजाफा हो रहा है, वैसे ही टाइफाइड भी अपना आतंक फैलाए हुए है। बता दें कि स्वास्थ्य विभाग ने टाइफाइड के फैलने के पीछे सभी के खासकर की महिलाओं के पसंदीदा स्ट्रीट फूड पानी पूरी को जिम्मेदार ठहराया है। बता दें कि मई महीने में तेलंगाना में टाइफाइड के 2,700 मामले सामने आए थे, वहीं जून में 2752 केस सामने आए।

स्ट्रीट फूड के कारण फैल रहा टाइफाइड?

दरअसल डॉक्टर्स का मानना है कि लोगों को पानी पूरी (Pani Puri) खाने से जितना हो सके बचना चाहिए। पानी पूरी बेचने वाले दुकानदारों को भी स्वच्छता का ध्यान रखना चाहिए और दूषित पानी का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए, बता दें कि मानसून में मच्छरों के पनपने के लिए भी अनुकूल वातावरण होता है। इसलिए अपने घरों के आसपास खुले में पानी जमा ना होने दें और कूलर में भरे पानी की भी सफाई करते रहें। मच्छर मौसमी बीमारियों जैसे मलेरिया, डायरिया और वायरल फीवर के मुख्य कारण हैं।

जानें टाइफाइड के लक्षण (Typhoid Symptoms)

टायफायड के रोगियों को बैक्टीरिया के संपर्क में आने के लगभग 1-3 सप्ताह बाद लक्षण दिखाई देते हैं। गंभीरता के आधार पर रोग की अवधि 3 से 4 सप्ताह तक भी हो सकती है। टाइफॉइड के कुछ प्रमुख लक्षण इस प्रकार हैं- सिरदर्द, कब्ज या डायरिया, तेज बुखार (103° फेरेनहाइट), भूख ना लगना, लिवर और स्प्लीन का बढ़ जाना, सीने पर लाल रंग के निशान, थकान, ठंड लगना, दर्द और कमजोरी महसूस होना, पेट में दर्द आदि।

मानसून की मौसमी बीमारियों से बचाव के लिए इन बातों का रखें ख्याल

पर्सनल हाइजीन (Personal Hygiene)

मानसून महीने में आपको अपनी पर्सनल हाइजीन पर विशेष ध्यान देना है, खाना खाने से पहले और वाशरूम से आने के बाद अपने हाथों को अच्छी तरह से धोना बिल्कुल न भूलें। खांसते और छींकते समय अपने मुंह को ढकलें और आंख व नाक को हाथ लगाने से बचें।

साफ पानी पिएं (Drink Clean Water)

हमेशा यह सुनिश्चित करें की आपका पीने वाला पानी साफ हो, पानी को पीने से पहले अच्छी तरह से उबाल लें। खुले हुए पानी की जगह हमेश पैक्ड बंद बोतल से ही पानी पीएं, गंदा पानी पीने की वजह से आपको डायरिया हो सकता है।

स्ट्रीट फूड खाने से बचें (Avoid Street Food)

मानसून में पानी पूरी, समोसा, चाट-पकोड़ा जैसे स्ट्रीट फूड को खाने के मन करता है, यह सभी चीजें आपको स्वाद में भले ही बहुत पसंद आएं लेकिन सेहत के लिए बहुत हानिकारक हैं। ऐसे में जितना हो सके घर का बना साफ और शुद्ध खाना ही खाएं।

मच्छरों से करें बचाव (Protect From Mosquitoes)

मच्छरों से बचने के लिए अपने घर के सभी खिड़की और दरवाजों को बंद करके रखें, सोते वक्त मच्छर भागने वाली क्रीम लगाकर सोएं। जितना हो सके फुल स्लीव्स के कपड़े पहनें।

और पढ़ें
Next Story