Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

13 फीसदी भारतीय मोटापे से ग्रसित, फास्ट फूड ने दी ये बीमारीः रिपोर्ट

चेन्नई स्थित मद्रास डायबिटीज रिसर्च फाउंडेशन के डॉ राजेंद्र प्रदीप ने कहा कि कमर के आकार में वृद्धि उम्र में कमी का संकेत है।

13 फीसदी भारतीय मोटापे से ग्रसित, फास्ट फूड ने दी ये बीमारीः रिपोर्ट

नई दिल्ली. भारत में मोटापे की समस्या लगातार बढ़ रही है और भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) के एक अध्ययन में कहा गया है कि यह परेशानी महामारी का रूप ले सकती है। एक महत्वपूर्ण अध्ययन में कहा गया है कि देश की 1.2 अरब की आबादी में से करीब 13 फीसदी लोग मोटापे से पीड़ित हो सकते हैं। यह विडंबना ही है क्योंकि हाल तक देश में कुपोषण एक बड़ी समस्या रहा है। अब ऐसा लगता है कि मोटापा कुपोषण पर हावी होता जा रहा है। विभिन्न अस्पतालों के 16 विशेषज्ञों के एक अनुसंधान दल ने कहा है कि पहले गरीबी की वजह से कुपोषण का संकट छाया रहा और अब मोटापा उसकी जगह लेता जा रहा है।

डेंगू से निबटने को टीम तैयार, अस्पतालों में अतिरिक्त डॉक्टर व अर्द्धचिकित्साकर्मी होंगे तैनात

मोटापा या सामान्य से अधिक वजन होने की समस्या दरकिनार भले ही कर दी जाए लेकिन यह जीवनशैली के कारण होने वाली बीमारियों जैसे मधुमेह, रक्तचाप, आघात और दिल की बीमारी का खतरा बढ़ाने वाला एक कारक हो सकती है। चेन्नई स्थित मद्रास डायबिटीज रिसर्च फाउंडेशन के डॉ राजेंद्र प्रदीप ने कहा कि कमर के आकार में वृद्धि उम्र में कमी का संकेत है। डा प्रदीप अध्ययन के प्रमुख लेखक हैं। आईसीएमआर के वित्तपोषण से किए गए इस अध्ययन में भारत में वजन बढ़ने का मुख्य कारण बढ़ते शहरीकरण, मशीनीकृत परिवहन का उपयोग, फास्ट फूड का सेवन, लंबे समय तक टीवी देखना और ऐसी चीजों का अधिक सेवन है जिनमें पोषक गुण कम होते हैं। आईसीएमआर की महानिदेशक डॉ सौम्या स्वामीनाथन ने बताया कि वर्तमान में भारत में स्वास्थ्य पर असर डालने वाले मुख्य कारक उच्च रक्त चाप तथा अत्यधिक रक्त शर्करा आदि हैं।

70 गुजराती नाविक यमन में फंसे, भारत सरकार निकालने के प्रयास में जुटी

संस्थान के अध्ययन 'द इंडिया डायबिटीज स्टडी' में कहा गया है कि 15.3 करोड़ लोग मोटापे की समस्या से पीड़ित हो सकते हैं और यह संख्या अमेरिका की आबादी की लगभग आधी है। इस अध्ययन में कमर के 90 सेमी से अधिक नाप वाले पुरूषों और 80 सेमी से अधिक नाप वाली महिलओं को सामान्य से अधिक वजन वाले बताया गया है। अध्ययन में कहा गया है कि कम से कम 8.8 करोड़ भारतीय मोटापे के शिकार हो सकते हैं और जल्द ही उनका वजन सामान्य से अधिक हो सकता है। इसका मतलब है कि हर पांचवे भारतीय का वजन अधिक है।

केंद्रीय मंत्री डा. महेश शर्मा ने दिया विवादित बयान, कहा- किताबों में गीता-रामायण अनिवार्य

नीचे की स्लाइड्स में पढें, खबर से जुड़ी अन्य जानकारी -

खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-

Next Story
Top