Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

नाइट शिफ्ट के नुकसान : कैंसर, हार्ट अटैक समेत होती हैं ये जानलेवा बीमारियां

विदेशों की तरह ही भारत में भी अब हर शिफ्ट यानि नाइट शिफ्ट में काम करना बेहद कॉमन हो गया है। जिसका असर लोगों की सेहत पर साफ तौर पर देखा जा सकता है। नाइट शिफ्ट में काम करने पर सबसे पहले लोगों की नींद प्रभावित होती है। जिसकी वजह से शरीर में अन्य रोग पनपने लगते हैं। नाइट शिफ्ट में काम करने से सिर्फ नींद पर ही बुरा असर नहीं पड़ता बल्कि हमारे पाचन तंत्र, अचानक से वजन घटना या बढ़ना, सिरदर्द की समस्या के साथ ही कैंसर जैसे गंभीर रोग भी होने लगते हैं। ऐसे में अगर आपको एक हेल्दी लाइफ जीनी है, तो सबसे पहले नाइट शिफ्ट में काम करना कम या बंद करें।

नाइट शिफ्ट के नुकसान : कैंसर, हार्ट अटैक समेत होती हैं ये जानलेवा बीमारियां
X

Night Shift Disadvantage in hindi

विदेशों की तरह ही भारत में भी अब हर शिफ्ट यानि नाइट शिफ्ट (Night Shift) में काम करना बेहद कॉमन हो गया है। जिसका असर लोगों की सेहत पर साफ तौर पर देखा जा सकता है। नाइट शिफ्ट (Night Shift) में काम करने पर सबसे पहले लोगों की नींद प्रभावित होती है। जिसकी वजह से शरीर में अन्य रोग पनपने लगते हैं। नाइट शिफ्ट (Night Shift) में काम करने से सिर्फ नींद पर ही बुरा असर नहीं पड़ता बल्कि हमारे पाचन तंत्र, अचानक से वजन घटना या बढ़ना, सिरदर्द की समस्या के साथ ही कैंसर जैसे गंभीर रोग भी होने लगते हैं। ऐसे में अगर आपको एक हेल्दी लाइफ जीनी है, तो सबसे पहले नाइट शिफ्ट (Night Shift) में काम करना कम या बंद करें। इसलिए आज हम आपको नाइट शिफ्ट के नुकसान (Night Shift Disadvantage) और नाइट शिफ्ट (Night Shift) की वजह से होने वाले रोगों के बारे में बता रहे हैं। जिससे आप समय रहते ही अपनी सेहत का ख्याल रख सकें।

नाइट शिफ्ट के नुकसान :

1. नाइट शिफ्ट के नुकसान : DNA को पहुंचता है नुकसान

एनेस्थेसिया जर्नल में प्रकाशित एक शोध के मुताबिक, लगातार लंबें समय तक नाइट शिफ्ट में काम करने वाले लोगों की सेहत के साथ ही शरीर के
DNA को भी बेहद नुकसान पहुंचता है। शोध में 49 चिकित्सकों के विभिन्न समय पर लिए गए रक्त के नमूनों का अध्ययन किया। निष्कर्ष में सामने
आया कि रोजाना नाइट शिफ्ट करने वाले लोगों के DNA की मरम्मत की गति धीमी पड़ गई और इनके नाइट शिफ्ट नहीं करने वालों की तुलना में
ज्यादा नुकसान पहुंचा है।

2. नाइट शिफ्ट के नुकसान : नींद कम आने की बीमारी (अनिद्रा)

जो लोग रोजाना नाइट शिफ्ट में काम करते हैं। उन्हें अनिद्रा यानि इन्सोमेनिया नामक बीमारी होना एक कॉमन बात है। इसके साथ ही हांगकांग
विश्वविद्यालय के सियू वेई चोई के मुताबिक, रात को न सोने पर शरीर में ऐसी समस्याएं आ सकती हैं, जो गंभीर रोगों की वजह बन सकती हैं।

3. नाइट शिफ्ट के नुकसान : स्‍ट्रेस हॉर्मोन में होती है बढ़ोतरी

नाइट शिफ्ट में काम करने वालें लोगों की रात की नींद पूरी न होने की वजह से अक्सर चिड़चिड़ापन, गुस्सा और तनाव जैसी समस्या देखी जाती है। यही नहीं, शरीर में स्ट्रेस हॉर्मोन में बढ़ोतरी होती है। जिसकी वजह से नींद में खर्राटे आना और ब्लड प्रेशर जैसी अन्य गंभीर रोगों के होने का खतरा बढ़ जाता है।

4. नाइट शिफ्ट के नुकसान : पाचन तंत्र होता है प्रभावित

रोजाना नाइट शिफ्ट में काम करने वाले लोगों के वक्त-बेवक्त खाना खाने की आदत की वजह से अक्सर पाचन तंत्र और पेट से जुड़े बीमारियों का शिकार रहते हैं और दिनभर सिरदर्द,कब्ज,बदहजमी आदि परेशानियों का सामना करना पड़ता है। इसके साथ ही एक शोध में पाया गया कि रात में कई बार स्नैक्स खाने के कारण वजन बढ़ने लगता है और शरीर के कई हिस्सों में दर्द होने लगता है।

5. नाइट शिफ्ट के नुकसान : कैंसर, दिल के रोग और डायबिटीज

नाइट शिफ्ट में काम करने से शरीर की बॉडी क्लॉक पर बुरा असर पड़ता है। जिसकी वजह से शरीर की प्रतिरोधक क्षमता कम होने लगती है, जिससे डायबिटीज, कैंसर, दिल की बीमारी होने का खतरा हमेशा बना रहता है।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story