Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

New year 2022: पैरेंट्स अपने बच्चों को इन रेजॉल्यूशन के लिए करें मोटिवेट

नए साल पर आप अपने लिए रेजोल्यूशन लेते हैं, जिससे लाइफ में पॉजिटिव चेंज आएं और जिंदगी संवरे। ठीक इसी तरह बच्चों के लिए भी रेजॉल्यूशन लेना जरूरी है। उन्हें भी आप कुछ ऐसे रेजॉल्यूशन लेने के लिए मोटिवेट करें, जो उनके बेहतर फ्यूचर के लिए जरूरी हैं।

New year 2022: पैरेंट्स अपने बच्चों को इन रेजॉल्यूशन के लिए करें मोटिवेट
X

प्रतीकात्मक तस्वीर

Best New Year Resolution 2022: रेजॉल्यूशन (Resolution) का मतलब है, खुद से किया गया वादा। अगर हम अपने आप से किसी काम या आदत को लेकर वादा करते हैं कि उसमें बदलाव लाएंगे तो इससे हमारे भीतर सेल्फ कंट्रोल आता है। सेल्फ कंट्रोल से हमारी पर्सनालिटी संवरती है, बिहेवियर सुधरता है, लाइफ पॉजिटिव बनती है। तभी तो नए साल की शुरुआत पर ज्यादातर लोग रेजॉल्यूशन लेते हैं। लेकिन रेजॉल्यूशन सिर्फ बड़ों को ही नहीं लेना चाहिए, बच्चों को भी लेना चाहिए, ये उनके बेहतर भविष्य के लिए जरूरी है। तो नए साल की शुरुआत पर उसे कुछ जरूरी रेजॉल्यूशन लेने के लिए मोटिवेट करें।

वीडियो गेम-गैजेट्स का लिमिटेड यूज

आजकल वीडियो गेम, गैजेट्स में बच्चों का इंवॉल्वमेंट बढ़ता ही जा रहा है। जबकि एक लिमिट तक ही इनका यूज किया जाना सही है, वरना यह एडिक्शन में बदल जाता है। लेकिन कई बच्चे अपना पूरा समय और ध्यान इन पर ही देते हैं, जिससे उनकी पढ़ाई, हेल्थ पर बुरा असर पड़ता है। इसलिए जरूरी है, नए साल पर अपने बच्चे से गैजेट्स, वीडियो गेम का लिमिटेड यूज करने का रेजॉल्यूशन लेने को कहें। ऐसा आप क्यों कर रही हैं, यह भी उसे प्यार से समझाएं ताकि वह अपना हित समझे।

हेल्दी ईटिंग पर भी ध्यान

गैजेट्स के ज्यादा यूज के अलावा आजकल के बच्चों में जंकफूड खाने की आदत भी बहुत पड़ गई है। शहरी बच्चों में तो यह ईटिंग हैबिट ज्यादा ही दिखती है। इसके लिए बच्चे कई बार बहुत जिद भी करते हैं। लेकिन बच्चों की ईटिंग हैबिट्स को सही रखना जरूरी है। इसलिए दूसरा जो रेजॉल्यूशन बच्चे को न्यूईयर पर लेना चाहिए, वो है हेल्दी ईटिंग। हां, आप उसे कभी-कभार बाहर का खाना खाने की परमिशन दे सकती हैं, लेकिन जो भी आप घर पर हेल्दी खाना बनाती हैं, उसे खाने को कहें, इसकी आदत डालें। अगर वह ऐसा ना करे तो उसे उसका रेजॉल्यूशन याद दिलाएं। ऐसा करने पर उसमें जरूर सुधार आएगा।

क्रिएटिविटी पर फोकस

बच्चों को सिर्फ पढ़ाई पर ही फोकस नहीं करना चाहिए। उन्हें क्रिएटिव बनने की तरफ भी कदम बढ़ाना चाहिए। इसके लिए आप बच्चे से पूछ सकती हैं कि उसका इंट्रेस्ट किस चीज में है। अगर वह डांस, सिंगिंग पसंद करता है तो उसे कोई डांस, म्यूजिक क्लास ज्वाइन कराएं। साथ ही इस कोर्स को पूरा करने का रेजॉल्यूशन उससे लेने को कहें। क्योंकि कई बार बच्चे किसी एक काम को करते हुए ऊब से जाते हैं, आगे उसे करते नहीं हैं। लेकिन जब बच्चा डांस, म्यूजिक या किसी दूसरी आर्ट की ट्रेनिंग पूरा करने का रेजॉल्यूशन लेगा तो उसे जरूर पूरा करेगा और अपनी एक पहचान भी बनाएगा।

इन बातों को भी आजमाएं

- रूटीन को फॉलो करने का रेजॉल्यूशन भी जरूरी है। समय पर सोना-जागना, सभी दूसरे काम करने की आदत भी बच्चों में होनी चाहिए।

- अगर कभी बच्चा उदासी महसूस करे तो उससे कहें कि वह डायरी में पॉजिटिव बातें लिखने का रेजॉल्यूशन ले। कहने का मतलब है कि जो भी उसके साथ दिन भर में अच्छा हुआ है, उसे लिखने की आदत डाले, इससे बच्चे में पॉजिटिविटी बढ़ेगी।

आप भी इन सभी रेजॉल्यूशन को नए साल पर अपने बच्चे को लेने के लिए कहें। इससे वह खुद को बेहतर बना पाएगा, जो उसके उज्ज्वल भविष्य के लिए जरूरी है।

पैरेंट्स को बनना चाहिए आइडल

ऐसा भी नहीं है कि आपने कहा और बच्चे ने जो रेजॉल्यूशन लिए हैं, वह उन्हें पूरा करेगा। ऐसा तभी होगा, जब वह देखेगा कि आपने जो रेजॉल्यूशन खुद लिए हैं, उन्हें पूरा कर रही हैं। जब आप उसके लिए आइडल बनेंगी तो वह भी अपने रेजॉल्यूशन को पूरा करेगा।


Next Story