Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

Chaitra Navratri : मां दुर्गा को करना है नवरात्रि में प्रसन्न, तो इन खास चीजों जरूर का लगाएं भोग

चैत्र नवरात्रि 2019 (Chaitra Navratri 2019) आने में अब कुछ ही दिन बचे हैं। इस बार चैत्र नवरात्र 6 अप्रैल से शुरू हो रहे हैं। आमतौर पर नवरात्रि के नौ दिनों तक लोग रोजाना मां दुर्गा को अलग-अलग पकवानों और व्यंजनों का भोग लगाना पसंद करते हैं, लेकिन क्या आप जानते हैं कि मां को किन चीजों का भोग लगाना शुभ होता है। अगर नहीं, तो आज हम आपको नवरात्रि के नौ दिनों के लिए 9 तरह के भोग बनाना बता रहे हैं। जिससे आप मां का आशीर्वाद और कृपा को आसानी से पा सकें।

Chaitra Navratri  : मां दुर्गा को करना है नवरात्रि में प्रसन्न, तो इन खास चीजों जरूर का लगाएं भोग

Navratri 2019 Chaitra Navratri Recipes navratri-nine-days-Special Bhog in hindi

Chaitra Navratri : चैत्र नवरात्रि 2019 (Chaitra Navratri 2019) आने में अब कुछ ही दिन बचे हैं। इस बार चैत्र नवरात्र 6 अप्रैल से शुरू हो रहे हैं। आमतौर पर नवरात्रि के नौ दिनों तक लोग रोजाना मां दुर्गा को अलग-अलग पकवानों और व्यंजनों का भोग लगाना पसंद करते हैं, लेकिन क्या आप जानते हैं कि मां को किन चीजों का भोग लगाना शुभ होता है। अगर नहीं, तो आज हम आपको नवरात्रि के नौ दिनों के लिए 9 तरह के भोग बनाना बता रहे हैं। जिससे आप मां का आशीर्वाद और कृपा को आसानी से पा सकें ।

नवरात्रि के 9 दिनों में इन चीजों का भोग लगाना होगा शुभ :

1. नवरात्रि के पहले दिन मां शैलपुत्री की पूजा की जाती है। इस दिन मां शैलपुत्री को देशी घी या देशी घी से बने व्यंजनों का भोग लगाना बेहद शुभ होता है। क्योंकि देशी घी या घी में बने प्रसाद का भोग लगाने से शरीर रोग मुक्त बनता है अर्थात् आरोग्य की प्राप्ति होती है।
2. नवरात्रि के दूसरे दिन मां ब्रहमचारिणी का पूजन किया जाता है। इस दिन मां को सफेद रंग के मीठे का भोग लगाया जाता है। जिसमें आप चीनी के अलावा दूध से बने व्यंजनों का भोग लगाने से आयु में वृद्धि होती है।
3. नवरात्रि के तीसरे दिन मां चन्द्रघंटा की पूजा-अर्चना की जाती है। इस दिन मां को अगर दूध और दूध से बने पकवानों का भोग लगाना शुभ माना जाता है।
4. नवरात्रि के चौथे दिन मां कुष्मांडा की अराधना की जाती है। इस दिन मां की पूजा के बाद मालपुए या पेठा, पेठे से बने व्यजंन का भोग लगाएं। इससे आपके मनोबल और आत्मविश्वास में बढ़ोतरी होती है।
5. नवरात्रि के पांचवे दिन मां स्कंदमाता यानि भगवान कार्तिकेय की मां के स्वरूप की अराधना की जाती है। ऐसे में पूजा के बाद केले का भोग लगाने से बुद्धि के विकास में मदद मिलती है।
6. नवरात्रि के छठे दिन मां कात्यायनी का पूजन किया जाता है। इस दिन माता कात्यायनी को शहद का भोग लगाने से खूबसूरती में इजाफा यानि सौंदर्य की प्राप्ति होती है।
7. नवरात्रि के सातवें दिन मां कालरात्रि के स्वरूप की पूजा की जाती है। इस दिन मां कालरात्रि को गुड़ या गुड़ से बने पकवानों का भोग लगाना चाहिए। इससे शोक-संताप और तनाव से मुक्ति मिलती है।
8. नवरात्रि के आठवें दिन मां महागौरी की पूजा होती है। इस दिन को अष्टमी के नाम से भी जाना जाता है और अष्टमी के दिन भी लोग घरो में कन्या जिमाते हैं। जिसमें पूड़ी-चने और हलवे का भोग लगाते हैं। अष्टमी को नारियल का भोग लगाने से सभी मनोकामनाएं पूरी होती हैं।
9. नवरात्रि के नवें दिन यानि अंतिम दिन मां सिद्धदात्री की अराधना की जाती है। इस दिन मां की पूजा के बाद हलवा-पूड़ी चने का भोग लगाया जाता है। फिर 8 साल से छोटी कन्याओं को घर में बुलाकर जिमाया जाता है। ऐसा करने से सुख और शांति मिलती है।
Next Story
Top