logo
Breaking

भूलकर भी नेल्स के बदलते रंग को न करे इग्नोर, हो सकती है ये गंभीर बीमारियां

हर कोई चाहता है कि उसके नाखून स्वस्थ और चमकदार हों। स्वस्थ नाखून सेहत के बारे में भी काफी कुछ बताते हैं। इसलिए नाखूनों को सुंदर-स्वस्थ रखने के लिए जरूरी है कि उनकी ऊपरी देखभाल के साथ पौष्टिक खाद्य पदार्थों का सेवन भी किया जाए।

भूलकर भी नेल्स के बदलते रंग को न करे इग्नोर, हो सकती है ये गंभीर बीमारियां

हर कोई चाहता है कि उसके नाखून स्वस्थ और चमकदार हों। स्वस्थ नाखून सेहत के बारे में भी काफी कुछ बताते हैं। इसलिए नाखूनों को सुंदर-स्वस्थ रखने के लिए जरूरी है कि उनकी ऊपरी देखभाल के साथ पौष्टिक खाद्य पदार्थों का सेवन भी किया जाए।

हमारे नाखून किरेटिन नामक प्रोटीन से बने होते हैं। स्वस्थ नाखून चिकने और चमकदार होते हैं। उनका रंग एक समान होता है, कहीं कोई दाग-धब्बा नहीं होता है।

हेल्थ प्रॉब्लम के इंडिकेटर

आकर्षक नाखून न केवल हमारी सुंदरता बढ़ाते हैं बल्कि हमारी अच्छी हेल्थ का प्रमाण भी होते हैं। अगर आप किसी हेल्थ प्रॉब्लम से जूझ रहे हैं या आपके शरीर में किसी पोषक तत्व की कमी है तो आपके नाखून बता देंगे। इसीलिए जब भी डॉक्टर किसी मरीज का चेक-अप करते हैं तो उसके नाखूनों की जांच जरूर करते हैं।

1.अगर आपके नाखून आसानी से टूटने वाले हों तो यह आयरन की कमी के कारण हो सकता है। कमजोर नाखून बॉयोटिन की कमी, किडनी डिसऑर्डर, थाइरॉयड या ब्लड सर्कुलेशन की खराबियों को भी इंगित करते हैं।

2.नाखूनों का मोटा होना दर्शाता है कि आपके सिस्टम में विभिन्न पदार्थों का संचरण ठीक प्रकार से नहीं हो रहा है।

3.आयरन या विटामिन बी12 की कमी के कारण नाखून अंदर की ओर मुड़ जाते हैं। विटामिन बी12 की कमी नाखूनों को काला कर देती है।

4.विटामिन सी की कमी से नाखून टूट जाते हैं या घिस जाते हैं।

5.नाखूनों पर पड़ने वाली धारियां भी बहुत कुछ बताती हैं। अगर धारियां खड़ी हैं तो यह आर्थराइटिस का संकेत हो सकता है, जबकि आड़ी धारियां अत्यधिक तनाव के कारण हो सकती हैं।

6.नाखूनों का पीला पड़ जाना दर्शाता है कि आप एनीमिया के शिकार हैं या आपके किडनी और लीवर ठीक प्रकार से काम नहीं कर रहे हैं।

7.अकसर देखा जाता है कि जिसका नाखून अत्यधिक लाल होता है, वह हृदय रोगों का शिकार होता है।

8.नीले नाखून बताते हैं कि आपके रक्त में ऑक्सीजन की मात्रा कम है, यह अस्थमा, हृदय रोग का कारण भी हो सकता है।

तब नेल्स बनेंगे हेल्दी

नाखूनों को भी स्वस्थ रहने के लिए अच्छे पोषण की आवश्यकता होती है। पोषक भोजन के सेवन से नाखूनों का विकास होता है और वो मजबूत बनते हैं। ऐसा भोजन जिसमें कैल्शियम, जिंक, आयरन और विटामिन ए, बी, सी और डी की मात्रा अधिक होती है, नाखूनों को पोषण प्रदान करता है।

जिंक की कमी हो जाने से नाखूनों पर सफेद धब्बे हो जाते हैं। सूखे मेवे, रूट वेजिटेबल्स, साबुत अनाज, मांस और मछली जिंक के अच्छे स्रोत हैं।कैल्शियम प्राप्त करने के लिए दूध, दुग्ध उत्पादों, हरी पत्तेदार सब्जियों, फलियों, सूखे मेवों, केले, ब्रेड, पास्ता, सोया मिल्क, टोफु आदि का सेवन करें।

ऐसे करें केयर

1.साबुन की बजाय मायश्चराइजर युक्त लिक्विड सोप से हाथ धोएं।

2.जब भी हाथ धोएं उन्हें थपथपाकर सुखाने के बाद मायश्चराइजर अवश्य लगा लें।

3.जब भी घर से बाहर धूप में निकले एसपीएफ 30 युक्त सनस्क्रीन लगाकर निकलें।

4.अपने नाखूनों को सूखा और साफ रखें, इससे नाखूनों के नीचे बैक्टीरिया नहीं पनपेंगे।

5.जब भी आप हाथों पर मायश्चराइजर लगाएं अपने नाखूनों और क्युटिकल पर भी इससे मसाज करें।

6.नाखूनों को स्वस्थ रखने के लिए समय-समय पर उन्हें काटते रहना, सफाई करना और शेप देना भी जरूरी है।

7.महिलाएं नेल पॉलिश और नेल पॉलिश रिमूवर अच्छी ब्रांड के ही लगाएं।

क्या न करें

1.क्यूटिकल को न काटें, इससे संक्रमण का खतरा बढ़ जाता है।

2.नाखूनों को मुंह से कभी भी न काटें, इससे संक्रमण फैलता है।

3.डॉक्टर्स की मानें तो अधिक मीठे खाद्य पदार्थों और अल्कोहल के सेवन से भी नाखून कमजोर होते हैं, इसीलिए इनका सेवन न करें।

4.नाखूनों को औजार के रूप में इस्तेमाल न करें।

5.हाथों की खूबसूरती बढ़ाने के लिए नकली नाखूनों का प्रयोग न करें।

तब करें कंसल्ट

नाखूनों के रंग में बदलाव आना, जैसे पूरे नाखून का बदरंग हो जाना।

1.नाखून के नीचे गहरी लाइनें दिखाई देना।

2.नाखूनों के आकार में बदलाव आना।

3.नाखूनों का पतला या मोटा हो जाना।

4.नाखूनों के आस-पास सूजन आना या दर्द होना।

Share it
Top