Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

जानिए दाल मोठ बनाने की विधि, बच्चों से लेकर बुजुर्गो के लिए गर्मी में है फायदेमंद

राजस्थान में मटके की दाल के नाम से मशहूर मोठ की दाल, आपको कराए एक अलग स्वाद का अनुभव कराएगी। यह दाल पाचन के लिए भी अच्छी होती है। इस दाल को बच्चों से लेकर बुजुर्गों तक सभी को दे सकते हैं।

जानिए दाल मोठ बनाने की विधि, बच्चों से लेकर बुजुर्गो के लिए गर्मी में है फायदेमंद
राजस्थान में मटके की दाल के नाम से मशहूर मोठ की दाल, आपको कराए एक अलग स्वाद का अनुभव कराएगी। यह दाल पाचन के लिए भी अच्छी होती है। इस दाल को बच्चों से लेकर बुजुर्गों तक सभी को दे सकते हैं। गर्मी के मौसम में इसका सेवन लाभप्रद होता है। इसे कम वक्त में आप तैयार कर सकते हैं।

मोठ की दाल बनाने के लिए सामग्री

मोठ की दाल- ½ कप (100 ग्राम), टमाटर- 1 (100 ग्राम), घी- 2 से 3 टेबल स्पून, हरा धनिया- 2 से 3 टेबल स्पून (बारीक कटा हुआ), जीरा- ½ चम्मच, हींग- ½ पिंच, हल्दी पाउडर- ¼ चम्मच, धनिया पाउडर- 1 चम्मच, लाल मिर्च पाउडर- ¼ चम्मच, गरम मसाला- ¼ चम्मच से कम, हरी मिर्च- 2 (बारीक कटी हुई), अदरक- ½ चम्मच, नमक- स्वादानुसार, बेकिंग सोडा- 1 पिंच

मोठ की दाल बनाने की विधि

मोठ की दाल को अच्छे से साफ करके धोकर 8 घंटे या रात भर के लिए भिगोकर रख दीजिए। बाद में, इसमें से अतिरिक्त पानी हटा दीजिए। टमाटर का पेस्ट तैयार कर लीजिए। कुकर में भीगी हुई मोठ दाल, 2 कप पानी, नमक, आधा हल्दी पाउडर और बेकिंग सोडा डालकर मिक्स कर दीजिए।
कुकर बंद करके दाल को 1 सीटी आने तक पकने दीजिए। इसके बाद, दाल को और 5 मिनिट धीमी आंच पर पका लीजिए। फिर, गैस बंद कर दीजिए और दाल को कुकर का प्रेशर खत्म होने तक कुकर में रहने दीजिए। पैन में घी गरम कीजिए।
घी में जीरा डालिए और धीमी आंच करके हींग, बचा हुआ हल्दी पाउडर, धनिया पाउडर, हरी मिर्च और अदरक का पेस्ट डाल दीजिए। मसाले को हल्का सा भूनकर इसमें टमाटर का पेस्ट और लाल मिर्च पाउडर डाल दीजिए।
मसाले से घी अलग होने तक इसे भून लीजिए। भुने मसाले में दाल डालकर मिक्स कर दीजिए। गरम मसाला और हरा धनिया डालकर मिला दीजिए। दाल को ढककर 2 मिनट पका लीजिए।
मोठ दाल के ऊपर थोड़ा सा घी, हरा धनिया और बारीक पतले कटे अदरक डालकर गार्निश कीजिए। इसे चपाती, नान या चावल के साथ सर्व कीजिए। बेकिंग सोडा डालने से दाल जल्दी उबल जाती है।
तीखा खाने वाले लाल मिर्च पाउडर ज्यादा मात्रा में ले सकते हैं और बच्चों के लिए बना रहे हैं, तो मिर्च कम या ना डालें। घी की जगह तेल भी ले सकते हैं।
Next Story
Top