Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

ये है घर में शीशा लगाने की सही जगह, बनी रहेगी सकारात्मक ऊर्जा और सुख समृद्धि

वास्तु नियमों के अनुसार अगर घर में दर्पण का इस्तेमाल किया जाए तो इससे सुख-समृद्धि आती है, सकारात्मक ऊर्जा का घर में प्रवेश होता है। जानिए, दर्पण लगाते समय किन वास्तु नियमों का पालन करना चाहिए।

ये है घर में शीशा लगाने की सही जगह, बनी रहेगी सकारात्मक ऊर्जा और सुख समृद्धि
X

दिनभर में कितनी ही बार आप खुद को दर्पण यानी आइने में देखती हैं। कई बार सुंदर फ्रेम में लगे हुए दर्पण को घर की साज-सज्जा में इजाफा करने के लिए भी इस्तेमाल करती हैं, लेकिन क्या आप जानती हैं कि दर्पण की उपयोगिता सिर्फ देखने और सजाने भर तक ही सीमित नहीं है।

घर की किस दिशा में, किस आकृति का दर्पण लगा है, इसका भवन और वहां की आस-पास की ऊर्जा पर अच्छा खासा प्रभाव पड़ता है। वास्तु में इसके सही इस्तेमाल पर बहुत जोर दिया जाता है। सही दिशा में दर्पण लगाकर अगर वास्तु दोष का निवारण किया जा सकता है, तो वहीं इसके गलत दिशा में लगे होने से नकारात्मक ऊर्जा के स्तर में वृद्धि हो जाती है।

सकारात्मक ऊर्जा के लिए

वास्तु विज्ञान के अनुसार सकारात्मक ऊर्जा का प्रवाह पूर्व से पश्चिम की तरफ एवं उत्तर से दक्षिण की तरफ रहता है। ऐसे में दर्पण को हमेशा पूर्व और उत्तर वाली दीवारों पर इस तरह लगाना चाहिए कि देखने वाले का मुख पूर्व या उत्तर में रहे।

इन दिशाओं में दर्पण लगाने से जीवन में उन्नति और धन लाभ के अवसर बढ़ जाते हैं। पश्चिम या दक्षिण दिशा की दीवारों पर लगे दर्पण, पूर्व और उत्तर से आ रही सकारात्मक ऊर्जाओं को रिफ्लेक्ट कर देते हैं।

यहां बिल्कुल न लगाएं

शयन कक्ष में दर्पण नहीं लगाना चाहिए। ऐसा करने से दांपत्य जीवन में विश्वास की कमी आती है। इसके साथ ही पति-पत्नी में आपसी मतभेद भी बढ़ते हैं। अगर ड्रेसिंग टेबल रखना जरूरी हो तो इस तरह रखें कि सोने वालों का प्रतिबिंब उसमें दिखाई न दे या फिर सोने से पहले इसे ढंक दें। यह भी ध्यान रहे कि जहां दर्पण लगा हो उसमें नकारात्मक प्रभाव को बढ़ाने वाली वस्तुओं का प्रतिबिंब दिखाई न पड़े।

ऐसा हो दर्पण

साफ, स्पष्ट और वास्तविक छवि दिखाई देने वाला दर्पण ही काम में लें। नुकीला, चटका हुआ या धुंधला दिखाई देने वाला दर्पण अनेक समस्याओं का कारण बन सकता है। दर्पण जितने हल्के और बड़े होंगे, उनका प्रभाव उतना ही अच्छा होगा। शुभफलों में वृद्धि के लिए दीवार पर आयताकार, वर्गाकार या अष्टभुजाकार दर्पण लगाएं।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story