Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

शादीशुदा लोग स्मोकिंग करने से पहले रखें इन बातों का ध्यान

धूम्रपान का सिर्फ महिलाओं पर नहीं बल्कि पुरुषों पर भी असर पड़ता है।

शादीशुदा लोग स्मोकिंग करने से पहले रखें इन बातों का ध्यान

भारत में इन्फर्टिलिटी यानी बांझपन की दर पिछले कुछ वर्षों में निरंतर बढ़ी है। वर्ल्ड बैंक 2013 के एक अनुमान के मुताबिक, साल 2000 से भारत में प्रजनन क्षमता में 17 फीसदी की गिरावट देखी गई है।

जीवनशैली संबंधी मुद्दों जैसे तनाव, मोटापे में वृद्धि, मधुमेह की बढ़ती समस्याएं, अनहेल्थी लाइफस्टाइल, भरपूर नींद न लेना, शराब पीना, स्मोकिंग और प्रदूषण के कारण भी पुरुष और महिला दोनों में इन्फर्टिलिटी की समस्या बढ़ रही है।

सिगरेट का धुआं शरीर के लिए अलग-अलग 7000 रसायनों के संपर्क में आने से भी अधिक खतरनाक है। यह शरीर के कई अंगों को प्रभावित करता है।

धूम्रपान करने से महिलाओं को गर्भधारण करने में कठिनाई आ सकती है। इससे जन्म से पहले और बाद में भी बच्चे के स्वास्थ्य पर बुरा प्रभाव पड़ता है।

ऐसी महिलाएं जो गर्भवती होना चाहती हैं लेकिन धूम्रपान करती हैं उन्हें कई समस्याओं का सामना करना पड़ता है।

ये है मुख्य वजह

- ओव्यूलेशन की समस्याएं

- गर्भपात का बढ़ता जोखिम

- अंडे को आनुवंशिक क्षति

- समयपूर्व मेनोपॉज हो सकता है

- कैंसर का जोखिम

- अनियमित मासिक धर्म चक्र

- समय से पहले प्रसव

- मृत शिशु (जन्म से पहले बच्चे की मौत)

- शिशु का वजन कम होना

- अचानक शिशु मृत्यु सिंड्रोम

- गर्भावस्था में भ्रूण गर्भ के बाहर या मुख द्वार पर होना

पुरूषों पर भी डालता है असर

धूम्रपान का सिर्फ महिलाओं पर नहीं बल्कि पुरुषों की प्रजनन क्षमता पर भी बुरा असर पड़ता है। इससे पुरुषों के वीर्य पर असर पड़ता है और वीर्य कमजोर होने के साथ ही स्पर्म काउंट भी कम होने लगता है।

कमजोर शुक्राणु प्राकृतिक अवधारणा के फलस्वरूप अंडे तक पहुंचने में असमर्थ होते हैं और गर्भधारण में समस्या होती है।

नियमित रूप से धूम्रपान से एक व्यक्ति की कामेच्छा भी कम हो जाती है। एक पुरुष साथी के धूम्रपान करने से उसकी पत्नी या पार्टनर के गर्भपात का जोखिम भी बढ़ता है।

ध्रुम्रपान छोड़ने पर होगा प्रजनन क्षमता में सुधार

आईवीएफ विशेषज्ञ डॉ. डेविड रॉबर्ट्सन, ग्रुप मेडिकल डायरेक्टर बॉर्न हॉल फर्टिलिटी सेंटर का कहना है कि जो कपल्स गर्भधारण करने की कोशिश कर रहे हैं, उन्हें धूम्रपान करना बंद कर देना चाहिए।

जितनी जल्दी वे धूम्रपान छोड़ेंगे, उतनी जल्दी गर्भधारण करने में सक्षम होंगे। धूम्रपान छोड़ने के साथ ही प्रजनन क्षमता में सुधार होता जायेगा।

Next Story
Top