Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

तो इस वजह से शादीशुदा होने के बाद भी ऐसी महिलाओं को माना जाता है कुंवारी

पुराणों के अनुसार मंदोदरी की सुंदरता देखकर रावण ने उससे विवाह किया था, लेकिन मंदोदरी बहुत बुद्धिमान थी। मंदोदरी ने हमेशा रावण को सही-गलत के बारे में समझाया, लेकिन उसने मंदोदरी की कभी कोई बात नहीं मानी।

रावण की मौत के बाद जब श्रीराम ने विभीषण को मंदोदरी को आश्रय देने के लिए कहा तो वह मान गए। मंदोदरी के इसी गुण के कारण उन्हें महान और पवित्र माना गया है।

Next Story