Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

कहीं दीपावली की मिठाई न कर दे आपकी सेहत खराब, ऐसे करें मिठाइयों की पहचान

दीपावली के अवसर पर घर-घर में मिठाइयां खरीदी जाती हैं। लेकिन कई बार बाजारू मिठाइयों को खाने के बाद तबियत बिगड़ जाती है।

कहीं दीपावली की मिठाई न कर दे आपकी सेहत खराब, ऐसे करें मिठाइयों की पहचान
X
नई दिल्ली. हर्ष-उल्लास के पर्व दीपावली के अवसर पर तरह-तरह की रंग-बिरंगी मिठाइयों से दुकानें सज जाती हैं। लेकिन कई बार ये आकर्षक मिठाइयां मिलावटी होती हैं, जिन्हें खाने से तबियत बिगड़ सकती है। ऐसा आपके साथ न हो और आप अपनों के साथ हैप्पी-स्वीट दीपावली एंज्वॉय करें, इसके लिए थोड़ी सावधानी बरतना जरूरी है।
दिवाली को आप भरपूर एंज्वॉय जरूर करें। लेकिन खाने-पीने के मामले में सावधानी बरतें। अगर मिठाई खाने के बाद कोई परेशानी होती है तो इसे हल्के में न लें, तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें। शुरुआत में समस्या का पता चल जाने पर सेहत को ज्यादा नुकसान नहीं पहुंचता है। लेकिन अगर देर हो गई तो इसके परिणाम गंभीर हो सकते हैं। इसके अलावा, जिस मिठाई को खाने के बाद परेशानी शुरू हुई है, उसकी जांच भी करा लें या डॉक्टर को दिखाएं। इससे इस बात का पता चल जाएगा कि मिठाई में कितनी मात्रा में और किस चीज की मिलावट की गई है। इससे ट्रीटमेंट में आसानी होगी।
हैप्पी-स्वीट दीपावली-
दीपावली के अवसर पर घर-घर में मिठाइयां खरीदी जाती हैं। लेकिन कई बार बाजारू मिठाइयों को खाने के बाद तबियत बिगड़ जाती है। दरअसल, ऐसा मिठाइयों में मिलावट की वजह से होता है। ऐसा आपके साथ न हो, इसके लिए मिलावटी मिठाइयों से जुड़ी कुछ बातों को जानना बेहद जरूरी है।
फूड प्वॉयजनिंग:
मिलावटी मिठाई खाने पर फूड प्वॉयजनिंग की संभावना सबसे ज्यादा होती है। क्योंकि इन्हें खाने के बाद विषैले तत्व हमारे शरीर में पहुंच जाते हैं। इन्हें खाने के 2 से 3 घंटे बाद फूड प्वॉजनिंग के प्रारंभिक लक्षण दिखने शुरू हो जाते हैं। जिनमें पेट दर्द, डायरिया, हल्का बुखार, सिरदर्द, कमजोरी शामिल है। इन लक्षणों के दिखाई देने पर डॉक्टर के पास जाने से पहले फस्र्ट एड लेना बहुत जरूरी है। सबसे पहले ओआरएस का घोल लें। अगर बुखार है, तो पैरासिटामॉल की गोली ले सकते हैं। लेकिन पेन किलर बिल्कुल न लें। डॉक्टर को दिखाएं और उसकी सलाह पर ही दूसरी दवाइयां लें।
मिलावटी दूध की पहचान
अगर आप दिवाली के मौके पर घर पर ही मिठाई बनाने का मन बना रहे हैं तो दूध खरीदते वक्त शुद्ध दूध की पहचान जरूर कर लें। आजकल बाजार नकली दूध से भरे पड़े हैं। इन्हें सिंथेटिक दूध भी कहते हैं। इस दूध में अजीब सी गंध आती है। इसके अलावा, अगर इसे कुछ समय के लिए स्टोर करके रख दिया जाए तो इसका रंग बदल जाता है। यह हल्का पीला पड़ जाता है। इस दूध को उबालने पर इसका रंग पीला हो जाता है।
नीचे की स्लाइड्स में पढ़िए, कैसे करें मिलावट की पहचान-
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि और हमें फॉलो करें ट्विटर पर-

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story