logo
Breaking

न करें ''कफ सिरप'' का इस्तेमाल, जा सकती है याददाश्त

एक्सपर्ट के अनुसार सर्दी में होने वाली खांसी की दवाओं से परहेज करना चाहिए

न करें
नई दिल्ली. सर्दी का मौसम आते ही बहुत से बदलाव आने शुरू हो जाते हैं। हमारे पहनावे से लेकर खान-पान,सोने के समय में बदलाव जैसी चेंजेस होते हैं। इस मौसम में अक्सर लोग बीमार पड़ जाते हैं। सर्दी-जुकाम,बुखार और खांसी इस मौसम की आम बीमारियां हैं। छाती में कफ जमने की वजह से खांसी की समस्या हो जाती है और सबसे पहला काम हम जो करते हैं वह यह है कि मेडिकल स्टोर पर जाकर कोई भी कफ सिरप लेकर उसका सेवन करना शुरू कर देते हैं।
क्या आप जानते हैं कि खांसी के लिए अधिक कफ सिरप पीना खतरनाक हो सकता है। एक्सपर्ट के अनुसार सर्दी में होने वाली खांसी की दवाओं से परहेज करने की सख्त जरूरत है। कफ सिरप वाली दवाओं में कोडीन होता है जिसका अधिक इस्तेमाल आपकी याददाश्त को खत्म कर सकता है। एक्सपर्ट बताते हैं कि अक्सर मेडिकल स्टोर में कोडीन वाली दवाओं को ही रखा जाता है, जो खांसी में राहत कम देती है। और खतरा अधिक हो जाता है। कोडीन का सेवन करने से त्वचा में खुजली, सांस लेने की बीमारी और पाचन तंत्र खराब हो सकता है।
कोडीन एक ऐसा मीठा जहर होता है जो पहले इंसान में नशा लाता है फिर अपना असर दिखाता है। डॉक्टरों के अनुसार बच्चा हो या बड़ा सभी के लिए कफ सिरफ का इस्तेमाल नुकसानदेह होता है।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें
ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Share it
Top