Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Lohri 2022: शादी के बाद ऐसे मनाएं पहली लोहड़ी, इन बातों का रखें खास ख्याल

Lohri 2022: लोहड़ी का त्यौहार उत्तर भारत (North India) के प्रमुख त्योहारों में से एक है। दिल्ली, पंजाब, हरियाणा, हिमाचल और कश्मीर में इस त्योहार का बड़े धूम धाम से मनाते हैं। तो आज की इस स्टोरी में हम आपको शादी के बाद की पहली लोहड़ी सेलिब्रेशन (Lohri Celebration) को लेकर ध्यान में रखने वाली बातें बताएंगे...

Lohri 2022: शादी के बाद ऐसे मनाएं पहली लोहड़ी, इन बातों का रखें खास ख्याल
X

Lohri 2022: लोहड़ी का त्यौहार उत्तर भारत (North India) के प्रमुख त्योहारों में से एक है। दिल्ली, पंजाब, हरियाणा, हिमाचल और कश्मीर में इस त्योहार का बड़े धूम धाम से मनाते हैं। पूरे देश में इसे मकर संक्रांति (Makar Sankranti) की पूर्व संध्या को मनाते हैं। सूर्य के दक्षिणायन से उत्तरायण में प्रवेश करने पर लोहड़ी का त्योहार मनाया जाता है। लोहड़ी में लोग अलाव जलाकर इसके चारों ओर बैठकर गाते- बजाते और खाते हैं। ये त्यौहार (Lohri Festival) नए-नवीले शादी शुदा जोड़ों के लिए बहुत ही खास होता है। तो आज की इस स्टोरी में हम आपको शादी के बाद की पहली लोहड़ी सेलिब्रेशन (Lohri Celebration) को लेकर ध्यान में रखने वाली बातें बताएंगे...

ऐसे हो तैयार

शादी के बाद की पहली लोहड़ी को खास बनाने के लिए न्यूली वेडेड कपल को अच्छे से तैयार होना चाहिए। जहां शादी के बाद अपनी पहली लोहड़ी पर हर लड़की को दुल्हन की तरह सोलह श्रृंगार कर तैयार होना चाहिए, वही लड़को को भी नए कपड़े पहन पूरे तरीके से तैयार होना चाहिए। अपनी पहली लोहड़ी पर दुल्हन को मेंहदी, चूड़ा और चमकीले कपड़े पहन कर पूरे रीति रिवाजों के साथ पूजा करनी चाहिए। न्यूली वेडेड अपनी पहली लोहड़ी के मौके पर तिल, गुड़, रेवड़ी, पॉपकॉर्न और गन्ने को सबसे पहले आग में फेंकते हैं। कपल जलती हुई लोहड़ी के चारो ओर 7 फेरे लेते हैं। इसके बाद न्यूली वेडेड कपल वहां मौजूद सभी बुजुर्गों का आशीर्वाद लेते हैं।

काले कपड़ों से करे परहेज

अगर आपकी नई- नई शादी हुई है तो आपको अपनी पहली लोहड़ी पर काले कपड़े पहनने से परहेज करना चाहिए। काले कपड़ों को अपशगुन की निशानी माना जाता है, ऐसे में लोहड़ी के शुभ अवसर पर नई नवेली दुल्हन को इन कपड़ो को नहीं पहनना चाहिए।

तामसिक खाने से रहे दूर

लोहड़ी के त्यौहार पर लोहड़ी माता की पूजा करने की रीत है और इसके साथ ही अलाव के चारों ओर फेरे लिए जाते हैं। इस पूजा के मौके पर आपको तामसिक भोजन यानी मांसाहार से दूर रहना चाहिए। इसके साथ ही लोहड़ी के खास मौके पर शराब का सेवन करना भी मना होता है। इसलिए अपनी शादी के बाद की पहली लोहड़ी पर मांसाहार और शराब का सेवन करने से बचना चाहिए।

जूते- चप्पल पहन कर न करें लोहड़ी की परिक्रमा

जैसे मंदिर में जूते- चप्पल पहन कर प्रवेश करना वर्जित होता ठीक वैसे ही आपको लोहड़ी के फेरे जूते- चप्पल पहन कर नहीं लेने चाहिए। जिस प्रकार किसी भी पूजा को करने से पहले हम अपने जूते और चप्पल उतार देते हैं, उसी प्रकार लोहड़ी माता की पूजा और परिक्रमा करने से पहले हमें अपने जूते- चप्पल उतारकर नंगे पैर ही पूजा और परिक्रमा करनी चाहिए। अगर आप जूते चप्पल पहन कर परिक्रमा करते हैं, तो ये आपके आने वाले जीवन में कष्टों का कारण बन सकता है। इसके साथ ही इस दिन न्यूली वेडेड कपल को आपस में किसी भी प्रकार का मतभेद नहीं रखना चाहिए। घर में शांति बनाए रखें और बड़ों के आशीर्वाद के साथ अपनी पहली लोहड़ी मनाएं।

जूठा खाने को लोहड़ी में न डालें

ये बात तो सभी को पता है कि लोहड़ी के मौके पर अलाव में तिल, पॉपकॉर्न, गन्ना और रेवड़ी डालने का रिवाज है। ऐसे में आपको इस बात का खास ख्याल रखना है कि किसी भी हालत में लोहड़ी की अग्नी में जूठा भोजन न डालें। ऐसा करने से आप परेशानी में पड़ सकते हैं और ये कार्य आपके जीवन में आने वाली खुशियों को कम कर सकता है।

Next Story