Web Analytics Made Easy - StatCounter
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

गर्मियों में पानी की बॉडी में न होने दें कमी, अपनाएं ये टिप्स

चिकित्सक का कहना है कि किडनी के मरीजों के लिए गर्मी में पानी की समस्या होती है।

गर्मियों में पानी की बॉडी में न होने दें कमी, अपनाएं ये टिप्स

मई में तापमान लगातार बढ़ रहा है। सूरज की तपिश बेहाल कर रही है। तो गर्म हवाएं चलने से शरीर में पानी की मात्रा तेजी से कम होने का खतरा रहता है।

इस भीषण गर्मी में कैसे करें बचाव हरिभूमि आपको बता रहा है ये टिप्स। ये खबर उन मरीजों के लिए भी जरूरी है, जो डायबिटीज और किडनी की बीमारी से पीड़ित हैं। उन्हें गर्मियों में अपनी किडनी को सुरक्षित रखने के लिए क्या करना चाहिए। कैसे आप अपने आप को महफूज रखें।

पानी की न होने दें कमी

गर्मियों में हमारे शरीर से पसीने में पानी निकलता रहता है। बॉडी से साल्ट निकलने पर इलेक्ट्रॉलाइड का नुकसान होता है। इससे ​डिहाइड्रेशन, डायरिया और हीट स्ट्रोक की संभावनाएं बढ़ जाती हैं। गर्मियों में पानी प्रचुर मात्रा में पीएं, जिससे शरीर में पानी की मात्रा कम न हो।

किडनी के रोगी दें ध्यान

चिकित्सक का कहना है कि किडनी के मरीजों के लिए गर्मी में पानी की समस्या होती है। किडनी के मरीज दो प्रकार के होते हैं, इनमें एक वे मरीज होते हैं जिन्हें चिकित्सक कम पानी पीने की सलाह देते हैं। ऐसे में उन्हें ध्यान रखना होगा कि गर्मियों में जितना डॉक्टर ने पानी की मात्रा बताई हैं, उससे थोड़ा सा अधिक पानी ​पीएं।

दूसरे हृदय मरीज भी इसी श्रेणी में आते हैं। दवाइयों से बॉडी में पानी की मात्रा को कंट्रोल किया जाता है। जैसे जैसे पानी की कमी होती है, तो गुर्दे में भी पानी की कमी होती है। ओआरएस का घोल पीते रहे। जिससे इलेक्ट्रोलाइड जो लॉस हो रहे हैं, उसमें मदद मिलेगी। मरीज को इस मौसम में विशेष ध्यान रखना होगा। डिहाइड्रेशन में मेडिकल ट्रीटमेंट तुरंत लें।

शुद्ध स्वच्छ जल पीएं

एक्सपर्ट का कहना है कि मिलावट का पानी होने पर परेशानी होना स्वाभाविक है। पानी उबालकर ठंडा कर सुराही में रख लें। जिसे पीएं। प्लास्टिक बोतल में पानी रखा होने पर ऐसे तत्व बन जाते हैं, जो खतरनाक होते हैं। जो लोग लंबे समय के लिए ऐसा पानी पीते हैं, उससे कैंसर का खतरा रहता है।

इसकी रिसर्च भी चल रही है। प्लास्टिक की बोतल में पानी जब तक ठंडा है, तब तक कोई रिएक्शन नहीं होता हैं लेकिन, जैसे ही गर्म होता है, उसमें केमिकल के तत्व मिलना शुरू हो जाते हैं। ये कंटेनर भविष्य में काफी खतरनाक साबित होंगे।

धूप में निकलें संभलकर

धूप में जाने से पहले खूब पानी पीकर निकलें। जरूरत के काम से ही दोपहर में निकलें। अपने साथ पानी की बोतल लेकर चलें। शरीर को ढंककर रखें। छाते का प्रयोग करें। आम का पना, छाछ, दही का इस्तेमाल करें। पेय पदा​र्थों का सेवन करें। तेल, भुना, अधिक मसालेदार चीजों के सेवन से बचें। फलों का सेवन करें।

Next Story
Share it
Top