Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

सिर्फ गंदगी ही नहीं ऑक्सीजन की कमी से भी होते हैं पिंपल्स

प्रोपीऑन आई बैक्टीरियम नामक बैक्टीरिया आमतौर पर हानिकारक रूप में त्वचा पर रहता है।

सिर्फ गंदगी ही नहीं ऑक्सीजन की कमी से भी होते हैं पिंपल्स
नई दिल्ली. आमतौर पर लोगों को लगता है कि चेहरे पर मौजूद गंदगी की वजह से चेहरे मुंहासे आने लगते हैं। इसमें कोई दो राय नहीं है कि त्वचा को मुंहासों से बचाने के लिए गंदगी से दूर रहना चाहिए। लेकिन क्या आप जानते हैं कि आपके शरीर में ऑक्सीजन की कमी की वजह से भी चेहरे पर पिंपल्स पनपते है।
दरअसल, जीवन के लिए ऑक्सीजन जरूरी है। ऑक्सीजन शरीर को स्वस्थ्य रखने के अलावा इसके अंगों को भी सही रखने में प्रभावी भूमिका निभाता है। ऑक्सीजन की कमी से शरीर में कई व्याधियां उत्पन्न हो जाती हैं, जिससे शरीर को नुकसान पहुंचता है और शरीर में कई रोग घर कर जाते हैं। इसी से संबंधित एक नए अध्ययन में पाया गया कि ऑक्सीजन की कमी के कारण कुछ ऐसे बैक्टीरिया पैदा होते हैं, जो मुंहासे यानी पिंपल्स होने की वजह बन सकते हैं।
वैज्ञानिकों के अनुसार प्रोपीऑन आई बैक्टीरियम नामक बैक्टीरिया, एक्ने-मुंहासे के साथ ही कुछ अन्य संक्रमण के लिए जिम्मेदार माना जाता है। इस प्रकार का बैक्टीरिया आमतौर पर हानिकारक रूप में त्वचा पर रहता है। लेकिन कैलीफोर्निया विश्वविद्यालय, सैन डिएगो, अमेरिका के शोधकर्ताओं ने हाल में ही एक अध्ययन में पाया कि बाल और त्वचा कोशिकाओं के साथ वायुहीन वातावरण में फंसकर प्रोपीऑन आई बैक्टीरियम एक्ने सीरम में बदल जाता है। जो तेल हमारी त्वचा पर पाया जाता है, उसमें मौजूद फैटी एसिड त्वचा कोशिकाओं में सूजन को सक्रिय करता है।
शोधकर्ताओं का कहना है कि फैटी एसिड और बैक्टीरिया द्वारा उत्पादित सूजन जारी रहती है और लाल रंग के दानों में खुजली का कारण बनती है। इससे शरीर पर मुंहासे पनपने लगते हैं।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top