Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

Iron Deficiency : आयरन की कमी कैसे दूर करें, जानें इसके कारण, लक्षण और उपचार

Iron Deficiency : पुरुषों की तुलना में महिलाओं को अधिक मात्रा में आयरन की जरूरत होती है। यही वजह है कि उनके शरीर में आयरन की कमी बिल्कुल नहीं होनी चाहिए। ऐसा होने पर महिलाओं को कई तरह की समस्याएं हो सकती हैं। आयरन की कमी के बारे में विस्तार से बता रही हैं इंद्रप्रस्थ अपोलो हॉस्पिटल दिल्ली, की स्त्री रोग विशेषज्ञ डां. रंजना शर्मा। जानिए, आयरन की कमी के कारण, लक्षण और उपचार के बारे में।

Iron Deficiency : आयरन की कमी कैसे दूर करें, जानें इसके कारण, लक्षण और उपचार

Iron Deficiency : आयरन शरीर के लिए बहुत जरूरी होता है लेकिन अपने देश में अधिकतर महिलाओं में इसकी कमी पाई जाती है। जब आयरन की कमी होती है तो हीमोग्लोबिन का निर्माण प्रभावित होता है। जब शरीर में हीमोग्लोबिन की मात्रा कम हो जाती है तो शरीर के ऊतकों और मांसपेशियों को पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन नहीं मिलती और महिला एनीमिक हो जाती है। एनीमिक होने पर कई तरह की और समस्याएं, बीमारियां भी होने लगती हैं। ऐसे में यह जानना है जरूरी है कि एनीमिक होने के क्या कारण हैं और कैसे इस समस्या को दूर किया जा सकता है। आयरन की कमी के बारे में विस्तार से बता रही हैं इंद्रप्रस्थ अपोलो हॉस्पिटल दिल्ली, स्त्री रोग विशेषज्ञ डां. रंजना शर्मा। जानिए, आयरन की कमी के कारण, लक्षण और उपचार के बारे में...

ब्लड लॉस

महिलाओं को माहवारी के दौरान ब्लीडिंग होती है। प्रसव के समय भी महिलाओं को रक्तस्राव होता है। इन वजहों से शरीर में खून की कमी हो जाती है। ऐसे में अगर उसी मात्रा में रक्त निर्माण न हो तो वे एनीमिक हो जाती हैं।

खान-पान में कमी

आमतौर पर हर घर में देखा जाता है कि महिलाएं अपने भोजन पर पूरा ध्यान नहीं देतीं और कभी-कभी तो बचा हुआ भोजन भी न फेंकने के लालच में खा लेती हैं, जिसके कारण उन्हें पूरा पोषण नहीं मिलता। इन वजहों से उनके शरीर में आयरन और अन्य पोषक तत्वों की कमी हो जाती है। ऐसे में जरूरी है कि आप आयरन और अन्य मिनरल्स से भरपूर डाइट लें।

स्वास्थ्य समस्याएं

कभी-कभी महिलाओं की कुछ मेडिकल कंडीशंस भी आंतरिक रक्तस्राव का कारण बनती हैं, जिससे उनमें आयरन की कमी हो सकती है मसलन, पेट में अल्सर, कोलन या आंतों में पॉलिप्स या कोलन कैंसर। कई तरह के पेनकिलर्स लेने से भी इस तरह की परेशानी पैदा होती है। इसके अलावा एंडोमेटोसिस की समस्या से भी ब्लड लॉस होता है, जो शरीर में आयरन की कमी का कारण बनती है।

आयरन का अवशोषण

भोजन में सिर्फ आयरन युक्त आहार लेने से ही आयरन की कमी को पूरा नहीं किया जा सकता। जरूरी है कि शरीर में आयरन का अवशोषण भी सही तरीके से हो। आयरन और प्रोटीन के अलावा विटामिन सी भी प्रचुर मात्रा में लेना आवश्यक है। दरअसल, विटामिन सी शरीर में आयरन के अवशोषण में मदद करता है। चाय, कॉफी, डेयरी पदार्थ और होल ग्रेन सेरल्स का भी जरूरत से अधिक सेवन नहीं करना चाहिए। यह शरीर में आयरन के अवशोषण में बाधा उत्पन्न करते हैं।

क्या करें

आयरन की कमी दूर करने के लिए सबसे जरूरी है कि महिलाएं अपने आहार पर ध्यान दें। इनमें आयरन, प्रोटीन और विटामिन सी की अधिकता हो। इसके अलावा आयरन की कमी को पूरा करने के लिए डॉक्टर की सलाह पर आयरन सप्लीमेंट्स या इंजेक्टिबल आयरन का सहारा लिया जा सकता है। टाइम- टाइम पर हीमोग्लोबिन लेवल को चेक करने के लिए ब्लड टेस्ट करवाते रहना चाहिए।

प्रस्तुति : मिताली जैन

Next Story
Top