logo
Breaking

सिर्फ 24 मिनट में किया गया ये योगासन, महिलाओं को देगा 24 घंटे का आराम

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस (21, जून 2018) के मौके पर हम आपको महिलाओं की फिटनेस के लिए योगासन के बारे में बताने जा रहे हैं। हर महिला की चाहत होती है की वो हमेशा फिट एंड फाइन दिखे। लेकिन हर महिलाओं के पास घर के काम की बहुत जिम्मेदारी होती है।

सिर्फ 24 मिनट में किया गया ये योगासन, महिलाओं को देगा 24 घंटे का आराम

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस (21, जून 2018) के मौके पर हम आपको महिलाओं की फिटनेस के लिए योगासन के बारे में बताने जा रहे हैं। हर महिला की चाहत होती है की वो हमेशा फिट एंड फाइन दिखे। लेकिन महिलाओं के पास घर के कामों की काफी जिम्मेदारियां होती है, जिसके कारण वह अपने स्वास्थ्य पर ध्यान नहीं दे पाती हैं।

अगर बात करें वर्किंग वूमन की तो उनकी जिम्मेदारी तो दोगुनी हो जाती है। रोज आठ घंटे का ऑफिस और फिर घर-परिवार की जिम्मेदारी, ऐसे में अपने लिए वक्त निकाल पाना बड़ा ही मुश्किल है।

महिलाओ की इन्हीं लापरवाहियों के कारण उन्हें कई तरह की समस्याएं जैसे- वजन बढ़ना, शरीर का आकार खराब हो जाता है।

योग के फायदे अनगिनत हैं, इसीलिए हर किसी को योग करना चाहिए। इस बारे में योगाचार्य सोहित शास्त्री पूरी जानकारी दे रहे हैं।

अगर वर्किंग वूमन 24 घंटे में मात्र 24 मिनट भी योगाभ्यास के लिए देती हैं तो वह शारीरिक और मानसिक दोनों रूपों से पूरी तरह से फिट रह सकेंगी

यह भी पढ़ें: भारत की देन है 'अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस', जानें इसके बारे में सब कुछ

वर्किंग वूमन की होने वाली फिटनेस प्रॉब्लम्स

वर्किंग वूमन को मुख्य रूप से चार तरह की समस्या ज्यादा होती है जिसमें तनाव, बैक पेन सर्वाइकल की समस्या, पेट बाहर निकलना और गैस और एसिडिटी की समस्या। ये चारों समस्याओं से उन्हें ज्यादातर सामना करना पड़ता है।

तनाव के लिए- आॅफिस में काम करने वाली महिलाओं को स्ट्रेस की सबसे ज्यादा समस्या होती है। ऐसे में उन्हें भ्रामरी और अनुलोम-विलोम प्रणायाम का अभ्यास नियमित कम से कम पांच-पांच मिनट जरूर करना चाहिए। जिसके फलस्वरूप तनाव पूरी तरह कुछ ही दिनों में गायब हो जाएगा।

बैक पेन के लिए- लगातार लंबे समय तक कंप्यूटर पर काम करने की वजह से बैक पेन की समस्या आम हो गई है। वो भी खास कर महिलाओं में लॉन्ग और रॉन्ग सिटिंग हैबिट की वजह से यह समस्या ज्यादा होती है। इसके लिए भुजंगासन, सवासन, धनुशासन मुख्य रूप से योगाभ्यास करना चाहिए। इससे बैक पेन की समस्या धीरे-धीरे खत्म हो जाती है।

पेट बाहर निकलने पर- यह समस्या आजकल सबसे आम हो गई है। वर्किंग या हाऊसवाइफ सभी इसे झेल रही हैं। पेट बाहर निकलने से शरीर बड़ौल हो जाती है। इसमें सबसे ज्यादा कारगर कपालभाती योगाभ्यास है। यह योग प्रतिदिन पांच मिनट से लेकर 15 मिनट तक करना चाहिए। इसके लिए खाना खाने से आधा घंटा पहले या फिर खाना खाने के चार घंटे बाद कभी भी अभ्यास किया जा सकता है।

गैस एसिडिटी होने पर- इस समस्या के लिए सबसे अच्छा योगाभ्यास पवनमुक्तासन और मंडुकासन होता है। इसके साथ ही कुछ खास पहलुओं पर भी ध्यान देने की जरूरत है।

यह भी पढ़ें: मोटापा कम करने के लिए कारगर है ये योगासन

रखें इन बातों का ध्यान

  • खाना खान के तुरंत बाद पानी ना पीएं।
  • कम से कम एक घंटे बाद ही पानी पीएं।
  • हल्का भोजन करें।
  • तला भुना और समालेदार भोजन से बचें।
  • रात्रि को अरबी, आलू, गोभी, राजमा, उरद, अरहर की दाल, रायता, चावल बिल्कुल भी ना खाएं।
  • खाना खाने के पांच मिनट पहले आधा गिलास पानी अवश्य पीएं।

बरतें सावधानियां

  • योगाभ्यास नियमित करें।
  • दिए गए दिशा-निर्देश को पूरी तरह से ध्यान में रखकर ही योगाभ्यास करें।
  • पानी भरपूर मात्रा में पीएं।
  • योगाभ्यास योगाचार्य की देखरेख में ही प्रारंभ करें, सीखने के बाद फिर अपने से शुरू करें। वीडियो का भी सहारा ले सकते हैं।
  • 24 घंटे में 24 मिनट स्वयं के लिए जरूर दें।
  • मेडीटेशन जरूर करें, करीब पांच से शुरू करें और जिसे 45 मिनट तक बढ़ा सकते हैं, सांसों पर ध्यान केंद्रित करें।
  • बंद कमरे या जहां शोर-गुल ना हो रहे हो वहां इसका अभ्यास करना चाहिए।
Share it
Top