logo
Breaking

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस 2018: पथरी हो या बवासीर, इन समस्याओं के लिए फायदेमंद है ये योगासन

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस हर साल 21 जून को मनाया जाता है। अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस की शुरूआत भारत की ही देन है। पहला अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस 21 जून, 2015 को मनाया गया था। तभी से यह हर साल इसी दिन मनाया जाता है। अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस इस साल चौथी बार मनाया जाएगा।

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस 2018: पथरी हो या बवासीर, इन समस्याओं के लिए फायदेमंद है ये योगासन

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस हर साल 21 जून को मनाया जाता है। अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस की शुरूआत भारत की ही देन है। पहला अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस 21 जून, 2015 को मनाया गया था। तभी से यह हर साल इसी दिन मनाया जाता है। अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस इस साल चौथी बार मनाया जाएगा।

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर इस साल दून की घाटियों में विशेष कार्यक्रम का आयोजन होगा। इतना ही नहीं इस साल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देहरादून में ही योग करेंगे।

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के मौके पर पूरी दुनिया में लोग एक साथ इकट्ठा होकर योग करते हैं।

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस की खास रिपोर्ट में हम आपको एक विशेष योगासन पश्चिमोत्तानासन के बारे में पूरी जानकारी देने जा रहे हैं।

जानें पश्चिमोत्तानासन क्या है, कैस करते हैं और इसे करने के क्या-क्या फायदे होते हैं।

पश्चिमोत्तानासन क्या है

पश्चिमोत्तानासन एक प्रकार का योगासन है, जिसे नियमित रूप से करने से सेहत को काफी फायदे मिलते हैं। पश्चिमोत्तानासन दो शब्दों से मिलकर बना है: 1- पश्चिम और 2- उत्तान, इसमें पश्चिम का मतलब है पीछे और उत्तान का मतलब होता है तानना। यानी अपने शरीर को पीछे की तरफ तानते हुए योगासन करना पश्चिमोत्तानासन कहलाता है।

पश्चिमोत्तानासन कैसे करें

  • इस आसन को करने के लिए सबसे पहले जमीन पर बैठ जाएं।
  • दोनों पैरों को सामने फैलाएं।
  • इस दौरान आप पीठ की मांसपेशियों को ढीला छोड़ दें।
  • सांस लेते हुए अपने हाथों को ऊपर लेकर जाएं और फिर सांस छोड़ते हुए आगे की ओर झुकें।
  • इस दौरान धीरे-धीरे सांस लें और फिर धीरे-धीरे सांस छोड़ें।
  • फिर वापस सामान्य अवस्था में लौट आएं।
  • आप इस आसन को शुरुआत में तीन से पांच बार कर सकती हैं।
  • इस आसन को करते समय कभी भी झटके से करने का प्रयास न करें और न ही जल्दबाजी करें।
  • इस आसन को हमेशा खाली पेट ही करना चाहिए।

पश्चिमोत्तानासन करने के फायदे

  • रीढ़ की हड्डी में लचीलापन
  • मोटापा कम
  • पेट की मांसपेशियों को मजबूती
  • स्किन रोग से राहत
  • तनाव कम करता है
  • पथरी के लिए फायदेमंद
  • बवासीर के लिए लाभदायक
  • अनिद्रा में राहत
  • महिलाओ के लिए फायदेमंद
Share it
Top