Web Analytics Made Easy - StatCounter
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

International Yoga Day 2018: उम्र बढ़ने के साथ ऐसे रखना चाहिए सेहत का ख्याल

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस (International Yoga Day 2018) हर साल 21 जून को मनाया जाता है। योग हमारी सेहत के लिए बहुत कारगर होता है। तीस साल की उम्र पार करते ही महिलाएं अपने स्वास्थ्य और लुक को लेकर परेशान हो जाती हैं क्योंकि उम्र तेजी से अपना असर दिखाने लगती है।

International Yoga Day 2018: उम्र बढ़ने के साथ ऐसे रखना चाहिए सेहत का ख्याल

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस (International Yoga Day 2018) हर साल 21 जून को मनाया जाता है। योग हमारी सेहत के लिए बहुत कारगर होता है। तीस साल की उम्र पार करते ही महिलाएं अपने स्वास्थ्य और लुक को लेकर परेशान हो जाती हैं क्योंकि उम्र तेजी से अपना असर दिखाने लगती है।

शरीर के तंत्रों के कमजोर होने की शुरूआत हो जाती है और उस पर चर्बी की परतें बढ़ने लगती हैं लेकिन जिम्मेदारियों का बोझ बढ़ता जाता है।

ऐसे में बहुत जरूरी है आप अपनी उम्र और स्वास्थ्य के आधार पर अपने डाइट चार्ट में लगातार बदलाव करती रहें।

नियमित रूप से एक्सरसाइज और योग करें। उम्र बढ़ने के साथ अत्यरधिक छरहरा शरीर पाने का प्रयास न करें, बल्कि स्वस्थ्य दिखने और रहने का प्रयास करें।

अपने शरीर को उचित पोषण दें

उम्र बढ़ने के साथ पाचन तंत्र और मेटाबॉलिज्म धीमा होता जाता है। तीस वर्ष की आयु के बाद महिलाओं को चाहिए कि वो कैलोरी का सेवन कम कर दें चाहे वो शारीरिक रूप से सक्रिय हों तब भी।

फलों और सब्जियों का सेवन अधिक से अधिक करें क्योंकि इनमें फाइबर भरपूर मात्रा में होते हैं, वसा और कार्बोहाइड्रेट का सेवन कम करें। जो महिलाएं गर्भ निरोधक गोलियों का सेवन करती हैं उनके शरीर को आयरन की आवश्यकता सामान्य महिलाओं से अधिक होती है, ऐसी महिलाओं को आयरनयुक्त पदार्थों का सेवन अधिक मात्रा में करना चाहिए।

शरीर के संकेतों को पहचाने

जब हमारे शरीर के साथ कोई समस्या होती है तो वह संकेत देता है लेकिन हम अक्सर उन्हें नजरअंदाज कर देते हैं। जीवन की भागदौड़ में अपने लिए समय निकालें।

कुछ देर शांत स्थान पर अकेले बैठें और खुद से बातें करें। सप्ताह में एक बार ऐसा जरूर करें। अपने शरीर और मन को समझने का इससे बेहतर कोई उपाय नहीं है। आप कितनी भी व्यस्त हों, अपने लिए समय जरूर निकालें।

शारीरिक बदलावों को नजरअंदाज न करें

बढ़ती उम्र का प्रभाव न केवल बाहरी तौर पर बल्कि आंतरिक रूप से भी दिखाई देने लगता है। उम्र बढ़ने के साथ मांसपेशियां कमजोर होने लगती हैं, जिससे उनकी कैलोरी जलाने की क्षमता प्रभावित होती है।

यह समस्या उन महिलाओं में और बढ़ जाती है जो शारीरिक रूप से सक्रिय नहीं होती हैं। अगर आप उम्र बढ़ने के साथ कैलोरी का सेवन कम नहीं करेंगी तो मोटापा बढ़ेगा, जिससे आप कईं बीमारियों की आसान शिकार हो जाएंगी। इसलिए जरूरी है कि खुद को फिट और स्वस्थ रखने के लिए अपनी शारीरिक जरूरतों को समझें।

इररेगुलर पीरियड्स को न करें नजरअंदाज

गर्भ निरोधक तरीकों का इस्तेमाल करने में सावधानी बरतें अगर कुछ आसामान्यता दिखे तो तुरंत स्त्री रोग विशेषज्ञ से मिलें।

जिम्मेदारियों के बोझ तले न दबें

महिलाओं की एक सबसे बड़ी समस्या यह होती है कि वे कभी अपनी प्राथमिकता खुद नहीं होती हैं। वे या तो परिवार और बच्चों को प्राथमिकता देती हैं या करियर को।

सबसे पहले उन्हें अपनी प्राथमिकताएं स्वयं तय करनी होंगी, जिसमें सबसे ऊपर स्वयं को रखना होगा तभी वह अपने परिवार की देखभाल भी कर पाएंगी और करियर में नई ऊंचाईयां भी छू पाएंगी।

शरीर को पूरा आराम दें

अगर शरीर को आराम नहीं मिलेगा तो रोग प्रतिरोधक तंत्र कमजोर हो जाएगा और बूढ़ा होने की प्रक्रिया भी तेज हो जाएगी। 6-8 घंटे की नींद लें। दोपहर में भी थोड़ी देर आराम करें।

कामकाजी महिलाओं को चाहिए कि वो ऑफिस में लगातार बैठी न रहें। जब भी अवसर मिले थोड़ी देर चहलकदमी कर लें। अगर ऑफिस और घर की जिम्मेदारियों के कारण आपकी नींद पूरी नहीं हो पाती तो जब भी छुट्टी मिले, अपनी नींद पूरी कर लें।

उस दिन खाना भी बाहर खा लें, इससे आपके शरीर को आराम भी मिल जाएगा और परिवार के साथ समय बिताकर आप तरोताजा अनुभव करेंगी।

वजन घटाने में जल्दबाजी न करें

उम्र बढ़ने के साथ अधिकतर महिलाएं मोटापे की शिकार हो जाती हैं, खासकर शादी और बच्चों के बाद। मोटापे के कारण वो न सिर्फ अपनी उम्र से बड़ी दिखने लगती हैं बल्कि उनका आकर्षण और आत्मविश्वास भी कम होने लगता है।

मोटापा सिर्फ सुंदरता पर ग्रहण ही नहीं लगाता यह कई बीमारियों की वजह भी बन जाता है। लेकिन बढ़ती उम्र में वजन घटाने में जल्दबाजी न करें, इससे आपका शरीर कमजोर हो सकता है।

भोजन की मात्रा कम कर दें क्योंकि इस उम्र में आपको उतनी कैलोरी की जरूरत भी नहीं होती जितनी युवावस्था में होती है। आप फल, सब्जियां, सलाद, सूप, अंकुरित अनाज, दलिया, जितनी अधिक मात्रा में खाएंगी उतनी ज्यादा तरोताजा और युवा नजर आएंगी।

यह सभी जानकारी डॉ. नुपुर गुप्ता, स्त्री रोग और प्रसूति विशेषज्ञ, वेल वुमैन क्लीनिक, गरूग्राम ने दी है।

Next Story
Share it
Top