Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

अगर न होता आलू तो सोचो क्या होता...

आज, आलू टिक्की, आलू चाट, फिंगर चिप्स, आलू पापड़, आलू के चिप्स और न जाने क्या क्या...आलू के व्यंजन बनते हैं। यूं लगता है कि हम तो आदि काल से आलू का ऐसे ही लुत्फ उठाते आए हैं। लेकिन आलू की खेती तो उन्नीसवीं सदी की शुरुआत में आरंभ हुई थी हिंदुस्तान में। उससे पहले भारत में बहुत से और व्यंजन भले बनते रहे हों, मगर आलू वाली वैराइटी न थी।
और पढ़ें
Next Story