Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

डायबिटिज का इलाज समय न होने पर आप हो सकते हैं अंधे

मौजूदा समय में डायबिटिज पूरे विश्व में एक विकराल रूप ले चुका है।

डायबिटिज का इलाज समय न होने पर आप हो सकते हैं अंधे

डायबिटिज पूरे विश्व में एक विकराल रूप ले चुका है। और सबसे ज्यादा मरीज भारत में ही हैं। डायबिटीज बॉडी के सभी अंगों को अपनी चपेट में धीरे-धीरे उन्हें नष्ट कर देती है। इसका सबसे ज्यादा असर आंखों पर होता है।

ये बात छत्तीसगढ़ में पहली बार विट्रियो रेटिना सोसायटी ऑफ इंडिया के सहयोग से एमजीएम नेत्र संस्थान में डायबिटिक रेटिनोपैथी विषय पर आयोजित कॉन्फ्रेंस में एमजीएम डायरेक्टर डॉ. दीपशिखा अग्रवाल ने कही।

आगे उन्होंने कहा कि यदि समय पर इसका ट्रीटमेंट न किया जाए तो व्यक्ति, पूरी तरह से ब्लाइंड हो सकता है। आई इंस्टिट्यूट के रेटिना विशेषज्ञ डॉ राजा नारायनन ने डायबिटिक रेटिनोपैथी की स्क्रीनिंग के महत्व और विट्रियेक्टॉमी की मॉर्डन तकनीक बताई।

दिल्ली एम्स से डॉ. शौर्यवर्धन आजाद ने डायबिटिक आई डिजिज के कई उपचार के बारे बताया। एमजीएम अाई संस्थान की डाॅ.गीतुमनी, डॉ. अनिल बबनराव गंगवे, डॉ.स्वपनिल ने डायबिटिज के कारण आंखों में आने वाली स्वेलिंग की जांच और समय पर उपचार पर चर्चा की।

छत्तीसगढ़ की वरिष्ठ एंडोकाइनोलॉजिस्ट ने शुगर कंट्रोल करने पर टिप्स दिए। मेडिकल कॉलेज के डॉ. संतोष पटेल, डॉ. बीपी शर्मा, डाॅ. कीर्ति भाटिया ने भी डायबिटीज पर अपनी बात रखी।

कार्यक्रम में आई स्पेशलिस्ट डॉ. पीके मुखर्जी, डॉ. मढ़रिया एमजीएम आई संस्थान के डाॅ. अनुपम साहू, डॉ. मिहिर मिश्रा व राज्यभर से लगभग 100 स्पेशलिस्ट शामिल हुए।

Next Story
Top