Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

योग करने से हर गंभीर बीमारी से पाया जा सकता है छुटकारा

योग से नकारात्मक सोच खत्म करने में मदद मिलती है।

योग करने से हर गंभीर बीमारी से पाया जा सकता है छुटकारा

अनुपम नगर की रंजना अग्रवाल बताती है कि थाइराइड बीमारी ने मेरा जीना ही मुश्किल कर दिया था। छह सात डॉक्टर बदल बदल कर इलाज कराई।

इसे भी पढ़ें- अगर हेल्दी रहना हैं तो रोज खाएं हल्दी

अंग्रेजी, अायुर्वेदिक दवाइयां खाई पर दर्द, सूजन से परेशान रहती। फिर कुछ लोगों ने कहा इलाज के साथ योग भी करो, तो कुछ राहत मिल सकती है।

मैंने तुरंत याेग क्लास ज्वाइन कर ली। पिछले करीब 2 साल से योग टीचर के देख रेख में याेग कर रही हूं। थाइराइड से पूरी तहर निजात मिल चूका है। बेहतर जीवन जी रही हूं।

1. सर्वाइकल स्पांडिलाइटिस से जीन हो गया था मुश्किल

अंजू शर्मा बताती है शहर से लेकर बंगलुरु तक सर्वाइकल स्पॉडिलाइटिस का इलाज विशेषज्ञ डॉक्टर्स से करा ली, पर समस्या नहीं ठीक हुई। एक पैसे की राहत नहीं मिली, तब योगासन करने की सलाह डॉक्टर्स ने ही दी।

इसके बाद शशि सक्सेना की योगक्लास ज्वाइन की। पंद्रह महीने से नियमित योगासन कर रही हूं, सर्वाइकल स्पॉडिलाइटिस बीमारी छू मंतर हो गई है। अब निरोग रहना है, इसलिए योग जीवन भर करते रहना है।

2. नकारात्मक सोच से डिप्रेशन में पहुंच गया था

सिविल लाइन में रहने वाले आसूदाराम वाधवानी का कहना है कि मन नकारात्मक विचार इस कदर भर गया कि मैं डिप्रशेन तक पहुंच गया।

इलाज करने का सोचा, पर किसी ने फिर योग करने की सलाह दी। फिर कुल चार माह हुए हैं मुझे योग करते हुए। अब मानसिक शांति के साथ शरीर में जो उर्जा की अनुभूति होने लगी है।

3. दस साल से योग कर रही अर्थराइटिस था पहले

सुनीता चौधरी बताती है कि जब से ग्यारह साल पहले मैं अर्थराइटिस के बीमारी से ग्रसित थी, डॉक्टर से इलाज कराने गई, तो खर्च बहुत होने लगा, पर राहत नहीं मिल पाई।

परेशान रहने लगी पेपर में योग के बारे में पढ़ा, तो योग क्लासेस ज्वाइन कर ली। आज न अर्थराइटिस है आैर न कोई दूसरी।

4. योग दूर हुआ स्लीप डिस्क, श्वांस व साइनस की बीमारी

रमेश कुमार बताते हैं कि को 15 साल से स्लीप डिस्क की प्रॉब्लम थी, वहीं शोभा शर्मा कहती हैं कि श्वांस की बीमारी से रातभर उठ कर बैठी रहती, अटैक भी आ गया। फिर मैंने योग टीचर शशि सक्सेना की देखरेख में योग शुरू किया।

इन सभी का कहना है कि जो बीमारी डॉक्टर व दवाइयों से दूर नहीं हो पाई, उसे योग ने चुटकी में दूर कर दिया।

इसे भी पढ़ें- क्या आप जानते हैं दही में छुपे सेहतमंद फायदों के बारे में

5. जोड़ोॆ का दर्द

कैंसर से लेकर श्वांस और जोड़ों के दर्द से जुड़ी समस्या इन सबका कारण है। अनियमित खान पान, प्रदूषित वातावरण, दिनचर्या और मानसिक अशांति इन सब से लड़ने का एक मात्र उपाय है नियमित योग।

कोई भी बीमारी हमें हो, इससे पहले योग कर अपने शरीर व मस्तिष्क को उर्जावान, रोग से लड़ने योग्य बनाएं।

Next Story
Top