Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

यही हैं वो 5 तरीके जिससे पता चलेगा कितनी परवाह करते हैं अपने बड़े-बुजुर्गों की आप

बुजुर्गों का मार्गदर्शन,अनुभव हमारे जीवन की मुश्किलों को, उलझन को सुलझाता है। वे हमेशा हमारी चिंता करते हैं। लेकिन हम उनके लिए कितना फिक्रमंद रहते हैं, यह बात भी मायने रखती है। क्या आप भी अपने घर के बड़े-बुजुर्गों के लिए फिक्रमंद रहती हैं? यह जानने के लिए नीचे दिए क्विज में हिस्सा लीजिए और खुद को परखिए।

यही हैं वो 5 तरीके जिससे पता चलेगा कितनी परवाह करते हैं अपने बड़े-बुजुर्गों की आप
X

हार्वर्ड बिजनेस स्कूल के एक सर्वे के मुताबिक उन्हीं घरों में बुजुर्गों के प्रति अच्छा व्यवहार होता है, वे खुश रहते हैं, जहां महिलाएं उनके लिए फिक्रमंद होती हैं। क्या आप भी ऐसी ही संवेदनशील महिलाओं में शामिल हैं? यह जानने के लिए आप कुछ छोटी लेकिन महत्वपूर्ण बातों के जरिए खुद को परख सकती हैं। इसके लिए नीचे दिए गए सवालों के सही-सही जवाब दीजिए और खुद का आकलन कीजिए।

1-आपके लिविंग रूम में,घर के बुजुर्गों के बैठने के लिए कोई आरामदायक जगह सुनिश्चित है-

क- हां।

ख-इसकी जरूरत ही नहीं है, वह जहां चाहें उठ-बैठ सकते हैं।

ग- इस बारे में तो कभी सोचा ही नहीं।

2-आपके बूढ़े सास-ससुर घर में कहां सोते हैं-

क बरामदे से लेकर लिविंग रूम तक जहां उनका मन हो सो जाते हैं।

ख-घर में उनके लिए अलग बेडरूम है।

ग-घर के बाहरी कमरे में सोते हैं, जिससे घर से बाहर जाने में उन्हें कोई दिक्कत न हो।

3- घर का बाथरूम बनवाते समय आपने बुजुर्गों का विशेष तौर पर ध्यान रखा है, जिससे उनको किसी किस्म की परेशानी न हो-

क-हां, यह जरूरी है।

ख- उनके लिए कोई अलग से बाथरूम नहीं है, वह कॉमन बाथरूम का ही इस्तेमाल करते हैं।

ग-बाथरूम बनवाते समय यह बात ध्यान में नहीं आई।

4- घर में रात का भोजन सबसे पहले-

क-बुजुर्गों को दिया जाता है, जिससे वह समय पर खाकर आराम कर सकें।

ख-जब सब खाते हैं, तब ही वे भी खाते हैं।

ग-बुजुर्गों की मर्जी है, वह जब खा लें, उनके लिए अलग से कोई नियम नहीं है।

5-सास और ससुर के लिए उनके कमरे में अलग टेलीविजन सेट है, जिससे वे अपनी मर्जी के प्रोग्राम देख सकें-

क-यह फिजूलखर्ची है, अगर उन्हें टीवी देखना ही होता है तो घर के टीवी में देखते हैं।

ख-बूढ़ों को टीवी देखने से ज्यादा पार्क में जाकर घूमने की जरूरत होती है। इसलिए अलग से टीवी की कोई जरूरत नहीं।

ग-हां, बिल्कुल। उनके कमरे में अलग से एक टीवी सेट है, जिससे वे अपने पसंदीदा प्रोग्राम देख सकें।

अंक तालिका

क्र.सं.

1- 5 2 0

2- 2 5 0

3- 5 2 0

4- 5 0 2

5- 0 2 5

निष्कर्ष

अगर आपने इस क्विज के सभी सवालों को ध्यान से पढ़ा है और सवालों के जो जवाब सचमुच आपके अनुकूल हैं, उन्हीं पर टिक किया है तो अपने हासिल अंकों से बुजुर्गों के प्रति आपकी फिक्र कुछ इस तरह है-

क-अगर आपके कुल हासिल अंक 20 या इससे ज्यादा हैं तो आप अपने बुजुर्गों का न सिर्फ सम्मान करती हैं बल्कि उनकी सुविधा का भी भरपूर ख्याल रखती हैं।

ख-अगर आपके हासिल अंक 20 से कम लेकिन 10 या 10 से ज्यादा हैं तो आप बुजुर्गों के प्रति संवेदनशील तो हैं लेकिन उन्हें स्पेशल ट्रीट करने के बारे में नहीं सोचती हैं।

ग-अगर आपके हासिल अंक 9 या उससे कम हैं तो संभव है आपको बुजुर्गों की सुविधाओं को ध्यान रखने की चाहत हो, लेकिन व्यावहारिक सच यही है कि आप ऐसा नहीं करतीं, वजह चाहे जो भी हो। अपने इस स्वभाव में बदलाव जरूर लाना चाहिए।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story